बाड़मेर / नंदी गोशाला बनी गायों की कब्रगाह, चारे की कमी, प्लास्टिक खाने से 45 दिनों में 100 गोवंश की मौत

Nandi Goshala becomes cemetery of cows, lack of fodder, 100 cows died in 45 days due to plastic eating
X
Nandi Goshala becomes cemetery of cows, lack of fodder, 100 cows died in 45 days due to plastic eating

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 06:13 AM IST

बाड़मेर. शहर के आवारा पशुओं को सुरक्षित रखने के लिए बनाई गई नंदी गोशाला गोवंश की कब्रगाह बनती जा रही है। चारे की कमी और प्लास्टिक खाने से यहां डेढ़ माह में 100 से ज्यादा गोवंश की मौत हो गई। मंगलवार को भी 4 गायों की मौत हुई। यहां 1200 से ज्यादा आवारा पशु शिफ्ट किए गए थे। जिम्मेदारी से बचने के लिए नगर परिषद नंदी गोशाला में शिफ्ट किए गए पशुओं के आंकड़ों को छिपाने में जुटी है।

वहीं मृत पशओं को कर्मचारी अपने स्तर पर ही जेसीबी से चोरी-चुपके दफना रहे हैं। नगर परिषद आयुक्त का कहना है कि शहर में प्लास्टिक खाने के बाद नंदी गोशाला शिफ्ट किए गए पशुओं की मौत हो रही है। इनके पेट से 20-20 किलो प्लास्टिक की थैलियां निकल रही हैं।

नगर परिषद के आयुक्त पवन मीणा ने कहा कि 1050 पशु गोशाला में शिफ्ट किए हैं। प्लास्टिक की वजह से पशुओं की मौत हो रही है। पिछले 15 दिनों में 40-50 पशुओं की मौत हुई है। चारे-पानी के व्यापक बंदोबस्त है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना