• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • France said will not give funds, then said will give next year, many water projects stuck, now the government will give 256 crores rupees

जलप्रदाय योजना / फ्रांस बोला- नहीं देंगे फंड, फिर कहा- अगले साल देंगे, अटके पानी के कई प्रोजेक्ट, अब सरकार देगी 256 करोड़ रुपए

France said - will not give funds, then said - will give next year, many water projects stuck, now the government will give 256 crores rupees
X
France said - will not give funds, then said - will give next year, many water projects stuck, now the government will give 256 crores rupees

  • पेयजल सिस्टम काे मजबूत करने काे स्वीकृत एएफडी प्रोजेक्ट की अंतिम किस्त का मामला

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 11:19 AM IST

जोधपुर. शहर के पेयजल सिस्टम को मजबूत करने के लिए एक दशक पहले स्वीकृत 740.50 करोड़ के एएफडी प्रोजेक्ट की अंतिम किस्त अब फ्रांस से नहीं मिलेगी। फ्रांस ने इस प्रोजेक्ट की अंतिम किस्त 256.52 करोड़ रुपए देने से पहले तो मना किया, बाद में 1 साल की देरी से पैसे देने का कहा। इसके चलते जोधपुर के बाहरी इलाकों में टंकियां बनाने व पाइपलाइन बिछाने के बड़े प्रोजेक्ट अटके हुए हैं। ऐसे में गत 8 नवंबर को राज्य सरकार ने 256.52 करोड़ रुपए वित्त कोष से देने को मंजूरी दे दी। इसके तहत मौजूद वित्तीय वर्ष के लिए 90 करोड़ रुपए स्वीकृत कर लिए गए हैं। पीएचईडी के एसई (प्रोजेक्ट) निर्मलसिंह कच्छवाह ने बताया कि अब फ्रांस की बजाय राज्य सरकार ये राशि जारी करेगी। इसके बाद जोधपुर शहर में ओवरहैड टैंक के तीन पैकेज व पाइपलाइन बिछाने के काम शुरू हो जाएंगे।


150 किमी लंबी पाइपलाइन बिछेगी, 15 बड़ी टंकिया बनेंगी
प्रोजेक्ट के दो फेज से तखतसागर में 90 एमएलडी क्षमता का फिल्टर प्लांट का काम पूरा हो गया है। वहां से झालामंड तक बड़ी राइजिंग लाइन भी बिछा दी गई है। अब 150 किमी लंबी बड़ी पाइपलाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए शहर में तीन पैकेज में 15 बड़ी टंकियों का निर्माण किया जाएगा। इनमें वैष्णव नगर, सोढ़ों की ढाणी, पहाड़गंज, लालसागर व खोखरिया शामिल हैं। इन उच्च जलाशयों से 80 हजार की आबादी लाभांवित होगी। वहीं शिल्पग्राम, अमर नगर, गुलाब नगर, मीरा कॉलोनी, बीजेएस गांधीपुरा, बासनी, पीएस 4, उम्मेद सागर, सुरपुरा, शिल्पग्राम 2, गुलिश्ता कॉलोनी शामिल हैं। यहां बसने वाली करीब 2 लाख से ज्यादा की आबादी को पानी मिलेगा।
इसी प्राेजेक्ट से शहर की 80 फीसदी पुरानी लाइनें बदलीं
करीब 10 साल पहले से ये प्रोजक्ट शहर में चल रहा है। फ्रांस ने 0.25 प्रतिशत की वार्षिक ब्याज दर पर 740 करोड़ का प्रोजेक्ट स्वीकृत किया था। इसमें से अब तक 510 करोड़ व्यय हो चुके हैं। सुरपुरा पर 90 एमएलडी का फिल्टर प्लांट और 210 एमसीएफटी के जलाशय का मंडोर से लेकर नांदडी और शिकारगढ़ तक निर्माण हो चुका है। साथ ही पावटा व बीजेएस से भूजल ले जाने के लिए कुड़ी हौद तक पाइपलाइन बिछाई जा चुकी हैं। अब इस प्रोजेक्ट से नगर में 8 जोन चयनित किए गए हैं। इस प्रोजेक्ट के तहत भीतरी शहर की पुरानी लाइनें 80 फीसदी बदली जा चुकी हैं।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना