Hindi News »Rajasthan »Niwai» सबसे बड़ा रोग िक क्या कहेंगे लोग : आचार्य सुकुमालनंदी

सबसे बड़ा रोग िक क्या कहेंगे लोग : आचार्य सुकुमालनंदी

देवली. नौ दिवसीय श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान का शुक्रवार को दोपहर को विश्वशांति महायज्ञ। भास्कर न्यूज़ | देवली...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 03:55 AM IST

सबसे बड़ा रोग िक क्या कहेंगे लोग : आचार्य सुकुमालनंदी
देवली. नौ दिवसीय श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान का शुक्रवार को दोपहर को विश्वशांति महायज्ञ।

भास्कर न्यूज़ | देवली

यहां महावीर दिगंबर जैन मंदिर देवली में अष्टाह्निका पर्व में आयोजित नो दिवसीय श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान का शुक्रवार को अर्घ समर्पित के बाद विश्वशांति महायज्ञ, हवन एवं घोडाबग्गी एवं महिला जयघोष के साथ निकली विशाल शोभायात्रा धर्ममय गूंज के साथ संपन्न हो गया। जन सैलाब को संबोधित करते हुए आचार्य सुकुमाल नंदी जी गुरुदेव ने कहा “आजकल गुरुओं के बिना ही ज्ञान हो रहा है, अस्तित्व के बिना ही अभियान हो रहा है । संत तो रहते अपनी साधना में ,कुछ लोगों का तो एयरकंडीशन में आत्मा का ध्यान हो रहा है ।”

आचार्य श्री ने कहा कि आजकल व्यक्ति पानी की झील की तरह एक जगह ठहर गया है ।वह अगर दरिया की तरह बन जाए ,तो हर मुश्किलों का सामना करता हुआ संसार रूपी सागर से पार हो जाता है।उन्होंने बताया कि आजकल इस दुनिया का सबसे बड़ा रोग यही है कि दुनिया के लोग क्या कहेंगे। जो ऐसा सोचते हैं वह कभी जिंदगी में आगे बढ़ नहीं पाते हैं। आंखों से देखा जाए वो सत्य हैं ,जो कानों से सुना जाए वो असत्य हैं। हमें सत्य व धर्म पर ही श्रद्धान रखना चाहिए। ट्रस्ट के अध्यक्ष पदम अजमेरा ने बताया कि 3 मार्च को श्री जी व आचार्य श्री के सानिध्य में निकली वृहद शोभायात्रा शहर के विभिन्न मार्गो से होती हुई विभिन्न मंदिरों के दर्शन करते हुए पुनः महावीर मंदिर पहुंची। जहां आचार्य श्री का प्रवचन, अभिषेक, शांतिधारा आदि कार्यक्रम के माध्यम से चल रहे संगीतमय नव दिवसीय विधान का समापन हुआ ।

टोडारायसिंह. कस्बे में गणाचार्य विरागसागर जी ससंघ के मंगल प्रवेश पर उमड़ा जन सैलाब।

राधागोपीनाथ मंदिर में हर्षोल्लास से मनाया फूलडोल महोत्सव

निवाई| प्राचीन भगवान राधागोपीनाथ मंदिर में शुक्रवार की शाम को फूलडोल महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। फूलडोल महोत्सव के दौरान भगवान राधागोपीनाथ के दर्शनों के लिए शहरवासी उमड़ पड़े।

महाआरती में दर्शक ढोल मंजीरों की थाप पर भाव-विभोर होकर भगवान के समक्ष झूम उठे। इस दौरान गुलाब के फूल,जरी व ईत्र के साथ सभी ने फूलों की होली का जमकर लुत्फ उठाया। महाआरती के बाद दर्शकों को मंदिर के पुजारियों ने मावे के पेड़ों का प्रसाद बंाटा तत्पश्चात भजनामृत कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इसके बाद खीर-मालपुवे पूडी का भगवान के भोग लगाकर श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया। रात 9 बजे शयन आरती कर भगवान के सिंहासन की मंदिर पुजारियों द्वारा वार्षिक परिक्रमा लगाई गई। इससे पूर्व मंदिर पुजारी अनिल पारीक ने भगवान राधागोपीनाथ व राधाजी रूकमणी जी का मंत्रोच्चार के साथ पंचगव्य व पंचामृत से अभिषेक कर विशेष पोशाक से श्रृंगारित कर सभी विग्रह को मंदिर के गर्भ गृह से बाहर निकालकर लकड़ी के सिंहासन पर विराजित किया और भगवान का विशेष श्रृंगार कर फूल बंगले की झांकी सजाई।

टोडारायसिंह|शाश्वत तीर्थ क्षेत्र सम्मेद शीखर की ओर मंगल पद यात्रा के दौरान महान संत, युग प्रमुख, राष्ट्र संत व शाकाहार अभियान के माध्यम से 25 लाख से अधिक जनसमूहों को साकाहारी व अहिंसक बनाने वाले परम पूज्य गणाचार्य श्री 108 विरागसागर जी महाराज का ससंघ धर्मनगरी टोडारायसिंह में धूमधाम से मंगल प्रवेश हुआ।

जिनका स्थानीय जैन समाज अध्यक्ष संतकुमार जैन की अगुआई में हजारों जैन समाज बंधुओं ने श्रद्धापूर्वक भव्य स्वागत किया। महाराज श्री को टोडा के पलसे से बैण्डबाजे के साथ पुष्प वर्षा करते हुए धर्म नगरी टोडारायसिंह भव्य मंगल प्रवेश कराया। जगह जगह तोरण द्वार लगाए गए। महाराज को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए उनके मार्ग पर जैन भवन तक ड्रोन से गुलाब की पंखुडिया बिछाई गई।

रास्ते में जगह जगह जैन धर्मावलंबियों ने महाराज श्री का पद पक्षालन किया तथा आरती कर अर्ध्य चढ़ाए। महाराज श्री के आगमन से पूरी टोडा नगरी फूलों की सुगंद से महक उठी। वहीं महाराज श्री विरागसागर जी ने जैन भवन में धर्मसभा आयोजित की। जिसमें उन्होंने अहिंसा परमोधर्म: पर विशेष प्रवन देकर अहिंसा का संदेश दिया।

बंथली. कलश यात्रा में धार्मिक गीतों की धुनों पर नाचते श्रद्धालु।

भरनी में निकाली कलश यात्रा, आज होगी शिव प्राण प्रतिष्ठा

बंथली|क्षेत्र के भरनी गांव में शनिवार से दो दिवसीय शिव प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम शुरू हुआ। सुबह लक्ष्मीनाथ मंदिर से कलश यात्रा निकली। इस मौके पर मौनी बाबा, विष्णु शास्त्री, धर्मचंद जैन, कैलाश टेलर, लादूलाल शर्मा, बनवारी, मिश्री लाल, गिर्राज माहेश्वरी, श्योजी लाल, हरीराम, मनीष जैन, बाबू लाल, रामनारायण चौधरी, बदरी, गिरधर, देवकीनंदन सहित कई श्रद्धालु मौजूद थे। प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के तहत रात को भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा। रविवार सुबह शंकर भगवान की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्टा हाेगी तथा हवन में आहुतियां दी जाएगी।

शाहपुरा बालाजी की विशाल भजन संध्या, झांकी सजाई

टोडारायसिंह|होली त्योहार के उपलक्ष्य में कस्बे के शाहपुरा बालाजी नवयुवक मण्डल के तत्वाधान में गुरूवार रात 11वीं होली फागोत्सव व विशाल भजन संध्या का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक रहे। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि पालिका उपाध्यक्ष रामनिवास सैनी, पार्षद सत्यनारायण दग्धी, समाजसेवी अशोक आरेडिया, भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष सुनिल भारत, आईटीसेट अध्यक्ष आशीष विजयवर्गीय थे। इस अवसर पर नवयुवक मण्डल के कार्यकर्ता सहित कई सैकडों की संख्या में महिला व पुरूष उपस्थित रहे।

पलाई में राउमावि में विदाई समारोह व पुरस्कार वितरण समारोह

उनियारा|पलाई गांव राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में विदाई समारोह व पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि बीओबी बैंक के शाखा प्रबंधक दीपक अश्वनी कहा कि जीवन में आगे चलकर मंजिल को प्राप्त करना ही जीवन का उदेश्य होना चाहिए। प्रधानाचार्य सतेन्द्रपाल सिंह ने कहा कि हर गलतियों से सीख लेते हुए मंजिल की ओर बढ़ना एवं बड़ों के सामने झुकना मंजिल प्राप्त करने का साधन है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Newai News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सबसे बड़ा रोग िक क्या कहेंगे लोग : आचार्य सुकुमालनंदी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Niwai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×