• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nohar
  • गांव बंद आंदोलन:बेवजह चालान काटने का आरोप, किसानों ने पुलिस थाने पर प्रदर्शन कर सभा की, आश्वासन पर माने
--Advertisement--

गांव बंद आंदोलन:बेवजह चालान काटने का आरोप, किसानों ने पुलिस थाने पर प्रदर्शन कर सभा की, आश्वासन पर माने

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 05:40 AM IST

Nohar News - जैतसर| गांव बंद आंदोलन के चलते विभिन्न किसान संगठनों ने पुलिस पर किसानों को परेशान करने के आरोप लगाते हुए शुक्रवार...

गांव बंद आंदोलन:बेवजह चालान काटने का आरोप, किसानों ने पुलिस थाने पर प्रदर्शन कर सभा की, आश्वासन पर माने
जैतसर| गांव बंद आंदोलन के चलते विभिन्न किसान संगठनों ने पुलिस पर किसानों को परेशान करने के आरोप लगाते हुए शुक्रवार को पुलिस थाना पर प्रदर्शन किया। इससे पूर्व किसान संगठनों की किसान नेता श्योपत मेघवाल की अध्यक्षता में गुरुद्वारा सिंहसभा में बैठक हुई। रायसिंहनगर भूमि विकास बैंक के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह रंधावा ने कहा गांव बंद आंदोलन से पुलिस व प्रशासन बौखला गया। आंदोलन से जुड़े किसान नेताओं के वाहनों के चालान काटे जा रहे हैं। किसान रोजमर्रा के हिसाब से वाहन लेकर खेत जाते हैं तो पुलिस जबरन चालान काट देती है। किसान अमनवीर, अजय सहारण, गुरमीत सिंह, गुरमेल सिंह, कुलदीप सिंह व धर्म सिंह सहित अन्य किसानों ने यहां सभा को संबोधित किया। प्रदर्शन के बाद सीआई विजय सिंह ने 5 सदस्यीय शिष्ट मंडल को वार्ता के लिए बुलाया। सीआई ने कहा कि 5 जीबी सड़क मार्ग पर पुलिस के सघन जांच अभियान में बाइक पर नंबर व प्लेट नहीं होने पर चालान करना पुलिस की प्राथमिकता है। सीआई ने आश्वासन दिया कि बेवजह किसी के चालान नहीं काटे जाएंगे।

अनूपगढ़: किसान आंदोलन के समर्थन में सब्जी मंडी में 3 दिन कारोबार बंद रहेगा

अनूपगढ़. किसान संगठनों के आह्वान पर 10 जून तक चलाए जा रहे गांव बंद आंदोलन के समर्थन में शुक्रवार को सब्जी मंडी बंद रही। सब्जी मंडी व्यापारियों ने किसानों सहयोग देने का आश्वासन दिया है। सब्जी व्यापारियों ने स्वेच्छा से ही किसानों के बंद का समर्थन करते हुए शुक्रवार से तीन दिन के लिए सब्जी की समस्त दुकानें बंद रखने का निर्णय लिया है। किसानों के समर्थन में थड़ी पर चाय बेचने वालों ने भी काम बंद रख आंदोलन का समर्थन किया। इस बंद के दौरान आज पहली बार बंद का पूर्ण असर देखने को मिला।

सिंचाई पानी की मांग को लेकर सर्वदलीय संघर्ष समिति, 18 को महापड़ाव की चेतावनी

घड़साना| आईजीएनपी में सिंचाई पानी व किसानों कि विभिन्न समस्याओं को लेकर शुक्रवार को धानमंडी में सर्वदलीय संघर्ष समिति का गठन किया गया। जिसमें सभी राजनीतिक पार्टियों, सामाजिक कार्यकर्ता, व्यापारी व किसान नेताओं को शामिल किया गया। बाद में एसडीएम को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर आईजीएनपी में चार में से दो ग्रुप की नहरों के लिए पानी की मांग की। इससे पहले धानमंडी में बैठक हुई। जिसमें संघर्ष समिति का गठन किया गया। बाद में समिति के सदस्य जुलूस के रूप में एसडीएम कार्यालय पहुंचे। ज्ञापन में चेताया कि बीबीएमबी कि बैठक में अगर क्षेत्र के लिए अपेक्षित सिंचाई पानी नहीं मिला तो 18 जून से घड़साना एसडीएम कार्यालय के सामने अनिश्चितकालीन महापड़ाव शुरू करेंगे। प्रतिनिधिमंडल में जिला व्यापारसंघ के अध्यक्ष किशन दुग्गल, पूर्व विधायक पवन दुग्गल, पूर्व सरपंच मनीराम सहारण, शिमला नायक, विष्णु भांभू, पूर्व प्रधान हरीराम मेघवाल, मोटनदास नायक, मनोहरलाल नायक, ओम यादव, रामसिंह, हरनेक कलेर, राकेश चांवरिया, प्रदीप बिश्नोई, हीरालाल आदि शामिल थे।

X
गांव बंद आंदोलन:बेवजह चालान काटने का आरोप, किसानों ने पुलिस थाने पर प्रदर्शन कर सभा की, आश्वासन पर माने
Astrology

Recommended

Click to listen..