नोहर

--Advertisement--

कोर्ट ने चार दोषियों को सुनाया आजीवन कारावास

नोहर क्षेत्र के लाखासर में 2015 का है मामला भास्कर संवाददाता| नोहर क्षेत्र के गांव लाखासर के बहुचर्चित रोशनी...

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 05:40 AM IST
नोहर क्षेत्र के लाखासर में 2015 का है मामला

भास्कर संवाददाता| नोहर

क्षेत्र के गांव लाखासर के बहुचर्चित रोशनी देवी हत्याकांड में न्यायालय ने चार जनों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश संख्या एक पवन कुमार वर्मा ने चार जनों को आजीवन कारावास व दस-दस हजार रुपए के जुर्माने से दंडित किया है। मामला नोहर क्षेत्र के गांव लाखासर का वर्ष 2015 का है। अभियोजन के अनुसार लाखासर निवासी संतलाल नायक ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि रात्रि के समय उसके पुत्र को मारने-पीटने का शोर सुनाई दिया, जिसके बाद वह मौके पर गया तो प्रेम पुत्र सोहनलाल, सुनील पुत्र बनवारीलाल, जगदीश पुत्र देवीलाल, महेन्द्र पुत्र देवीलाल, सुभाष पुत्र जयकरण नायक निवासी लाखासर उसके पुत्र बबलू व पुत्रवधू रोशनी के साथ कुल्हाड़ी व लाठियों से मारपीट कर रहे थे। मारपीट के दौरान पुत्रवधू रोशनी की मौके पर ही मौत हो गई व पुत्र बबलू को गंभीर चोट आने के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में आरोप पत्र पेश किया। मुल्जिम सुभाष पुत्र जयकरण के नाबालिग होने के कारण ज्यूनाइल कोर्ट में भेज दिया गया। इसके अलावा न्यायालय ने प्रेम, सुनील, जगदीश, महेन्द्र को हत्या का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए दस-दस हजार रुपए के जुर्माने से दंडित किया। सभी मुल्जिम गिरफ्तारी के बाद से न्यायिक अभिरक्षा में है। अभियोजन ने चश्मदीद संतलाल के अलावा कुल 14 गवाह व 44 दस्तावेज पेश किए। मामले की पैरवी अपर लोक अभियोजक दिलावर सहु ने की।

X
Click to listen..