• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nohar News
  • लॉरेंस बिश्नोई की बुआ के बेटे व दो युवकों को पंजाब पुलिस ने हथियारों सहित पकड़ा
--Advertisement--

लॉरेंस बिश्नोई की बुआ के बेटे व दो युवकों को पंजाब पुलिस ने हथियारों सहित पकड़ा

भास्कर संवाददाता| अबोहर/श्रीगंगानगर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के 3 युवकों को अबोहर पुलिस ने शुक्रवार रात को हथियारों...

Dainik Bhaskar

May 27, 2018, 05:55 AM IST
लॉरेंस बिश्नोई की बुआ के बेटे व दो युवकों को पंजाब पुलिस ने हथियारों सहित पकड़ा
भास्कर संवाददाता| अबोहर/श्रीगंगानगर

लॉरेंस बिश्नोई गैंग के 3 युवकों को अबोहर पुलिस ने शुक्रवार रात को हथियारों सहित गिरफ्तार किया है। गुमजाल गांव के पास राष्ट्रीय राजमार्ग पर की गई नाकाबंदी के दौरान यह युवक हाथ आए। पकड़े गए सभी आरोपी 25 साल से कम उम्र के हैं और अलग-अलग कॉलेजों में पढ़ाई कर रहे हैं। आरोपी शुक्रवार रात भी गुमजाल के पास किसी अज्ञात स्थान पर गुप्त साजिश रच रहे थे। हालांकि इनकी गिरफ्तारी के बाद इसकी पुष्टि तो नहीं हुई कि वो किस वारदात को अंजाम देने वाले थे। सूचना मिलते ही श्रीगंगानगर एसपी हरेंद्र महावर टीम सहित पूछताछ के लिए अबोहर पहुंच गए। अबोहर डीएसपी जीएस संघा ने शनिवार को अपने कार्यालय में प्रेस कांफ्रैंस के दौरान बताया कि पकड़े गए युवकों ने देसी पिस्तौलों को ऐसे रखा हुआ था, जैसे कि कोई खिलौने रखे जाते हैं। खुईयांसरवर पुलिस ने पंजाब-राजस्थान बॉर्डर पर गुमजाल के पास लगाए नाके के दौरान हनुमानगढ़ जिले के संगरिया तहसील के गांव किशनपुरा निवासी अभिषेक गोदारा पुत्र रणजीत को एक देसी पिस्तौल 315 बोर व 3 जिंदा कारतूस सहित, नोहर तहसील के गांव उजलवास निवासी विकास पुत्र निहाल सिंह को देसी पिस्तौल 32 बोर व इसके दो जिंदा कारतूसों एवं बल्लुआना तहसील के गांव राजांवाली निवासी नरेंद्र सिंह उर्फ नंदू पुत्र महावीर को भी देसी पिस्तौल तथा इसके एक जिंदा व एक खाली कारतूस सहित गिरफ्तार किया है। इनमें से अभिषेक गैंगस्टर लॉरेंस की बुआ का बेटा है। आरोपियों के साथ दो अन्य युवक भी थे, जो मौका पाकर फरार हो गए।

संदेह; श्रीगंगानगर में रहकर करता था जॉर्डन की रैकी, यहां की पुलिस को पता तक नहीं चला

दावा ये- झाड़ियों में साजिश रचते पकड़ा, आशंका- राजस्थान पुलिस आरोपियों तक पहुंची, इससे पहले खुद ही किया सरेंडर

पंजाब पुलिस ने इन गिरफ्तारियों में दावा किया है कि आरोपी गुमजाल के पास हाईवे पर झाड़ियों में बैठे कोई वारदात के लिए गुप्त प्लानिंग कर रहे थे। पुलिस को सूचना मिली और छापेमारी कर गिरफ्तार कर लिया गया। पंजाब पुलिस का यह दावा इसलिए गले नहीं उतर रहा, क्योंकि आरोपियों के पास से कोई वाहन बरामद नहीं किया। राजांवाली निवासी नरेंद्रसिंह को तो घर से उठाकर लाया गया। उसके गांव के लोगों ने ही इसकी पुष्टि की। पंजाब पुलिस सूत्रों के अनुसार लॉरेंस की बुआ के बेटे अभिषेक और विकास ने खुद ही पुलिस के सामने सरेंडर कर हथियार सौंप दिए थे। असल में संदेह है कि ये जॉर्डन की हत्या के मामले में जुड़े हुए हैं। राजस्थान पुलिस इन आरोपियों तक पहुंचती, इससे पहले ही आरोपियों ने पंजाब पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। पंजाब पुलिस की बनाई गई कहानी में सच्चाई कम नजर आ रही है।

भास्कर पड़ताल

खुलासा ये भी

संगरिया के किशनपुरा का अभिषेक श्रीगंगानगर में किराए पर रहता था, संदेह- लॉरेंस ने रैकी को भेजा होगा

संगरिया तहसील के किशनपुरा उतरादा का निवासी अभिषेक गोदारा जोधपुर में एमएससी का छात्र है, लेकिन वह कुछ समय से श्रीगंगानगर में किराए के कमरे रह रहा था। पंजाब पुलिस के अनुसार वह लॉरेंस से प्रभावित होकर ही उसकी गैंग में शामिल हुआ है। राजस्थान पुलिस को संदेह है कि लॉरेंस ने जॉर्डन को मारने की प्लानिंग में इसकी मदद ली है। उसे जॉर्डन की रैकी के लिए श्रीगंगानगर भेजा गया और किराए के मकान में रखा गया। अन्य आरोपी उसके पास आते-जाते रहते थे। हालांकि पंजाब पुलिस यह नहीं बता पाई कि वह श्रीगंगानगर में कहां रह रहा था।

श्रीगंगानगर एसपी टीम सहित पहुंचे अबोहर, पूछताछ जारी, प्रोडक्शन वारंट पर करेंगे गिरफ्तार

पंजाब पुलिस की ओर से लॉरेंस की बुआ के बेटे सहित दो अन्य की गिरफ्तारी दिखाए जाने की सूचना मिलते ही श्रीगंगानगर एसपी हरेंद्र महावर टीम सहित अबोहर पहुंच गए हैं। जिला पुलिस की टीम आरोपियों से पूछताछ कर रही है ताकि जॉर्डन की हत्या के मुख्य आरोपी अंकित भादू, संपत नेहरा और अन्य का ठिकाना पता लगाकर उनको पकड़ा जा सके। आरोपी अभिषेक श्रीगंगानगर में किराए के मकान में रहकर रैकी करता रहा और अन्य आरोपी उसके पास आते जाते रहे। इस बात का जिला पुलिस, खुफिया तंत्र में से किसी को भनक तक नहीं लगी।

X
लॉरेंस बिश्नोई की बुआ के बेटे व दो युवकों को पंजाब पुलिस ने हथियारों सहित पकड़ा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..