• Home
  • Rajasthan News
  • Padampur News
  • 15 लाख रुपए का चेक बाउंस, अब पूरे भुगतान के साथ भुगतना होगा कारावास
--Advertisement--

15 लाख रुपए का चेक बाउंस, अब पूरे भुगतान के साथ भुगतना होगा कारावास

पदमपुर| चेक अनादरण के मामले में अदालत ने एक व्यक्ति को एक वर्ष कारावास की सजा काटने और 15 लाख रुपए का भुगतान करने के...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:45 AM IST
पदमपुर| चेक अनादरण के मामले में अदालत ने एक व्यक्ति को एक वर्ष कारावास की सजा काटने और 15 लाख रुपए का भुगतान करने के आदेश दिए हैं। पदमपुर की एसीजेएम सुषमा पारीक ने इस मामले में 13 एमएल के कुलवंत सिंह पुत्र बाबा सिंह को बैंक से चेक पर राशि का भुगतान नहीं होने के मामले में दोषी मानते हुए सजा सुनाई। मामले में एडवोकेट मदनलाल बंसल ने अदालत में दिए परिवाद में कहा था कि कुलवंत सिंह ने पदमपुर के तिलक कालड़ा पुत्र हुकम चंद से 16 दिसंबर 2006 को 13 लाख 60 हजार का कर्ज व ब्याज पेटे 15 लाख का चेक दिया था। तय तिथि पर जब परिवादी ने चेक बैंक में जमा किया तो खाते में पर्याप्त राशि नहीं होने के कारण 15 लाख रुपए का भुगतान नहीं हुआ। अदालत ने कुलवंत सिंह को दोषी मानकर उसे एक साल के साधारण कारावास व 15 लाख रुपए अदा करने के आदेश दिए हैं।

उधर, श्रीविजयनगर में मुंसिफ एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट ने चेक अनादरण के एक मामले में आरोपी को एक साल के साधारण कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ ही आरोपी को आदेश दिए हैं कि वह परिवादी को तीन लाख रुपए का भुगतान करे। परिवाद के अनुसार दल्लूराम सारस्वत निवासी वार्ड 8 से आरोपी रामचंद्र परिहार पुत्र भीखाराम निवासी 32जीबी ने 2.50 लाख रुपए उधार लिए थे। भुगतान के लिए 21 मार्च 2016 को एक चेक परिवादी दल्लूराम को दिया। दल्लूराम ने चेक बैंक में जमा करवाया तो खाते में राशि नहीं होने के कारण भुगतान नहीं हुआ।