--Advertisement--

कांग्रेस

राज्य में अजमेर व अलवर लोकसभा व मांडलगढ़ विधानसभा सीट के उपचुनाव कांग्रेस ने जीत लिए हैं। ये तीनों सीटें पहले...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 05:30 AM IST
राज्य में अजमेर व अलवर लोकसभा व मांडलगढ़ विधानसभा सीट के उपचुनाव कांग्रेस ने जीत लिए हैं। ये तीनों सीटें पहले भाजपा के पास थीं जो कांग्रेस ने छीन लीं। कांग्रेस के लिए ये परिणाम संजीवनी की तरह हैं। इस जीत से कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट का कद और बढ़ गया, उनके नेतृत्व को भी ताकत मिली। जबकि मुख्यमंत्री वसुंधरा के िलए ये हार खतरे की चेतावनी है। इस सरकार में ये आठवां उपचुनाव है, जिनमें छह में कांग्रेस ही जीती है।

जनता का फैसला िसर आंखों पर

कांग्रेस को संजीवनी, भाजपा को चेतावनी

रघु शर्मा, कांग्रेस

जीत का अंतर : 84414

कुल मतदाता : 1840657

मतदान हुआ : 1207255

कांग्रेस

611514

50.98% वोट (+10.17%)

िपछली बार भाजपा के सांवरलाल जाट 171983 वोट से जीते थे


एक की जमानत बची, 35 की जब्त हो गई

उपचुनाव में दो लोकसभा व एक िवधानसभा में भाजपा-कांग्रेस को छोड़कर िनर्दलीय और अन्य 36 प्रत्याशी मैदान में थे। िजनमें से िसर्फ एक मांडलगढ़ के िनर्दलीय उम्मीदवार गोपाल मालवीय की जमानत बची।

38 साल में केकड़ी कस्बे में पहली बार कांग्रेस जीती

1980 के बाद पहली बार केकड़ी कस्बे से कांग्रेस जीती है। शहर से कांग्रेस को 11616 वोट मिले। जबकि भाजपा को 3761 वोट िमले।

अजमेर-अलवर, मांडलगढ़ सीटें कांग्रेस ने भाजपा से छीनीं

जनता की सेवा का जो प्रण हमने 4 साल पहले िलया था, उसे पूरा करने में हमने कोई कसर नहीं छोड़ी। आज तीनों िनर्वाचन क्षेत्रों में जो फैसला जनता ने िदया है वह िसर आंखों पर। #जय जय राजस्थान - वसुंधरा राजे, सीएम

अजमेर (लोस)

राम स्वरूप, भाजपा

भाजपा

527100

43.94% वोट (-11.08%)

3

नोटा

8160

21 की जमानत जब्त

अलवर : कैबिनेट मंत्री जसवंत यादव अपनी सीट भी नहीं बचा पाए

अलवर लोकसभा उपचुनाव में डॉ. जसवंत यादव की हार की जितनी वजहें हैं उतने ही उनकी हार के राजनैतिक मायने भी हैं। डॉ. जसवंत सरकार के कैबिनेट मंत्री अलवर की बहरोड़ विधानसभा के विधायक भी। उपचुनाव में जसवंत बहरोड़ समेत अलवर लोकसभा की सभी विधानसभा सीटों से हारे हैं। ऐसे में जब जनता उन्हें पूरी तरह से नकार चुकी है तो उनके कैबिनेट मंत्री बने रहने पर भी सवाल खड़े होंगे। अलवर उपचुनाव में डॉ. जसवंत का टिकट ही पार्टी की हार की वजह बन गया। उन्हें टिकट देने से यह संदेश गया कि सरकार के पास कोई चुनाव लड़ने के लिए कोई योग्य प्रत्याशी नहीं बचा तो जाति कार्ड खेलने के लिए जसवंत को मैदान में उतार दिया।

क्या वो मंत्री बने रहेंगे?

उपचुनाव परिणाम: जनता का मिजाज

v

डाॅ. कर्ण सिंह, कांग्रेस

जीत का अंतर : 196496

कुल मतदाता : 1818713

मतदान हुआ : 1126286

कांग्रेस

642416

57.73% वोट (+23.94%)

िपछली बार भाजपा के चांदनाथ 283895 वोट से जीते थे

/

0

s

40.07% वोट (-20.49%)

मुख्यमंत्री इस्तीफा दें

अलवर (लोस)

जसवंत यादव भाजपा

भाजपा

445920

उपचुनाव में हार के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। अजमेर सीट पर सीएम का पूरा परिवार लगा था। भाजपा को वोट की मशीन समझा जाता था पर जनता ने नकार दिया। - सचिन पायलट

नोटा

15093

9 की जमानत जब्त

भाजपा

विवेक धाकड़ कांग्रेस

जीत का अंतर : 12976

कुल मतदाता : 240682

मतदान हुआ : 181928

कांग्रेस

70146

39.50% वोट (-0.56%)

िपछली बार भाजपा की कीर्ति कुमारी 18540 वोट से जीतीं थीं

शक्ति हाड़ा

भाजपा


3 साल 9 माह बाद राजस्थान से संसद में कांग्रेस का खाता खुला

इस लोकसभा में 3 साल 9 माह बाद राजस्थान से कांग्रेस के 2 सांसद अब पहुंचेंगे। मई, 2014 के चुनाव में कांग्रेस सभी 25 सीटें हार गई थी। अजमेर एवं अलवर की सीट जीतने से लोकसभा में कांग्रेस का खाता खुला।


अब होगा राज्यसभा में राज्य से कांग्रेस का खाता बंद

मार्च में होने वाले राज्यसभा के चुनावों में राजस्थान से कांग्रेस का प्रतिनिधित्व खत्म हो जाएगा।

मांडलगढ़ (विस)

भाजपा

57170

32.19%वोट (-19.38%)

गोपाल मालवीय

निर्दलीय

नोटा 4350

निर्दलीय

40470

22.79%वोट

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..