• Home
  • Rajasthan News
  • Pali News
  • बैठक में रेल लाइन के लिए कम दर में भूमि अधिग्रहण करने पर किसानों ने किया विरोध
--Advertisement--

बैठक में रेल लाइन के लिए कम दर में भूमि अधिग्रहण करने पर किसानों ने किया विरोध

शिवगंज| भारतीय किसान संघ तहसील शाखा की बैठक जागनाथ महादेव मंदिर परिसर में तहसील उपाध्यक्ष गोविंद सुआरा की...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:10 AM IST
शिवगंज| भारतीय किसान संघ तहसील शाखा की बैठक जागनाथ महादेव मंदिर परिसर में तहसील उपाध्यक्ष गोविंद सुआरा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में भारत सरकार की ओर से दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रीयल कॉरिडोर (डीएमआईसी) परियोजना के तहत सिरोही जिले के आबूरोड से अलवर तक प्रस्तावित रेल लाइन के दोनों ओर 150 किमी परिक्षेत्र में औद्योगिक विकास के नाम पर किसानों की भूमि का अधिग्रहण किया जाना प्रस्तावित है। जिसकी दर कम होने पर किसानों ने विरोध जताया। बैठक में किसान लक्ष्मणसिंह ने बताया कि रेल लाइन के दोनों तरफ 150 किमी विभिन्न औद्योगिक इकाइयां लगाने और खनिजों का दोहन किया जाएगा। इसके लिए किसानों की कृषि भूमि को न्यूनतम दर से अधिग्रहण किया जाएगा। विकास के नाम मेहनतकशों के शोषण पर मुनाफा कमाने वाली यह व्यवस्था समाज में विषमता बढ़ाने वाली है। विकास की गलत अवधारणा प्रकृति का दोहन इस हद तक किया जा रहा है, जिसका किसान संघ कड़ा विरोध करता है। बैठक में किसानों ने राज्य सरकार की ओर से बजट में कर्ज माफी की घोषणा में भेदभाव अपनाने का आरोप लगाते हुए आक्रोश जताया।

साथ ही प्रस्ताव पारित कर सभी किसानों के 50 हजार तक ऋण माफ कराने की मांग की है। किसानों ने बताया कि सहकारी बैंकों से प्राप्त ऋण ही माफ किए जाने प्रस्तावित है, जबकि राष्ट्रीय बैंकों से लिए किसानों के ऋण माफ नहीं होंगे।

सरकार की इन नीति को भेदभाव वाली बताते हुए किसानों ने रोष जताया एवं इसके लिए आंदोलन करने का निर्णय लिया। बैठक में लक्ष्मणसिंह, भैरूसिंह, बस्तीमल माली, शैतानसिंह, बाबूसिंह राव, गणपतसिंह, भैराराम माली, दुर्जनसिंह, भैरूसिंह देवड़ा, महेंद्रसिंह, श्रवणसिंह, परबतमल सुआरा व जयसिंह राठौड़ मौजूद थे।