• Home
  • Rajasthan News
  • Pali News
  • अवकाश पर गए चिकित्सा विभाग के सैकड़ों कर्मचारी
--Advertisement--

अवकाश पर गए चिकित्सा विभाग के सैकड़ों कर्मचारी

जयपुर | पिछले 10 सालों से लंबित मांगों को पूरा नहीं करने से नाराज राजस्थान एनआरएचएम कार्मिक समस्या समाधान समिति की...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:10 AM IST
जयपुर | पिछले 10 सालों से लंबित मांगों को पूरा नहीं करने से नाराज राजस्थान एनआरएचएम कार्मिक समस्या समाधान समिति की ओर से अनिश्चितकालीन अवकाश पर चले गए हैं। नतीजतन सीएचसी, पीएचसी और सामुदायिक केंद्रों पर होने वाले काम पूरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं। विभिन्न मांगों को लेकर आशा सुपरवाइजर, लेखाकार, ब्लाॅक आशा फेसीलेटर, कम्प्यूटर ऑपरेटर और ब्लॉक मैनेजर मंगलवार से अवकाश पर हैं।



इस वजह से अस्पतालों में इलाज से लेकर लोगों को मिलने वाली जननी सुरक्षा योजना का लाभ सहित अन्य सुविधाओं से वंचित होना पड़ रहा है। समिति के प्रदेशाध्यक्ष सुनील सैन ने बताया कि पिछले 10 साल से अधिक समय से लेखाकार, डेटा एंट्री ऑपरेटर, कम्प्यूटर ऑपरेटर, आशा फेसीलेटर, आशा सुपरवाइजर सहित काम कर रहे हैं। वर्ष 2013 में मनरेगा, जीएनएम भर्ती, लैब सहायक भर्ती की तर्ज पर उक्त कार्मिकों की भर्ती कर नियुक्ति देने का वादा किया गया था लेकिन प्रोसेस भी शुरू नहीं किया गया। इसके अलावा चिकित्सा मंत्री व मिशन निदेशक ने पदों की बहाली के लिए प्रस्ताव वित्त व उप समिति में भिजवाने की बात कही थी, लेकिन वह भी कोरा आश्वासन ही निकला। प्रदेश महामंत्री संजय खंडेलवाल और प्रदेश सचिव किशोर व्यास ने बताया कि प्रदेश में 1250 आशा सुपरवाइजर, 950 लेखाकार, 250 ब्लाॅक आशा फेसीलेटर, 407 कम्प्यूटर ऑपरेटर, 200 ब्लॉक मैनेजर के पद पर काम कर रहे हैं। ये कर्मी पिछले 10 साल से अधिक समय से काम कर रहे हैं, लेकिन भर्ती नहीं की जा रही है। समिति ने सरकार से आग्रह किया है कि जल्दी से भर्ती प्रक्रिया पूरी की जाए, अन्यथा बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा।