--Advertisement--

इबादत व पूर्वजों की याद में गुजारी शब-ए-बरात की रात

इबादत व पूर्वजों की याद में गुजारी शब-ए-बरात की रात बागोड़ा | शब-ए-बरात अकीदत के साथ मंगलवार को मनाया गया। मुस्लिम...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:05 AM IST
इबादत व पूर्वजों की याद में गुजारी शब-ए-बरात की रात

बागोड़ा | शब-ए-बरात अकीदत के साथ मंगलवार को मनाया गया। मुस्लिम भाइयों ने अल्लाह की इबादत व पूर्वजों की याद में शब-ए-बारात की पूरी रात गुजारी। त्योहार को लेकर शहर के मुस्लिम मोहल्लों की रौनक बढ़ गई थी। मोहल्ले शाम में रोशनी से जगमग हो उठे। घर भी मोमबत्तियों व झालरों से रोशन थे। मस्जिदों व ईदगाहों को सजाया-संवारा गया। मुस्लिम भाई शाम को नमाज से लेकर देर रात तक तिलावते कुरान फातेहा पड़ते रहे। शाम से ही मस्जिदों में इबादत करने को लेकर मुस्लिम नौजवानों व बुजुर्गों के साथ बच्चों की भी भीड़ लगी रही। पूरी रात मस्जिदों से आ रही तिलावते कुरान की आवाज से वातावरण खुशगवार बना रहा। दूसरी ओर औरतें घरों में रह कर तिलावते कुरान के साथ तिलावत करती रहीं। अल्लाह से अपनी गुनाहों की माफी के साथ अमनचैन व जो चल बसे हैं, उनकी रूह की शांति की दुआ मांगी।



इसी तरह निकटवर्ती खोखा, छजाला, मोरसीम सहित कई जगह पर भी इबादत में रात गुजरी वही खोखा में लूनी शरीफ से आये कातिब साहेब के द्वारा सब्बे बरात के फजीलतो के बारे में तकरीर पेश की गई । पेश इमाम मौलाना मोहम्मद ने बताया कि यह रोशनी का त्योहार है। इस दिन अल्लाह की इबादत व पूर्वजों को याद किया जाता है। मस्जिदों व घरों को रोशनी से रोशन किया जाता है। रातभर लोग अल्लाह की इबादत की जाती है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..