Hindi News »Rajasthan »Pali» 80% लोगों ने कहा: दुष्कर्मियों को फांसी अच्छा फैसला वहीं 54% महंगाई बढ़ने, नौकरियां न मिलने से निराश

80% लोगों ने कहा: दुष्कर्मियों को फांसी अच्छा फैसला वहीं 54% महंगाई बढ़ने, नौकरियां न मिलने से निराश

मोदी सरकार के चार साल के कामकाज पर देश के सबसे बड़े सर्वे के नतीजे आ चुके हैं। भास्कर सर्वे में प्रधानमंत्री...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:15 AM IST

  • 80% लोगों ने कहा: दुष्कर्मियों को फांसी अच्छा फैसला वहीं 54% महंगाई बढ़ने, नौकरियां न मिलने से निराश
    +2और स्लाइड देखें
    मोदी सरकार के चार साल के कामकाज पर देश के सबसे बड़े सर्वे के नतीजे आ चुके हैं। भास्कर सर्वे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता उभरकर सामने आई है। हालांकि, बढ़ती महंगाई और घटती नौकरियां आम लोगों की नाराज़गी का सबसे बड़ा कारण बनकर उभरे। सर्वे में हिस्सा लेने वाले 70% लोगों के अनुसार मोदी अब भी लोकप्रिय हैं। इनमें से 47% के अनुसार तो वे इस समय 2014 से भी ज्यादा लोकप्रिय हैं। महंगाई और घटती नौकरियों को 54% लोगों ने सरकार की सबसे बड़ी विफलता के रूप में चुना है।

    सर्वे में 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म के अपराधियों को फांसी देने के फैसले को 80% लोगों ने सराहा। सर्वे में 85 फीसदी लोगों का मानना है कि मोदी 2019 में होने वाले आम चुनाव में दोबारा सरकार बना लेंगे। 53 फीसदी का मानना है कि विपक्ष अगर एकजुट भी हो जाए तो भी मोदी को हरा नहीं पाएगा। यूं ओवरऑल देखा जाए तो मोदी के चार सालों में सबसे बड़ा काम सर्जिकल स्ट्राइक रहा। सर्वाधिक 82 फीसदी लोगाें ने इसे अच्छा बताया। वहीं एक अन्य प्रमुख सवाल के जवाब में 52 फीसदी लोगों ने कहा- राहुल गांधी पहले के मुकाबले ज्यादा परिपक्व हुए हैं, हालांकि इनमें 22 फीसदी लोग ही ऐसे हैं,जो मानते हैं कि वे मोदी को टक्कर दे सकते हैं। ट्रिपल तलाक का खात्मा प्रधानमंत्री मोदी के लिए मुस्लिम भरोसे का आधार बना। 68 फीसदी लोग मानते हैं कि इस बड़े कदम के जरिए मोदी ने मुस्लिम महिलाओं का भरोसा जीता है।

    जिस सवाल पर सबसे ज्यादा लोगों ने जवाब दिए

    मोदी की लोकप्रियता?

    सर्वाधिक 2,80,136 लोगों ने इस सवाल का जवाब दिया । सबसे ज्यादा राजस्थान से 75,787 लोगों ने इसका जवाब दिया।

    सर्वे में हिस्सा लेने वाले...

    18-35 साल के युवाओं ने सबसे ज्यादा सर्वे में हिस्सा लिया है। कुल 61% इसी आयु वर्ग के हैं।

    इनमें 65% ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कैटेगरी के हैं। 36% लोग नौकरीपेशा, 23% कारोबारी और 22% छात्र हैं।

    भास्कर सर्वे का टीवी न्यूज पार्टनर

    सर्वे परिणाम भास्कर के टीवी न्यूज पार्टनर एबीपी न्यूज पर भी देख सकते हैं। आज शाम 5 बजे, राजधर्म में।

    सर्वे नतीजे वेबसाइट पर भी

    dainikbhaskar.com

    जैकेट इनसाइड पेज पर

    मोदी सर्वे के बाकी 7 सवालों के जवाब

    जिन 3 राज्यों में इस साल चुनाव होने हैं, वे सर्वे में क्या कह रहे हैं?

    राजस्थान में 24%, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में 21% लोग मानते हैं कि राहुल पहले से परिपक्व हुए हैं और मोदी को टक्कर दे सकते हैं।

    जानिए मोदी का कौन-सा रंग देश को पसंद

    देश के भविष्य से जुड़े पांच सबसे अहम सवाल...

    23%लोग मानते हैं मोदी 2014 की तरह आज भी उतने ही लोकप्रिय हैं

    1)क्या मोदी की लोकप्रियता 2014 की तुलना में बढ़ी है?

    47%





    के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले से ज्यादा लोकप्रिय हुए हैं।

    छात्र : 51% ने कहा : मोदी की लोकप्रियता पहले से बढ़ी है। हालांकि, 2017 के सर्वे में मोदी को 8 से 10 अंक देने वाले 18 से 25 साल के 65% युवा थे। इस सर्वे में 59% युवाओं ने ही मोदी को 8 या इससे ऊपर अंक दिए हैं।

    लेकिन किसान : 39% के अनुसार मोदी की लोकप्रियता 2014 की तुलना में घटी है।

    2)क्या राहुल अब मोदी को टक्कर देते दिख रहे हैं?

    48% लोगों ने कहा वे जैसे थे, वैसे ही हैं। मोदी और उनका कोई मुकाबला नहीं है।

    जहां कांग्रेस - पंजाब में 28 फीसदी लोग ही मानते हैं कि राहुल परिपक्व हुए हैं, मोदी को टक्कर दे सकते हैं।

    सर्वे जहां देश के मूड को दिखाता है, वहीं यह उन तीन राज्यों के लिए और भी खास हो जाता है, जहां इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ तीनों ही राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं। सर्वे में जो रुझान सामने आया है, उससे स्थानीय मुद्दों पर लोगों की राय को भी समझा जा सकता है। उदाहरण के तौर पर सरकारी आंकड़ों के अनुसार जहां मध्यप्रदेश और राजस्थान में दुष्कर्म के सबसे ज्यादा मामले सामने आते हैं, वहां 82% लोगों ने 12 से कम उम्र की नाबालिग से दुष्कर्म के दोषियों को फांसी जैसे सख्त फैसले को अच्छा कदम माना है।

    सर्वे में शामिल 33% किसानों ने कहा है कि मोदी सरकार किसानों की आत्महत्याओं को रोकने में विफल रही है। इन तीनों ही राज्यों में भी किसानों का मुद्दा सबसे ज्यादा गरम है। मध्यप्रदेश में 20%, राजस्थान में 18% और छत्तीसगढ़ में 17% लोगों ने किसानों की आत्महत्याएं न रोक पाने को मोदी की सबसे बड़ी विफलता माना है।

    हाल ही लाॅन्च की गई मोदी की हेल्थ स्कीम पर भी लोगों ने अच्छी प्रतिक्रिया दी। हालांकि, मोदी सरकार की हेल्थ स्कीम, जिसकी शुरुआत छत्तीसगढ़ से हुई, उसे इन तीनों राज्यों में सबसे कम सफल 67% भी छत्तीसगढ़ ने ही माना। राजस्थान में 69% और मध्यप्रदेश में 68% लोगों ने हेल्थ स्कीम को सफल माना। मोदी सरकार के कामकाज की ओवरऑल रेटिंग अगर देखी जाए तो...राजस्थान ने देश के औसत 8 अंक से भी ज्यादा यानी 9 अंक मोदी को दिए हैं। छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश ने देश के मिजाज के अनुसार ही मोदी को रेटिंग दी है। तीनों ही राज्यों में राजस्थान ही ऐसा रहा, जहां सर्वाधिक 37% ने मोदी को दस में से दस अंक दिए। गुजरात से भी ज्यादा, जहां 36% ने मोदी को परफेक्ट टेन दिया है।

    जहां भाजपा नहीं

    पंजाब में जहां कांग्रेस की सरकार है, वहां सर्वाधिक 44 फीसदी लोगों ने कहा : मोदी पहले जितने लोकप्रिय नहीं हैं। वहीं, टीआरएस शासित तेलंगाना में 43 फीसदी लोग ऐसे थे, जिन्होंने कहा : मोदी पहले जितने लोकप्रिय नहीं हैं।

    30% वे परिपक्व हुए, मोदी को टक्कर नहीं दे सकते।

    22% राहुल परिपक्व हुए, मोदी को टक्कर दे सकते हैं।

    युवा : 45 से कम उम्र के 47% लोगों ने कहा: राहुल गांधी जैसे थे, वैसे ही हैं।

    महिला : सिर्फ 29% को लगता है कि राहुल... मोदी को टक्कर दे सकते हैं।

    बुजुर्ग : 55% का मानना है कि राहुल जैसे थे, वैसे ही हैं। मोदी से उनका कोई मुकाबला नहीं है।

    जहां भाजपा - भाजपा की सरकार वाले असम में 77 फीसदी लोग मानते हैं कि राहुल परिपक्व हैं, वे मोदी को टक्कर दे सकते हैं।

    23% लोगाें ने कहा नरेंद्र मोदी आज भी पहले जितने ही लोकप्रिय।

    30% ने कहा मोदी की लोकप्रियता 2014 की तुलना में घटी है।

    मोदी की लोकप्रियता

    कितने प्रतिशत लोग सोचते हैं कि मोदी पहले से ज्यादा लोकप्रिय हुए हैं?

    आपके भरोसे पर कितनी खरी उतरी मोदी सरकार

    स्वच्छ भारत सबसे अच्छी योजना

    90%लोग मानते हैं स्वच्छ भारत को सबसे अच्छा

    विदेश में साख बढ़ने को 56% पुरुषों, वहीं 47% महिलाओं ने मोदी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि माना।

    ओवरऑल रेटिंग

    3)क्या विपक्ष 2019 के चुनाव में एकजुट होकर मोदी को हरा पाएगा?

    53% ने कहा विपक्ष अगर एकजुट भी हो गया तो भी जीत नहीं पाएगा।

    24% के अनुसार तो विपक्ष एकजुट ही नहीं हो पाएगा।

    23% ने कहा विपक्ष एकजुट होकर मोदी काे हरा सकता है।

    कर्नाटक : जहां हाल ही में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनी

    यहां 30% लोगों का मानना है कि हराना तो दूर विपक्ष एकजुट भी नहीं हो पाएगा।

    जहां विपक्ष एक हो सकता है...

    उत्तरप्रदेश

    जहां महागठबंधन के प्रयोग से लोकसभा उपचुनाव में विपक्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ही गोरखपुर जैसी सीट पर जीता, वहां भी...

    दक्षिण में क्या स्थिति?

    27% मानते हैं,कि 2019 में विपक्ष एक होकर मोदी को हरा सकता है।

    सर्वाधिक 37% आंध्रप्रदेश के लोगों का मानना है कि विपक्ष एक होकर मोदी को हरा सकता है।

    जहां भाजपा की सरकार

    76% लोग असम में मानते हैं कि विपक्ष अगर एक हो जाए तो मोदी को अगले चुनाव में हरा सकता है।

    राजस्थान 50%

    मध्यप्रदेश 48%

    छत्तीसगढ़ 46%

    पिछले वर्ष हुए भास्कर सर्वे में मोदी सरकार के कामकाज को दस में से सात अंक मिले थे।

    48% मानते हैं विपक्ष एक भी हो जाए, तो भी मोदी को हरा नहीं पाएगा।

    33% लोगों ने मोदी सरकार के चार साल के काम को 10 में से 10 अंक दिए। यानी उन्होंने इसे बहुत अच्छा माना।

    जबकि...

    10% लोग ऐसे भी रहे, जिन्होंने मोदी को 10 में से 1 अंक दिया। यानी उन्होंने मोदी सरकार के काम को सबसे बुरा माना।

    62%बोले- मोदी सरकार बना लेंगे 23%ने कहा- गठबंधन से बनाएंगे

    4)2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी फिर सरकार बनाएंगे?

    62% लोगों ने कहा मोदी फिर सरकार बनाएंगे

    23% के अनुसार गठबंधन से सरकार बना लेंगे।

    15% लोगों ने कहा कि मोदी फिर सरकार नहीं बना पाएंगे

    यानी... 85%

    5)क्या मोदी मुस्लिमों का भरोसा जीतने में सफल रहे हैं?

    जहां मुस्लिम वोटर्स ज्यादा

    64% लोगों (कश्मीर, उत्तरप्रदेश, आंध्र, तेलंगाना, बंगाल और बिहार) को लगता है मोदी ने ट्रिपल तलाक खत्म कर महिलाओं का भरोसा जीता है।

    पिछले सर्वे से तुलना

    2017 में 50%, 2016 में 52% लोगों ने कहा था कि मोदी मुस्लिम महिलाओं के माध्यम से दिल जीतने की कोशिश कर रहे हैं।

    विदेश में साख सबसे बड़ी उपलब्धि

    56%लोग मानते हैं कि विश्व में भारत की साख बढ़ी

     उत्तर भारत

    में 62% ने कहा मोदी खुद अपने बूते ही सरकार बना लेंगे।

     पश्चिम भारत

    के राज्यों के 64% लाेगों के अनुसार मोदी बिना गठबंधन सरकार बना लेंगे।

     दक्षिण भारत यहां 57.2% के अनुसार 2019 में मोदी खुद अपने बूते सरकार बना लेंगे।

    के अनुसार 2019 में मोदी सरकार बना लेंगे। पिछले साल हुए भास्कर सर्वे में इसी सवाल पर 91% लाेगों ने यह जवाब दिया था।

    21% लोगों का मानना है कि : नहीं, मोदी सफल नहीं रहे।

    11% न मुस्लिमों का जिक्र करते हैं, न फिक्र।

    सबसे जरूरी मुद्दों पर तीनों राज्यों की राय

    सबसे बड़ी उपलब्धि

    मध्यप्रदेश में 50%, राजस्थान में 57% और छत्तीसगढ़ में 50% लोगों को सबसे बड़ी उपलब्धि विदेशों में भारत की बढ़ती साख लगती है।

    के अनुसार सफल हुए, तीन तलाक खत्म कर महिलाआंे का भरोसा जीता।

    सबसे बड़ा कदम : मध्यप्रदेश में 83% लोगों ने सर्जिकल स्ट्राइक को चुना। राजस्थान में 82% ने 12 से कम उम्र की नाबालिग से दुष्कर्म के दोषियों को फांसी और छत्तीसगढ़ में 84% लोगों ने ट्रिपल तलाक के खात्मे को चुना।

    सबसे बड़ी विफलता

    मध्यप्रदेश में 56%, राजस्थान में 55% और छत्तीसगढ़ में 59% ने कहा : मोदी सरकार में न महंगाई घटी, न राेजगार बढ़े।

     पूर्वी भारत 57% ने कहा-मोदी खुद सरकार बना लेंगे।

     मध्य भारत

    61.5% के अनुसार अपने दम पर मोदी की सरकार

    गुजरात में

    मोदी के गृहराज्य में 73 फीसदी लोगों को लगता है कि उन्होंने तीन तलाक खत्म कर मुस्लिम महिलाओं का भरोसा जीता है।

    जबकि असम में

    77% लोग मानते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी अब तक मुस्लिमों का भरोसा नहीं जीत पाए हैं। 4 फीसदी लोगों के अनुसार तो मोदी न उनका (मुस्लिमों) जिक्र करते हैं, न ही उनकी फिक्र करते हैं।

    सबसे अच्छी योजना

    मध्यप्रदेश में 93%, राजस्थान में 91% और छत्तीसगढ़ में 90% लोगों ने स्वच्छ भारत को चुना।

  • 80% लोगों ने कहा: दुष्कर्मियों को फांसी अच्छा फैसला वहीं 54% महंगाई बढ़ने, नौकरियां न मिलने से निराश
    +2और स्लाइड देखें
  • 80% लोगों ने कहा: दुष्कर्मियों को फांसी अच्छा फैसला वहीं 54% महंगाई बढ़ने, नौकरियां न मिलने से निराश
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pali

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×