• Home
  • Rajasthan News
  • Pali News
  • आईएएस निर्मला मीणा 2 दिन रिमांड पर, एसीबी ने पूछताछ की तो बोली- उपवास है
--Advertisement--

आईएएस निर्मला मीणा 2 दिन रिमांड पर, एसीबी ने पूछताछ की तो बोली- उपवास है

गंगापुर सिटी | नगर परिषद कार्यालय में बुधवार रात रिश्वत लेते धरे गए नप आयुक्त जितेंद्र शर्मा और लिपिक राहुल कौशल...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:15 AM IST
गंगापुर सिटी | नगर परिषद कार्यालय में बुधवार रात रिश्वत लेते धरे गए नप आयुक्त जितेंद्र शर्मा और लिपिक राहुल कौशल को एसीबी सवाई माधोपुर शाखा ने गुरुवार को भरतपुर में एसीबी के विशेष न्यायालय में पेश किया। न्यायाधीश ने दोनों को एक दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है। न्यायाधीश के आदेश के बाद एसीबी ने दोनों आरोपितों को भरतपुर की सेवर जेल पहुंचा दिया। शुक्रवार को दोनों को फिर से न्यायालय में पेश किया जाएगा। बुधवार रात एसीबी की टीम आयुक्त और लिपिक को लेकर सवाई माधोपुर ले गई थी। गुरुवार दोपहर एसीबी टीम दोनों को एसीबी विशेष न्यायाधीश के समक्ष पेश करने के लिए एसीबी टीम सवाई माधोपुर से रवाना हुई।

बुधवार को किया था सरेंडर, थाने में खाना चेक किया तो नाराज हुई, शाम को उपवास खोला

भास्कर न्यूज | जाेधपुर

करोड़ों रुपए के गेहूं घोटाले की आरोपी आईएएस निर्मला मीणा को गुरुवार को एसीबी ने कोर्ट में पेश कर 7 दिन का रिमांड मांगा, लेकिन 2 दिन का रिमांड मिला। दोपहर बाद कोर्ट से स्पेशल युनिट में पूछताछ शुरू की तो मीणा ने बिल्कुल सहयोग नहीं किया। बोली गुरुवार का उपवास है इसलिए उसकी तबीयत ठीक नहीं है। एसीबी ने दो-तीन बार ज्यूस पिला कर दो जनों से आमने-सामने पूछताछ का प्रयास किया, मगर उसमें भी मीणा ने जवाब नहीं दिए। सिर्फ यही कहा कि गेहूं उसने मंगवाया था और सप्लाई कर दिया। इस तरह 6 घंटे बिता दिए और शाम हो गई तब मीणा को उदयमंदिर थाने भिजवा दिया और एसीबी पूरे दिन किसी भी सवाल का जवाब नहीं ले पाई।

एसीबी के सामने एक दिन पहले ही सरेंडर करने वाली निलंबित आईएएस मीणा को सुबह दस बजे एसीबी ने एसीबी मामलों की अदालत में पेश किया। वे आज बिना मुंह ढंके ही एसीबी के साथ आई। इन दौरान कोर्ट में अन्य प्रकरण की कार्यवाही चलने के कारण, उन्हें दुबारा दोपहर 12 बजे बाद बुलाया गया। अदालत में पेश होने के बाद एसीबी की ओर से सात दिन का रिमांड मांगा गया, लेकिन न्यायाधीश ने दो दिन के रिमांड पर मीणा को भेजा। इसके बाद दोपहर एक बजे एसीबी की टीम उसे लेकर स्पेशल यूनिट पहुंची।





यहां पर जांच अधिकारी मुकेश सोनी ने घोटाले के तथ्यों के आधार पर पूछताछ शुरू की। गुरुवार को उपवास था, ऐसे में शाम को भाई टिफिन लेकर आया। इसके बाद उपवास खोला।

ठेकेदार और बाबू को बुलाकर भी पूछताछ

गेहूं घोटाले के मामले में एसीबी ने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की खाद्यान्न शाखा के बाबू शिवप्रकाश शर्मा तथा राशन डीलर एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल गहलोत को स्पेशल यूनिट बुलाया गया। इन दोनों को मीणा के सामने बिठाकर पूछताछ शुरू की। एसीबी ने दोनों से पूछताछ के आधार पर कड़ियां जोड़ने की कोशिश की लेकिन मीणा ने जांच में सहयोग नहीं किया।

गंगापुर सिटी में रिश्वत लेने के आरोपी आयुक्त-लिपिक न्यायिक अभिरक्षा में