--Advertisement--

ट्विटर ने भी लीक किया यूजर्स का डेटा

लंदन | डेटा लीक मामले में फेसबुक के बाद अब ट्विटर का नाम भी जुड़ गया है। आरोप हैं कि ट्विटर ने ब्रिटेन की कंसल्टेंसी...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:35 AM IST
लंदन | डेटा लीक मामले में फेसबुक के बाद अब ट्विटर का नाम भी जुड़ गया है। आरोप हैं कि ट्विटर ने ब्रिटेन की कंसल्टेंसी फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका को 2015 में यूजर्स का डेटा बेचा था। ब्रिटिश अखबार द संडे टेलीग्राफ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, कैम्ब्रिज एनालिटिका के फाउंडर अलेक्जांद्र कोगन ने 2015 में ट्विटर से यूजर्स का डेटा खरीदा था। इसके लिए उसने ग्लोबल साइंस रिसर्च (जीएसआर) नाम से कंपनी बनाई, जिसे यूजर्स के ट्विटर डेटा तक पहुंच बनाने की अनुमति दी गई। कोगन ने जीएसआर के जरिए दिसंबर 2014 से लेकर अप्रैल 2015 तक कई यूजर्स के ट्वीट्स, यूजरनेम, फोटोज, प्रोफाइल पिक्चर्स व लोकेशन डेटा तक पहुंच बनाई। रिपोर्ट में है कि आमतौर पर जहां ज्यादातर लोगों के ट्वीट्स को हर कोई पढ़ सकता है। वहीं, कंपनियों को इन्हें ट्विटर से बड़ी तादाद में खरीदने के लिए कीमत चुकानी पड़ती है। शेष | पेज 4





हाल ही में फेसबुक पर 8.7 करोड़ यूजर्स का डेटा कैंब्रिज एनालिटिका के साथ शेयर करने के आरोप लगे थे। एनालिटिका ने इस डेटा का इस्तेमाल अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में किया था। इसके बाद फेसबुक सीईओ मार्क जकरबर्ग को माफी मांगनी पड़ी थी।

हम कैम्ब्रिज एनालिटिका के विज्ञापन भी नहीं दिखाते: ट्विटर

आरोपों पर ट्विटर के प्रवक्ता ने कहा कि उनका कैम्ब्रिज एनालिटिका से कोई संबंध नहीं है। यहां तक कि उसके किसी भी अकाउंट के विज्ञापन को नहीं दिखाते। यह फैसला सीए की पॉलिसी विरोधी गतिविधियों की वजह से लिया है।

ट्विटर का इस्तेमाल सिर्फ राजनीतिक विज्ञापनों के लिए किया: सीए

कैम्ब्रिज एनालिटिका ने कहा है कि कंपनी ने ट्विटर का इस्तेमाल सिर्फ राजनीतिक विज्ञापनों के लिए किया है। साथ ही यह दावा भी किया कि उसने जीएसआर के साथ डेटा शेयर करने के लिए कोई प्रोजेक्ट नहीं लिया, ना ही जीएसआर से कोई डेटा मिला है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..