• Home
  • Rajasthan News
  • Pali News
  • बारातियों पर हमला करने के खिलाफ घांची समाज का प्रदर्शन
--Advertisement--

बारातियों पर हमला करने के खिलाफ घांची समाज का प्रदर्शन

पुलिस के खिलाफ नारेबाजी, आरोपियों को बचाने का आरोप भास्कर संवाददाता | पाली पोमावा गांव में बीते दिनों शादी...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 05:45 AM IST
पुलिस के खिलाफ नारेबाजी, आरोपियों को बचाने का आरोप

भास्कर संवाददाता | पाली

पोमावा गांव में बीते दिनों शादी समारोह में बारातियों को नाचते वक्त हमला करने के मामले में आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करने से खफा घांची समाज ने सुमेरपुर पुलिस थाने पर पहुंचकर जोरदार प्रदर्शन किया। बड़ी संख्या में पहुंचे समाजबंधुओं ने पुलिस कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए तथा नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों के तेवर देखकर पुलिस ने एक युवक को शांति भंग के आरोप में पकड़ा। इससे समाजबंधुओं में ज्यादा गुस्सा देखा गया। समाज के प्रतिनिधियों ने आरोप लगाया कि पुलिस आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है। अगर शीघ्र ही नामजद आरोपियों को नहीं पकड़ा गया तो पूरे क्षेत्र में आंदोलन किया जाएगा।

सुमेरपुर में बारातियों पर हमला करने वाले असामाजिक तत्वों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मंगलवार को सुमेरपुर, खिवांदी, बांकली, पोमावा सहित आस-पास के गांवों से घांची समाज के सैकड़ों लोगों ने पुलिस थाने के बाहर धरना प्रदर्शन किया। सवेरे करीब 10 बजे शहर सहित आस-पास के गांवों से समाजबंधुओं का पहुंचना शुरू हो गया था, जो दोपहर तक जारी रहा। इसके बाद एक भी आरोपी की मामले में गिरफ्तारी नहीं होने पर पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस बीच पुलिस ने धरना प्रदर्शनकारियों में से एक को शांति भंग में गिरफ्तार किया। जिस पर घांची समाज ने नाराजगी जताई व बताया कि हम यहां पर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं, जबकि पुलिस प्रशासन हमको ही गिरफ्तार कर रही हैं। इस घटना को लेकर घांची समाज में काफी रोष व्याप्त हैं। तत्पश्चात शांति भंग में गिरफ्तार युवक को उपखंड अधिकारी के समक्ष पेश किया जहां उसे जमानत पर रिहा किया गया।

महिलाएं नाचते वक्त आरोपियों ने किया था हमला

ज्ञात रहे कि पोमावा निवासी ताराराम पुत्र खीमाराम घांची ने रविवार को पुलिस थाने में रिपोर्ट देकर बताया था कि घर में शादी समारोह के चलते शनिवार की शाम घर के बाहर महिलाएं व युवतियां बंदौली मे नाच रही थी। इस दरमियान गांव के कुछ शरारती तत्व मोटर साइकिल पर सवार होकर बंदौली में व्यवधान डाल रहे थे। उन्हें इस कार्य के लिए टोके जाने पर गाली-गलौज करते हुए मारपीट करने की धमकी देकर रवाना हो गए। रविवार की शाम करीब साढ़े चार बजे मेरे पुत्र प्रकाश कुमार की बारात शिवगंज के लिए रवाना हो रही थी। इस दौरान गांव के भूपेंद्रसिंह, ईश्वरसिंह, महावीरसिंह, छत्रसिंह व भवानीसिंह एक जुट होकर तलवार व लाठियों के साथ मोटरसाइकिल से बारात रवानगी स्थल पहुंच बारातियों पर जानलेवा हमला किया था। इस घटना में चार जने घायल हुए थे।