• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pali
  • राजस्व प्रकरणों के निस्तारण का फीडबैक लेने पहुंचे राजस्व बोर्ड अध्यक्ष श्रीनिवास, बार एसोसिएशन ने राजस्व शिविरों का विरोध कर सौंपा ज्ञापन
--Advertisement--

राजस्व प्रकरणों के निस्तारण का फीडबैक लेने पहुंचे राजस्व बोर्ड अध्यक्ष श्रीनिवास, बार एसोसिएशन ने राजस्व शिविरों का विरोध कर सौंपा ज्ञापन

जिले में न्याय आपके द्वार एवं राजस्व प्रकरणों के निस्तारण को लेकर गुरुवार को राजस्व मंडल अध्यक्ष वी श्रीनिवास...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 06:10 AM IST
राजस्व प्रकरणों के निस्तारण का फीडबैक लेने पहुंचे राजस्व बोर्ड अध्यक्ष श्रीनिवास, बार एसोसिएशन ने राजस्व शिविरों का विरोध कर सौंपा ज्ञापन
जिले में न्याय आपके द्वार एवं राजस्व प्रकरणों के निस्तारण को लेकर गुरुवार को राजस्व मंडल अध्यक्ष वी श्रीनिवास पाली पहुंचे। पाली पहुंचने के बाद जिला परिषद सभागार में राजस्व मंडल अध्यक्ष श्रीनिवास ने अधिवक्ताओं से राजस्व प्रकरण के निस्तारण का फीडबैक भी लिया। साथ ही मामलों के त्वरित निस्तारण के संबंध में उनके सुझाव सुने। बैठक के बाद बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पीएम जोशी के नेतृत्व में अधिवक्तागणों ने राजस्व मंडल अध्यक्ष श्रीनिवासन को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उन्होंने कहा कि जिले की सभी तहसीलों से संबंधित जिला कलेक्टर न्यायालय द्वारा सुनवाई योग्य राजस्व प्रकरण जिला कलेक्टर एवं न्यायालय अतिरिक्त जिला कलेक्टर द्वारा सुने जा रहे है। कलेक्टर पाली के न्यायालय में वर्तमान में 700 प्रकरण एवं अतिरिक्त जिला कलेक्टर के न्यायालय में 630 मुकदमे लंबित हैं, जो स्वयं अपने आप में काफी कम है। स्थानीय कार्य विभाजन के तहत वर्तमान में न्यायालय जिला कलेक्टर द्वारा पाली, देसूरी, सुमेरपुर, रोहट व जैतारण के मुकदमे की सुनवाई की जा रही है, जिसमें पाली में 140, देसूरी के 50, सुमेरपुर के 100, रोहट के 150 व जैतारण के 300 मुकदमे लंबित है। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि अतिरिक्त जिला कलेक्टर (सिलिंग) का कैंप कोर्ट बाली में करने के निर्देश दिए गए हैं और इसी के अनुरूप मुकदमों को स्थानांतरित किए जाने की कार्रवाई की जा रहा है। बताया जा रहा है कि उक्त न्यायालय का मुख्यालय बाली में ही रखा जा रहा है, जो किसी भी रूप में अनुचित नहीं है। उन्होंने बताया कि जिला मुख्यालय पर करीब 500 से अधिक अधिवक्ताओं की बार है। अभी तक सभी क्षेत्राधिकार मुख्यालय पर होने से अनुभवी व विशेषज्ञ अधिवक्ताओं की आम नागरिकों को सेवाएं प्रदान की जा रही है। आम नागरिकों द्वारा वर्तमान लंबित प्रकरणों में मुकदमों की पैरवी के लिए अभी व्यय भी किया गया है। उन्होंने राजस्व बोर्ड के अध्यक्ष श्रीनिवास को ज्ञापन सौंपकर जिला मुख्यालय स्थित कलेक्टर न्यायालय व एडीएम न्यायालय द्वारा सुनवाई किए जा रहे क्षेत्राधिकारी में कोई परिवर्तन नहीं किए जाने व बाली, देसूरी, सुमेरपुर व रानी और अन्य क्षेत्र के मुकदमे अन्य न्यायालयों में सुनवाई के लिए स्थानांतरण नहीं करने की मांग की। बैठक के दौरान कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा, एडीएम भागीरथ विश्नोई, आरएएस बजरंग सिंह समेत बार एसोसिएशन के पदाधिकारी व अधिवक्तागण मौजूद थे।

रायपुर मारवाड़सेंदड़ा | हाजीवास गांव के अटल सेवा केंद्र में गुरुवार को न्याय आपके द्वार राजस्व शिविर उपखंड अधिकारी समंदरसिंह भाटी व प्रधान शोभा चौहान की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। शिविर का संभागीय आयुक्त ललित कुमार गुप्ता ने निरीक्षण किया। संभागीय आयुक्त गुप्ता ने ग्राम पंचायत द्वारा निशुल्क तैयार किए गए 80 पट्टे व उज्ज्वला योजना के तहत 72 गैस कनेक्शन वितरित किए। प्रधान ने रायपुर के सामुदायिक चिकित्सालय में डॉक्टरों की कमी के बारे में संभागीय आयुक्त अवगत कराया। शिविर में राजस्व मामलों का निस्तारण हाथोंहाथ किया गया। इस मौके पर उपखंड अधिकारी समुद्रसिंह भाटी, तहसीलदार नरेंद्रसिंह पंवार, सरपंच श्यामसिंह राठौड़, ग्राम विकास अधिकारी मनोज राव, उप सरपंच पशुपतिसिंह राठौड़ आदि मौजूद थे।

चंडावल | शिविर में उपस्थित राजस्व मंडल अध्यक्ष वी श्रीनिवास, कलेक्टर, विधायक व अन्य।

ऑनलाइन किए गए दो लाख निर्णय

राजस्व मंडल अध्यक्ष ने कहा कि न्याय आपके द्वार शिविर में आने वाले प्रकरणों में न्यायिक प्रक्रिया की पूर्णत पालना की जाएगी। जिले में राजस्व वादों का त्वरित, निष्पक्ष एवं पारदर्शितापूर्ण निस्तारण करना जरुरी है। उन्होंने कहा कि राजस्व न्यायालयों के आॅनलाइन होने से पारदर्शिता आई है। डिजिटलाइजेशन के बाद राज्य में 2 लाख निर्णय आॅनलाइन किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राजस्व वादों में आमजन को समुचित एवं त्वरित राहत के लिए बैंच व बार दोनों का आपसी सहयोग महत्वपूर्ण है। उन्होंने राजस्व वादों के निस्तारण के लिए एक-एक पद सृजित करने, रीडर के लिए पृथक कैडर बनाने सहित विभिन्न बिंदुओं पर विचार किया।

भास्कर संवाददाता | पाली

जिले में न्याय आपके द्वार एवं राजस्व प्रकरणों के निस्तारण को लेकर गुरुवार को राजस्व मंडल अध्यक्ष वी श्रीनिवास पाली पहुंचे। पाली पहुंचने के बाद जिला परिषद सभागार में राजस्व मंडल अध्यक्ष श्रीनिवास ने अधिवक्ताओं से राजस्व प्रकरण के निस्तारण का फीडबैक भी लिया। साथ ही मामलों के त्वरित निस्तारण के संबंध में उनके सुझाव सुने। बैठक के बाद बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पीएम जोशी के नेतृत्व में अधिवक्तागणों ने राजस्व मंडल अध्यक्ष श्रीनिवासन को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उन्होंने कहा कि जिले की सभी तहसीलों से संबंधित जिला कलेक्टर न्यायालय द्वारा सुनवाई योग्य राजस्व प्रकरण जिला कलेक्टर एवं न्यायालय अतिरिक्त जिला कलेक्टर द्वारा सुने जा रहे है। कलेक्टर पाली के न्यायालय में वर्तमान में 700 प्रकरण एवं अतिरिक्त जिला कलेक्टर के न्यायालय में 630 मुकदमे लंबित हैं, जो स्वयं अपने आप में काफी कम है। स्थानीय कार्य विभाजन के तहत वर्तमान में न्यायालय जिला कलेक्टर द्वारा पाली, देसूरी, सुमेरपुर, रोहट व जैतारण के मुकदमे की सुनवाई की जा रही है, जिसमें पाली में 140, देसूरी के 50, सुमेरपुर के 100, रोहट के 150 व जैतारण के 300 मुकदमे लंबित है। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि अतिरिक्त जिला कलेक्टर (सिलिंग) का कैंप कोर्ट बाली में करने के निर्देश दिए गए हैं और इसी के अनुरूप मुकदमों को स्थानांतरित किए जाने की कार्रवाई की जा रहा है। बताया जा रहा है कि उक्त न्यायालय का मुख्यालय बाली में ही रखा जा रहा है, जो किसी भी रूप में अनुचित नहीं है। उन्होंने बताया कि जिला मुख्यालय पर करीब 500 से अधिक अधिवक्ताओं की बार है। अभी तक सभी क्षेत्राधिकार मुख्यालय पर होने से अनुभवी व विशेषज्ञ अधिवक्ताओं की आम नागरिकों को सेवाएं प्रदान की जा रही है। आम नागरिकों द्वारा वर्तमान लंबित प्रकरणों में मुकदमों की पैरवी के लिए अभी व्यय भी किया गया है। उन्होंने राजस्व बोर्ड के अध्यक्ष श्रीनिवास को ज्ञापन सौंपकर जिला मुख्यालय स्थित कलेक्टर न्यायालय व एडीएम न्यायालय द्वारा सुनवाई किए जा रहे क्षेत्राधिकारी में कोई परिवर्तन नहीं किए जाने व बाली, देसूरी, सुमेरपुर व रानी और अन्य क्षेत्र के मुकदमे अन्य न्यायालयों में सुनवाई के लिए स्थानांतरण नहीं करने की मांग की। बैठक के दौरान कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा, एडीएम भागीरथ विश्नोई, आरएएस बजरंग सिंह समेत बार एसोसिएशन के पदाधिकारी व अधिवक्तागण मौजूद थे।

रायपुर मारवाड़सेंदड़ा | हाजीवास गांव के अटल सेवा केंद्र में गुरुवार को न्याय आपके द्वार राजस्व शिविर उपखंड अधिकारी समंदरसिंह भाटी व प्रधान शोभा चौहान की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। शिविर का संभागीय आयुक्त ललित कुमार गुप्ता ने निरीक्षण किया। संभागीय आयुक्त गुप्ता ने ग्राम पंचायत द्वारा निशुल्क तैयार किए गए 80 पट्टे व उज्ज्वला योजना के तहत 72 गैस कनेक्शन वितरित किए। प्रधान ने रायपुर के सामुदायिक चिकित्सालय में डॉक्टरों की कमी के बारे में संभागीय आयुक्त अवगत कराया। शिविर में राजस्व मामलों का निस्तारण हाथोंहाथ किया गया। इस मौके पर उपखंड अधिकारी समुद्रसिंह भाटी, तहसीलदार नरेंद्रसिंह पंवार, सरपंच श्यामसिंह राठौड़, ग्राम विकास अधिकारी मनोज राव, उप सरपंच पशुपतिसिंह राठौड़ आदि मौजूद थे।

X
राजस्व प्रकरणों के निस्तारण का फीडबैक लेने पहुंचे राजस्व बोर्ड अध्यक्ष श्रीनिवास, बार एसोसिएशन ने राजस्व शिविरों का विरोध कर सौंपा ज्ञापन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..