• Home
  • Rajasthan News
  • Pali News
  • हंगामे के बीच प्रतिमाएं लगाने के दो प्रस्ताव पास कर 15 मिनट में पूरी हुई बोर्ड की बैठक
--Advertisement--

हंगामे के बीच प्रतिमाएं लगाने के दो प्रस्ताव पास कर 15 मिनट में पूरी हुई बोर्ड की बैठक

पालिकाध्यक्ष कंचन सोलंकी की अध्यक्षता में आयोजित बोर्ड बैठक हंगामे के कारण मात्र 15 मिनट ही चल पाई। बैठक के दौरान...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 06:05 AM IST
पालिकाध्यक्ष कंचन सोलंकी की अध्यक्षता में आयोजित बोर्ड बैठक हंगामे के कारण मात्र 15 मिनट ही चल पाई। बैठक के दौरान कांग्रेस के पार्षदों ने शहीद भंवरसिंह की प्रतिमा लगाने के प्रस्ताव में भेदभाव बरतने का आरोप लगाकर पालिकाध्यक्ष के सामने धरने पर बैठ गए।

इस दौरान बोर्ड पर विकास कार्यों में भ्रष्टाचार के आरोप लगाने पर कांग्रेस पार्षदों व पालिकाध्यक्ष, अधिशासी अधिकारी के बीच जोरदार बहसबाजी हुई और हंगामे के बीच ही शहीद की प्रतिमा लगाने के प्रस्ताव पर हाथ खड़े करवा कर मतदान करवाया। उसके तुरंत बाद ही बैठक संपन्न होने की घोषणा कर दी। बैठक सुबह 11 बजे निर्धारित समय पर शुरू हुई, जिसमें हंगामा होने से सिर्फ 15 मिनट ही चली। अधिशासी अधिकारी ने सदन में शहीद भंवरसिंह की प्रतिमा छावणी पार्क एवं महाराणा प्रताप का सर्किल व उनकी प्रतिमा पुराना बस स्टैंड पर स्थापित कराने का प्रस्ताव रखा, तो कांग्रेस पार्षद प्रकाश मीणा, महेंद्र वाघेला, अल्पेश माली व प्रतिपक्ष नेता अब्बास अली ने खड़े होकर शहीदों के साथ भेदभाव बरतने का आरोप लगाते हुए पालिकाध्यक्ष की कुर्सी के सामने ही धरने पर बैठ गए। बैठक में नगर पालिका उपाध्यक्ष मनीष सर्राफ, अशोक कुमावत, लेहरी देवी, पुष्पा देवी, इंद्रा अहीर, इंद्रा कुमावत, धरमी भाटी, उमा देवी, सीमा देवी, सुरेश कुमार परिहार, बरखा आर्या, रमेश कश्यप, फैंसी देवी, रमेश कुमार सोनी, झनकारसिंह, रेखा बारोठ, सहवृत सदस्य कुंदनमल अग्रवाल, प्रमिला सुथार, कपूराराम मीणा व जसवंत कंडारा मौजूद थे, जबकि पार्षद महेंद्र कुमार परमार अनुपस्थित थे।

बैठक में हुए हंगामे के बीच महज 5 मिनट में लिए 2 प्रस्ताव, शहर में लगाई जाएगी शहीद भंवरसिंह व महाराणा प्रताप की प्रतिमा

शिवगंज. नगरपालिका बैठक में हंगामा करते पार्षद।

भ्रष्टाचार का लगाया आरोप

बैठक में धरने पर बैठे पार्षदों ने हंगामे के बीच पालिकाध्यक्ष पर विकास कार्यों में भी भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया। इस पर भाजपा पार्षद किशोर आर्य, लक्ष्मण परिहार, अशोक अग्रवाल भी पालिकाध्यक्ष के बचाव में खड़े हो गए और आरोप को बेबुनियाद बताते हुए धरने पर बैठे कांग्रेस पार्षदों पर भड़क गए। जवाब में कांग्रेस पार्षदों ने कहा कि भ्रष्टाचार नहीं होता तो विकास कार्यों की नियमानुसार मांगी गई नकलें सबूत के लिए क्यों नहीं दी जा रही है।

हाथ खड़े कर किया मतदान

बैठक में दोनों पक्षों के बीच हंगामा चल ही रहा था, इस दौरान अधिशासी अधिकारी देवल ने खड़े होकर शहीद भंवरसिंह व महाराणा प्रताप की प्रतिमा लगाने के प्रस्ताव पर सभी सदस्यों को अपने हाथ खड़े कर मतदान करने का आग्रह किया। जिस पर सभी सदस्यों ने अपने हाथ खड़े किए तो सर्व सम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया। यानी धरने पर बैठे हंगामा कर रहे कांग्रेस पार्षदों ने भी प्रस्ताव के पक्ष में अपने हाथ खड़े कर मतदान किया।

शिवगंज. नगरपालिका बैठक में धरने पर बैठे कांग्रेसी पार्षद।

आवेदन आने पर होगा विचार

कांग्रेस पार्षदों का कहना था कि पिछले बोर्ड की बैठक में शहीद बाबूलाल मीणा की प्रतिमा लगाने का प्रस्ताव लिया, लेकिन उनकी प्रतिमा आज तक नहीं लगाई है। पालिकाध्यक्ष सोलंकी ने जवाब में कहा कि इस बारे में उन्हें अभी तक कोई आवेदन प्राप्त ही नहीं हुआ है। सभी शहीदों का बोर्ड सम्मान करता है और शहीद बाबूलाल मीणा की प्रतिमा लगाने का आवेदन भी प्राप्त होगा तो उसका प्रस्ताव भी आगामी बैठक के एजेंड़े में शामिल कर लिया जाएगा।

बैठक में यह लिए प्रस्ताव

बैठक में हंगामे के बीच हाथ खड़े कर किए मतदान में सर्व सम्मति से शहीद भंवरसिंह की प्रतिमा छावणी पार्क में लगाने एवं महाराणा प्रताप का सर्किल एवं प्रतिमा पुराना बस स्टैंड पर स्थापित कराने का निर्णय लिया। इसके अलावा नगर पालिका के कनिष्ठ लिपिक नरोत्तमलाल घांची के फौजदारी प्रकरण में अभियोजन स्वीकृति नहीं देने का प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक में ये दोनों प्रस्ताव सिर्फ 5 मिनट में पारित हुए, जबकि हंगामा करीब 10 मिनट तक चला।