Hindi News »Rajasthan »Pali» 10 रुपए किलो बिकने वाली लौकी के दाम गिरे, अब 2 रु. किलो

10 रुपए किलो बिकने वाली लौकी के दाम गिरे, अब 2 रु. किलो

शहर की सब्जी मंडी में लौकी और बैंगन के दामों में अचानक गिरावट आने से किसानों की चिंता बढ़ गई है। स्थिति यह है कि...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 07:00 AM IST

10 रुपए किलो बिकने वाली लौकी के दाम गिरे, अब 2 रु. किलो
शहर की सब्जी मंडी में लौकी और बैंगन के दामों में अचानक गिरावट आने से किसानों की चिंता बढ़ गई है। स्थिति यह है कि बैंगन व लौकी के भाव कम होने से कई किसान अपने खेतों में खड़ी फसलों को उखाड़ने को मजबूर है। इनके भाव गिरने की वजह खपत से अधिक आवक होनी बताई जा रही है। लौकी सब्जी के भाव पहले 10-12 रुपए प्रति किलो थे, जो इस समय घटकर सिर्फ 2-4 रुपए हो गए है।

वहीं बैंगन की कीमत पहले 15-25 रुपए किलो चल रही थी, जो वर्तमान में डेढ़-दो रुपए प्रति किलो हो गई है। भाव कम आने से बैंगन व लौकी को तोड़ने के लिए खेतों पर लाए जाने वाले श्रमिकों की मजदूरी भी अब किसानों को चुकानी मुश्किल हो गई है। किसानों ने बताया कि सब्जी मंडी में लौकी का भाव सिर्फ डेढ़-दो रुपए प्रतिकिलो ही आता है, जबकि खेत की सिंचाई, लौकी को तोड़ने व परिवहन का खर्च भी इससे अधिक होता है। इस प्रकार बैंगन की कीमत भी घट कर प्रतिकिलो के 2-4 रुपए हो गए है। खेत में बैंगन को तोड़ने की मजदूरी भी अधिक लगती है। बैंगन व लौकी की कीमतों पर आई अचानक गिरावट से कई किसानों की चिंता बढ़ गई है।

इन सब्जियों के दामों में भी आई गिरावट

बैंगन व लौकी के साथ अन्य सब्जियों की कीमतों में भी कमी आई है। मंडी में ग्वारफली 15-20 रुपए, तुरोई 10-12 रुपए, बैंगन- 2 से 4, हरी मिर्च 10 से 15 रुपए, टिंडसी 10 से 15 रुपए, पत्तागोभी 10 से 15 रुपए, फूलगोभी 15-20 रुपए, बीट की 10 रुपए प्रतिकिलो के हिसाब से बिक्री हो रही है। जबकि पिछले महीने इन सभी सब्जियों की कीमत वर्तमान से दुगुनी थी। हालांकि, बाजार में लौकी व बैंगन समेत अन्य सब्जियों की फूटकर बिक्री के भाव दुगुने से अधिक है।

सब्जी मंडी में लौकी के भाव कम हो गए है। लौकी को तोड़ने, मंडी में भेजने व खेत की सिंचाई, खड़ाई कराने के लिए जो राशि खर्च हुई, वह भी लौकी की बिक्री से प्राप्त नहीं हो पाई है। दो दिन पहले मंडी में लौकी का कोई खरीदार भी नहीं था। ऐसे में बाजार में खुले घूम रहे पशुओं को खिलाकर घर लौट आया था। - वरदाराम मीणा, किसान

सब्जियों के दाम घटने से किसान चिंतित, उखाड़ रहे खेतों में खड़ी फसलें

शिवगंज. लौकी के दाम घटने से क्षेत्र के किसान चिंतित हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pali

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×