• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pali
  • Pali - मोडासा से 111 फीट लंबी ध्वजा लेकर पाली पहुंचे पैदल संघ का जगह-जगह स्वागत
--Advertisement--

मोडासा से 111 फीट लंबी ध्वजा लेकर पाली पहुंचे पैदल संघ का जगह-जगह स्वागत

पाली | गुजरात के अरवल्ली जिले के मोडासा तहसील से रामदेवरा के लिए रवाना हुआ 1 हजार से अधिक जातरुओं का पैदल संघ...

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 05:36 AM IST
Pali - मोडासा से 111 फीट लंबी ध्वजा लेकर पाली पहुंचे पैदल संघ का जगह-जगह स्वागत
पाली | गुजरात के अरवल्ली जिले के मोडासा तहसील से रामदेवरा के लिए रवाना हुआ 1 हजार से अधिक जातरुओं का पैदल संघ मंगलवार को सुबह पाली पहुंचा। पैदल संघ में जातरूओं ने 111 फीट लंबी ध्वजा लेकर उत्साह के साथ झूमते-नाचते चलते रहे, जिनका शहरवासियों ने माला पहना कर स्वागत किया। पूरे शहर के स्वागत के बाद संघ छोटा रूणेचा धाम पहुंचा, जहां शाम को भजन संध्या का आयोजन किया गया। इससे पूर्व संघ गोकुलवाड़ी पहुंचा, जहां भक्तों द्वारा गोकुलवाड़ी के लोगों की ओर से जातरुओं का स्वागत किया गया। इस दौरान भजन संध्या का भी आयोजन किया गया, जिसमें जातरुओं ने गुजराती भजनों पर नृत्य किया।

1985
वर्ष 1985 में ब्रह्मलीन महंत चंदूनाथ योगी महाराज ने 35 जातरुओं के साथ इस पैदल संघ की शुरुआत की थी। तब मोडासा से रामदेवरा की करीब 800 किमी यात्रा में तीन फीट का ध्वज लिए पैदल जातरू रवाना हुए थे। इस पैदल संघ में मोडासा क्षेत्र के करीब 1 हजार से अधिक पैदल जातरू शामिल होते हैं। 15 दिन तक पैदल चलकर यह जातरू रामदेवरा पहुंचते हैं। हर वर्ष जन्माष्टमी के दिन मोडासा से यह पैदल संघ रवाना होता है, जो भादवे की पंचमी को रामदेवरा में प्रवेश करता है। महंत चंदूनाथ योगी की ओर से शुरू किए इस संघ की बागडोर अब उनके पुत्र महंत धर्मेंद्रनाथ योगी और महंत जसवंत नाथ योगी संभाल रहे हैं।

31

111 फीट की ध्वजा देखने उमड़े शहरवासी

साल पहले 35 लोगों ने संघ लाने की शुरुआत की थी

01

से ज्यादा श्रद्धालु अब हर वर्ष शामिल होते हैं संघ में

पैदल संघ के सुबह पाली में प्रवेश करते ही 111 फीट की ध्वजा को देखने के लिए शहरवासी उमड़ पड़े। इस दौरान महिलाओं ने ध्वजा के दर्शन कर पूजा अर्चना की। कई जगहों पर विभिन्न समाजसेवी संगठनों ने जातरुओं को पेयजल, शरबत, फल का वितरण भी किया।

संघ करता है जातरुओं का बीमा

पैदल संघ के प्रत्येक जातरू का एक साल तक दो लाख रुपए का बीमा कराया जाता है। इसके बदले जातरुओं से 300 रुपए का प्रीमियम लिया जाता है। साथ ही जातरुओं के रूकने, खाने-पीने और चिकित्सा व्यवस्था संघ की ओर से निशुल्क की जाती है।

15

भजन संध्या
पैदल संघ के घुमटी स्थित छोटा रुणेचा धाम पहुंचने पर भजन संध्या का आयोजन किया गया। भजन संध्या कार्यक्रम में गायक कलाकार रमेश माली ने गुरु वंदना के साथ कार्यक्रम का आगाज किया। इसके बाद हितेश अग्रवाल ने “बाबा रो घोड़ो’, “खम्मा खम्मा ओ रूणेचा रा धणियां’ की दमदार प्रस्तुति दी। इसके बाद भजन कलाकारों ने छोटा रूणेचा में बाबा रामदेव बिराजे, कीर्तन की है रात जैसे बाबा रामदेव के लोकप्रिय भजनों की प्रस्तुति देकर श्रद्धालुओं को झूमने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम में कई श्रद्धालुओं ने गरबा नृत्य का आनंद भी लिया।

दिन में संघ पहुंचता है मोडासा से रामदेवरा

800

किमी का सफर तय करता है संघ

X
Pali - मोडासा से 111 फीट लंबी ध्वजा लेकर पाली पहुंचे पैदल संघ का जगह-जगह स्वागत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..