• Hindi News
  • National
  • Pali News Rajasthan News Blast In Thermopac After A Fierce Fire In Factory At Mandia Road Panic Attack In People With Sharp Bursts

मंडिया रोड पर फैक्ट्री में भीषण आग के बाद थर्मोपैक में ब्लास्ट, तेज धमाके से लोगों में दहशत का माहौल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पाली. मंडिया रोड पर फैक्ट्री में भीषण आग के बाद थर्मोपैक में ब्लास्ट होने के बाद मौके पर जमा भीड़।

3000 लीटर भरा था थर्मोपैक में ऑयल, फटने के बाद चद्दरें टूटकर फैक्ट्री में गिरने से बचा नुकसान बचा
थर्मोपैक में करीब 3000 लीटर ऑयल भरा हुआ था। क्षमता से अधिक स्टीम बन जाने के कारण स्टीम को बाहर निकालने वाली पाइपलाइन में लीकेज हो गया। इससे आग लग गई। आग ने ऑयल टैंक को भी चपेट में ले लिया। इससे तेज ब्लास्ट के साथ वह फट गया। गनीमत रही कि थर्मोपैक के फटने के कारण उसकी लोहे की चद्दर के टुकड़े होकर फैक्ट्री परिसर में ही गिर गए। श्रमिक भी आग के बाद सुरक्षित स्थानों पर चले जाने के कारण बड़ा नुकसान नहीं हुअा। साथ ही थर्मोपैक के फटने के बाद ऑयल एक ही स्थान पर गिरने से आग भी निश्चित स्थान पर ही तेज लपटों के साथ जलती रही।

थर्मोपैक के टुकड़े फैक्ट्री परिसर में ही गिरने से कई दीवारें तथा छत को भी नुकसान पहुंचा

भास्कर संवाददाता | पाली

मंडियारोड पर गुरुवार शाम एक फैक्ट्री के थर्मोपैक (बॉयलरनुमा मशीन) में भीषण आग लगने से तेज विस्फोट के साथ फट गया। गनीमत रही कि थर्मोपैक के टुकड़े फैक्ट्री परिसर में ही गिरने से कई दीवारें तथा छत को भी नुकसान पहुंचा है। थर्मोपैक में हजारों लीटर ऑयल भरा होने के कारण दावानल की तरह आग की लपटें उठती रही। साथ ही पूरे इलाके में दहशत का माहौल बन गया। रात तक माहौल में धुएं का गुबार छाया रहा। रीको तथा नगरपरिषद की तीन दमकलों ने कई राउंड कर आग पर काबू पाया। शुक्र है कि थर्मोपैक के फटने के दौरान कोई श्रमिक पास में नहीं था, वरन् जानमाल की बड़ी क्षति हो सकती थी।

जानकारी के अनुसार मंडिया रोड स्थित धनपति टैक्सटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड में कपड़ों के थान की फिनिशिंग के लिए थर्मोंपैक लगा रखा है। यह थर्मोंपैक ऑयल को गर्मकर कपड़े के थान सुखाने के काम आता है। गुरुवार शाम को फैक्ट्री में थर्मोपैक से जुड़ी स्टीम बनाने वाली पाइपलाइन में लीकेज होने से आग पकड़ ली। आग ने थर्मोपैक के ऑयल टैंक को भी चपेट में ले लिया, जिससे वहां कार्यरत श्रमिकों में हड़कंप मच गया। श्रमिकों ने आग पर काबू पाने के लिए अपने स्तर पर प्रयास किए। तेज आग की लपटों से पूरा थर्मोपैक घर जाने के बाद तेज ब्लास्ट होकर फट गया। फटने की आवाज इतनी तेज थी कि पूरे इलाके में दहशत का माहौल बन गया। ऑयल में आग लग जाने से आग की लपटें तेजी के साथ उठती रही। करीब 25 फीट से भी ज्यादा आग की लपटें उठने से पूरे इलाके में धुएं का गुबार छा गया। मामले की जानकारी के बाद नगरपरिषद तथा रीको से तीन दमकल वाहन लेकर कर्मचारी मौके पर पहुंचे। आग तेज होने के कारण उनको भी आग पर काबू पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। इसके बाद भी दमकल वाहनों में पानी खत्म होने के कारण उनको कई चक्कर लगाने पड़े। इसके बाद आग पर पूरी तरह से काबू पाया गया।

थर्मोपैक में स्टीम पाइपलाइन में लीकेज से लगी आग
थर्मोपैक से जुड़ी हुई स्टीम पाइपलाइन में लीकेज होने के कारण आग लग गई थी। तेज आग हाेने के कारण वह फट गया। ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। दीवारों से थर्मोपैक की चद्दरें जरूर टकराई है। घटना के वक्त कोई श्रमिक भी पास में नहीं था। समय रहते दमकलों ने पहुंचकर आग पर काबू पा लिया। - अमरचंद बोहरा, फैक्ट्री मालिक

खबरें और भी हैं...