• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pali
  • Sadari News rajasthan news buddha purnima will be in the kumbhalgarh sanctuary the calculation of wildlife at 156 water holes

कुंभलगढ़ अभयारण्य में बुद्ध पूर्णिमा को होगी 156 वाटर होल पर वन्यजीवों की गणना

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 10:05 AM IST

Pali News - भास्कर न्यूज | देसूरीसादड़ी कुंभलगढ़ अभयारण्य क्षेत्र में वन्यजीव गणना बुद्ध पूर्णिमा को होगी। हर साल बुद्ध...

Sadari News - rajasthan news buddha purnima will be in the kumbhalgarh sanctuary the calculation of wildlife at 156 water holes
भास्कर न्यूज | देसूरीसादड़ी

कुंभलगढ़ अभयारण्य क्षेत्र में वन्यजीव गणना बुद्ध पूर्णिमा को होगी। हर साल बुद्ध पूर्णिमा पर होने वाली वन्यजीवों की गणना इस बार भी वाटर हाल पद्धति से होगी, जिसमें वन विभाग की ओर से निर्धारित वाटर हॉल पर वनकर्मी लगातार 24 घंटे तक नजर रखेंगे। वाटर हाल पर तैनात वनकर्मी यहां पानी पीने के लिए आने वाले वन्यजीवों की गिनती करेंगे। कुंभलगढ़ अभयारण्य में निर्धारित 156 वाटर हाल पर वनकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। इस बार तीन-चार वाटर हाल पर कैमरा ट्रप लगाए जाएंगे। यह दिन में 100 फीट और रात्रि में 40 से 45 फीट तक दूरी पर वन्यजीवों की हलचल को कैप्चर करेंगे। वहीं प्राकृतिक और कृत्रिम वाटर हॉल के आसपास वनकर्मी के बैठने के लिए पेड़ों पर मचान भी बनाए गए हैं। जहां पर बैठकर वह वन्य जीवों की गणना करेंगे।

देसूरी | अभ्यारण्य में वन्यजीवों की गणना के लिए कैमरा लगाता कार्मिक। फोटो|भास्कर

वाटर हाल पर लगेंगे कैमरा ट्रप

वन्यजीवों की गणना को लेकर इस बार आधुनिक पद्धति का प्रयोग भी किया जा रहा है। जिसमें विभाग की ओर से कैमरा ट्रप तीन से चार वाटर हाल पर लगाए जाएंगे। इन कैमरा ट्रप की विशेषता यह है कि इसके लगाने के बाद किसी प्रकार कोई हलचल नहीं होती है। दिन में 100 फीट तक और रात्रि में 40 से फीट फोटो कैप्चर करता है। रात के अंधेरे में इस कैमरे लगे इन्फ्रा लाइट बेहतर फोटो और वीडियो कैप्चर करेगा।

हर साल बुद्ध पूर्णिमा पर होने वाली वन्यजीवों की गणना इस बार भी वाटर हाल पद्धति से होगी

4 रेंज में 156 वाटर हाल

देसूरी रेंज में 43 वाटर हाल

सादड़ी रेंज में 26 वाटर हाल

बोखाड़ा रेंज में 1 9 वाटर हाल

कुंभलगढ़ रेंज में 68 वाटर हाल

चारों रेंज में यह वन्यजीव देखने को मिलेंगे

कुंभलगढ वन्यजीव अभयारण्य में चार रेंज मौजूद है। इन चारों रेंज में अधिकतर पैंथर, भालू, सियार, खरगोश, जंगली सुअर, नील गाय, चिंकारा, लोमडी, जंगली मुर्गे सहित अन्य वन्य जीव देखने को मिलेंगे।

कुंभलगढ राष्ट्रीय उद्यान में हुई बारिश, मौसम खराब रहा ताे वन्य जीवों की गणना हो सकती है प्रभावित

कुंभलगढ़ राष्ट्रीय उद्यान,परशुराम महादेव व रणकपुर की पहाडिय़ों में शुक्रवार काे बारिश हुई। आसमान में काले बादल भी छाए हुए हैं। राजसमंद के डीएफओ फतेहसिंह राठौड़ ने वन विभाग के उच्चाधिकारियों को बताया कि वन्य जीवों की गणना से एक दिन पहले कुंभलगढ़ राष्ट्रीय उद्यान में जमकर बारिश हुई है तथा जंगल में कई नए प्राकृतिक वाटर हाल में पानी की आवक हुई है। चांद बादलों की ओट में छिपा रहा तो वन्यजीवों की गणना पर प्रभाव पड़ सकता है।

अभ्यारणय में 24 घंटे होगी वन्यजीवों की गणना

बुद्ध पूर्णिमा के दिन वन विभाग द्वारा अभयारण्य में वन्यजीवों की गणना की जाती है। इस बार 18 मई को बुद्व पूर्णिमा है। ऐसे में सुबह 9 बजे वन कार्मिकों द्वारा वाटर हाल पर नजर रखना शुरू करेंगे। जो 19 मई की सुबह 9 बजे तक रखेंगे।

वन्य जीवों की गणना की कार्मिकों को दी जिम्मेदारी


X
Sadari News - rajasthan news buddha purnima will be in the kumbhalgarh sanctuary the calculation of wildlife at 156 water holes
COMMENT