• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pali
  • Pali News rajasthan news business teachers engaged in more than 1800 905 schools in the state did not get salary for 22 months now orders to be removed from the job

प्रदेश में 1800 से अधिक 905 स्कूलों में लगे व्यावसायिक शिक्षकों को 22 माह से नहीं मिला वेतन, अब नाैकरी से हटाने के आदेश

Pali News - राज्य सरकार ने विद्यार्थियों को हुनरमंद बनाने के लिए स्कूली शिक्षा के साथ ही व्यावसायिक शिक्षा लागू की थी। लेकिन...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 10:05 AM IST
Pali News - rajasthan news business teachers engaged in more than 1800 905 schools in the state did not get salary for 22 months now orders to be removed from the job
राज्य सरकार ने विद्यार्थियों को हुनरमंद बनाने के लिए स्कूली शिक्षा के साथ ही व्यावसायिक शिक्षा लागू की थी। लेकिन इसका क्रियान्वयन सही तरीके से नहीं होने से प्रदेश में 905 स्कूलों में लगे व्यावसायिक शिक्षा के प्रशिक्षकों यानी वोकेशनल टीचर्स काे पिछले 22 माह से भुगतान नही हीं मिला है। ऐसे में 1800 से अधिक शिक्षकों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सरकार ने बच्चों को व्यावसायिक शिक्षा मुहैया कराने के लिए 2015 में व्यावसायिक शिक्षा पाठ्यक्रम शुरू किया था। इसमें कक्षा 9वीं से लेकर 12वीं तक के बच्चों को हैल्थ केयर, आईटी, ब्यूटी, वैलनेस, इलेक्ट्रिकल व इलेक्ट्रॉनिक्स ट्रेड की पढ़ाई करवाई जा रही है। प्रदेश में 905 स्कूलों में करीब 1 लाख 52 हजार विद्यार्थी इस कोर्स में पंजीकृत हैं। लेकिन अभी तक इन्हें पढ़ाने वाले शिक्षकों का करोड़ों रुपए का भुगतान बकाया चल रहा है।

पाली में 10 हजार स्टूडेंट्स पंजीकृत

ऑटोमोबाइल्स में छात्र, हैल्थ केयर में छात्राएं, ट्रैवल्स एवं टूरिज्म में छात्राएं, ब्यूटीनेस में छात्राएं, आईटी में छात्र, रिटेल में छात्र-छात्राएं, एग्रीकल्चर में छात्र-छात्राएं, सिक्यूरिटी गार्ड में छात्र-छात्राएं। प्रदेश में वोकेशनल शिक्षा में पंजीकृत छात्र करीब 1 लाख 52 हजार से अधिक हैं। पाली जिले में लगभग 10 हजार विद्यार्थी पंजीकृत हैं।

जिले की 26 स्कूलाें में 52 शिक्षकाें का बकाया
30 जून से नए तरीके से लगाए जाने का फरमान

कपंनियों ने शिक्षकों को पहले का तो भुगतान नहीं किया है। वहीं 30 जून से नए सिरे से वोकेशनल शिक्षक लगाए जाने के आदेश निकाले है। ऐसे में शिक्षा विभाग व सरकार दोनों अाेर से शिक्षकों को राहत नहीं मिल रही है। शिक्षकों को यह चिंता सता रही है कि बकाया भुगतान भी कंपनियां नहीं कर रही है। नए सिरे से वीटी लगाए जाने की बात कर रहे हैं। इससे उनके साथ धोखा हो रहा है। वोकेशनल शिक्षकों ने बताया कि केन्द्र सरकार तो व्यावसायिक शिक्षा को बढ़ावा दे रही है, लेकिन राज्य सरकार के इस ओर कोई ध्यान नहीं देने से यह स्थिति पैदा हो रही है। शिक्षकों को न तो वेतन मिला ना पीएफ के नाम पर उनके वेतन से पैसे काटे जा रहे हैं। ईएसआई की सुविधा नहीं देने के बाद भी इसके पैसे काटे जा रहे हैं। कंपनी के अधिकारी हटाने क धमकी देते हैं।


X
Pali News - rajasthan news business teachers engaged in more than 1800 905 schools in the state did not get salary for 22 months now orders to be removed from the job
COMMENT