त्रिची व पास की सीटों पर नोटबंदी और जीएसटी हिसाब मांग सकते हैं

Pali News - क न्याकुमारी से निकलकर हम त्रिचिल्लापल्ली (ित्रची) पहुंचे। यहां 40 डिग्री की गर्मी। कावेरी ब्रिज के किनारे खड़े...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 05:41 AM IST
Rajasthan News - rajasthan news cancellation and gst calculation on trichy and nearby seats
क न्याकुमारी से निकलकर हम त्रिचिल्लापल्ली (ित्रची) पहुंचे। यहां 40 डिग्री की गर्मी। कावेरी ब्रिज के किनारे खड़े मुथु से नारियल खरीदा। नारियल में पानी इतना कि एक सांस में न पीया जाए...पर अचानक यह क्या...? मुथु के ठीके पीछे तमिलनाडु की लाइफ लाइन कही जाने वाली कावेरी नदी बिल्कुल सूखी...। आिखरी छोर तक सिर्फ रेत। कर्नाटक और तमिलनाडु में टकराव की वजह बनी रही कावेरी का मुद्दा यहां हमेशा हरा रहता है। कावेरी ही है जो पैरम्बलूर और सेलम शहर की प्यास बुझाती है। इतना ही नहीं, तिरुचिरापल्ली, करूर, नामाक्कल और तंजावूर सीट पर पानी ही किसानों के लिए सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा है। यहां करीब 40% वोट शहर और 60% वोट ग्रामीण इलाकों में हैं। विशेषज्ञ मानते हैं कि शहरी युवा का रुझान मोदी की ओर हो सकता है, लेकिन पानी न मिलने से नाराज किसान डीएमके-कांग्रेस गठबंधन की ओर शिफ्ट हो सकते हैं।

त्रिची सांसद पी कुमार (एआईएडीमके) ने बताया कि चुनाव विकास के मुद्दों पर लड़ा जाएगा। वहीं कांग्रेस के शहर अध्यक्ष जवाहर कहते हैं कि हम विकास के मुद्दों पर ही इन्हें घेरेंगे। त्रिची एयरपोर्ट और स्मार्ट सिटी जो प्रस्तावित थे...वे कहां हैं? पानी की कमी से किसानों को दिक्कत हुई...उसे कोई कैसे भूलेगा। फिर भी द हिन्दू के पूर्व पत्रकार वी गनापथी कहते हैं- लोग यहां चेहरे को देखकर वोट देते हैं। मुद्दे चुनाव के वक्त बहुत पीछे हो जाते हैं। करूर के स्मॉल स्केल डिस्ट्रिक्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष कनागसाबपाथी कहते हैं नोटबंदी और जीएसटी से कपड़े का धंधा प्रभावित हुआ है। इसलिए मोदी से नाराजगी दिखती है। असर चुनाव में दिखेगा।

डीएमके को चाहिए वोटरों की करुणा

कन्याकुमारी से त्रिची जाने के रास्ते में माहौल इसी तरह बन रहा है। पोस्टर-बैनर तैयार हो रहे हैं।

यहां मुद्दे क्या हैं? : सवर्ण आरक्षण और नोटबंदी का असर पड़ेगा


पिछली बार का नतीजा : छह सीटें तिरुचिरापल्ली, करूर, पैरम्बलूर, नामाक्कल, सेलम और तंजावूर एआईएडीएमके के पास हैं। अब चूंकि यहां भाजपा के साथ उसका गठबंधन है, इसलिए ये मिलकर लड़ेंगे।

जातियों का गणित : यहां ओबीसी वोटर ही डिसाइडिंग फैक्टर है। 70 से 75% वोट इन्हीं के हैं। इनके अलावा 15% वोट ब्राह्मणों और सवर्णों के हैं।

मौजूदा गणित? : निर्मला सीतारमन यहां युवाओं में लोकप्रिय



X
Rajasthan News - rajasthan news cancellation and gst calculation on trichy and nearby seats
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना