• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pali
  • Bar News rajasthan news cash crisis in the un 39 storey escalator to save money lift ac closed late night meetings banned

यूएन में नकदी संकट; पैसा बचाने के लिए 39 मंजिला मुख्यालय का एस्केलेटर, लिफ्ट-एसी बंद, देर रात की बैठकों पर रोक लगाई

Pali News - संयुक्त राष्ट्र | संयुक्त राष्ट्र (यूएन) नकदी की भारी कमी यानी अार्थिक संकट से गुजर रहा है। सदस्य देशाें द्वारा...

Oct 13, 2019, 07:05 AM IST
संयुक्त राष्ट्र | संयुक्त राष्ट्र (यूएन) नकदी की भारी कमी यानी अार्थिक संकट से गुजर रहा है। सदस्य देशाें द्वारा अपने िहस्से की राशि का भुगतान नहीं किए जाने से यह स्थिति बनी है। हालात ये हैं कि पैसा बचाने के लिए यूएन खर्चों में भारी कटाैती करने जा रहा है। 39 मंजिला यूएन मुख्यालय में बिजली की खपत कम करने के लिए एस्केलेटर्स, एसी, हीटर अाैर एसी वाले लिफ्ट का उपयाेग बंद करने काे कहा गया है। देर रात चलने वाली बैठकाें, रात में रिसेप्शन अाैर मुख्यालय के बाहर लगे फाउंटेन अभी बंद कर दिए गए हैं। साथ ही नई भर्तियाें अाैर ठेकाें पर भी राेक लगेगी। यह 14 अक्टूबर से अगले अादेश तक लागू रहेगा। यूएन महासचिव एंटाेनियाे गुटेरेस ने यूएन से सभी कार्यालयाें काे खर्चाें में कटाैती करने अाैर अापातकालीन उपाय अपनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी विभागाें, मिशनाें अाैर यूएन कार्यालयाें के प्रमुखाें काे इस बारे में चिट्ठी लिखी है। गुटेरेस ने पिछले दिनाें कहा था कि सदस्य देशाें खासकर अमेरिका, ब्राजील की अाेर से अपने हिस्से की राशि का भुगतान नहीं किए जाने से यूएन नकदी की संकट से गुजर रहा है। इस कारण यूएन मूलभूत सुविधाएं पूरी नहीं कर पा रहा है। एेसा ही रहा ताे कर्मचारियाें काे वेतन देना भी मुश्किल हाे जाएगा।

कर्मचारियाें के वेतन जुटाने की व्यवस्था कर रहे: यूएन के अधिकारियाें ने कहा है कि वे अपने 37 हजार कर्मचारियों के वेतन की व्यवस्था करने की कोशिशों में जुटे हैं। संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुटेरेस ने इस संबंध में कर्मचारियों को एक चिट्ठी भी लिखी है। इसमें कहा गया है कि यूएन पिछले एक दशक में सबसे बड़े अार्थिक संकट से जूझ रहा है। इसके चलते महीने के अंत में स्टाफ और वेंडर्स को भुगतान में दिक्कत आ सकती है।

दैनिक भास्कर से विशेष अनुबंध के तहत

खर्च में कटाैती के लिए ये कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं

यूएन मुख्यालय के बाहर बंद पड़े फाउंटेन।





सात देश- अमेरिका, ब्राजील, अर्जेंटीना, मैक्सिको, ईरान, इजरायल और वेनेजुएला ने अपने हिस्से की 97 प्रतिशत राशि का भुगतान नहीं किया है।

अमेरिका पर 7105 कराेड़ रुपए बकाया

यूएन प्रबंधन की प्रमुख कैथरीन पोलार्ड ने महासभा की बजट समिति को जानकारी दी है कि कुल 193 सदस्य देशाें में से 65 ने यूएन में अपने हिस्से की करीब 9,847 कराेड़ रुपए का भुगतान नहीं किया है। अकेले अमेरिका पर 7,105 कराेड़ रुपए बकाया है। 128 देशों ने 4 अक्टूबर तक यूएन काे करीब 14,138 कराेड़ रुपए दिए हैं। इसी से यूएन अपनी गतिविधियां संचालित करता है। भुगतान नहीं होने से हर साल हालात खराब हाेते जा रहे हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना