• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Pali
  • Rajasthan News rajasthan news every writer39s stories have a different scent the best story is one that does not leave the reader chased till the end vyas

हर लेखक की कहानियों की खुशबू अलग होती है, बेहतरीन कहानी वो है जो पाठक का अंत तक पीछा नहीं छोड़ती: व्यास

Pali News - साहित्यिक संस्था सृजना की ओर से रविवार को महात्मा गांधी विद्यालय में कथा विमर्श कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसके...

Nov 18, 2019, 10:45 AM IST
Rajasthan News - rajasthan news every writer39s stories have a different scent the best story is one that does not leave the reader chased till the end vyas
साहित्यिक संस्था सृजना की ओर से रविवार को महात्मा गांधी विद्यालय में कथा विमर्श कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसके तहत वरिष्ठ कथाकार प्रेमप्रकाश व्यास की कहानियों पर चर्चा की गई। कार्यक्रम के आरंभ में कथाकार व्यास ने अपनी बात रखते हुए कहा कि हर लेखक की कहानियों की खुशबू अलग होती है। हर पाठक को वे अलग तरह से छूती हैं। बेहतरीन कहानी वही होती है जो आपका पीछा नहीं छोड़ती। मैं क्यों लिखता हूं? इस सवाल के जवाब में उन्होंने अपनी कविता तितलियां सुनाईं।

कथाकार व्यास

कहानियां मनोविज्ञान के धरातल पर खरी उतरती है

सृजना की ओर से डॉ. हरिदास व्यास ने कहा कि वस्तुतः कथाकार प्रेमप्रकाश व्यास की दोनों कहानियां मनोविज्ञान के धरातल पर खरी उतरती है। दशरथ सोलंकी, अरविंद पुरोहित, अशोक माथुर, डॉ. निसार राही, डॉ. फतेहसिंह भाटी, प्रमोद शाह, डॉ. इश्राकुल माहिर, हितेश व्यास, गौतम गट्स ने विमर्श को आगे बढ़ाया। कार्यक्रम में शीन काफ निज़ाम, सुषमा चौहान, डॉ. चांदकौर जोशी, प्रो. कौशलनाथ उपाध्याय, विमल मेहरा, योगेंद्र दवे, डॉ. नीना छिब्बर, डॉ. उषा माहेश्वरी, मजाहिर सुल्तान ज़ई, डॉ. हितेंद्र गोयल, नफासत अहमद, डॉ. एसपी रंगा, दीप्ति कुलश्रेष्ठ, ब्रजेश अंबर, कैलाश कबीर, वाजिद हसन काज़ी, डॉ. हितेश पुरोहित, प्रो. आरके गोयल आदि मौजूद थे। संचालन हरिप्रकाश राठी ने किया।

कथाकार व्यास ने अपने रचना संसार का विजन बताया। बड़ी संख्या में साहित्यकार मौजूद थे।

कहानियां मनोविज्ञान के धरातल पर खरी उतरती है

सृजना की ओर से डॉ. हरिदास व्यास ने कहा कि वस्तुतः कथाकार प्रेमप्रकाश व्यास की दोनों कहानियां मनोविज्ञान के धरातल पर खरी उतरती है। दशरथ सोलंकी, अरविंद पुरोहित, अशोक माथुर, डॉ. निसार राही, डॉ. फतेहसिंह भाटी, प्रमोद शाह, डॉ. इश्राकुल माहिर, हितेश व्यास, गौतम गट्स ने विमर्श को आगे बढ़ाया। कार्यक्रम में शीन काफ निज़ाम, सुषमा चौहान, डॉ. चांदकौर जोशी, प्रो. कौशलनाथ उपाध्याय, विमल मेहरा, योगेंद्र दवे, डॉ. नीना छिब्बर, डॉ. उषा माहेश्वरी, मजाहिर सुल्तान ज़ई, डॉ. हितेंद्र गोयल, नफासत अहमद, डॉ. एसपी रंगा, दीप्ति कुलश्रेष्ठ, ब्रजेश अंबर, कैलाश कबीर, वाजिद हसन काज़ी, डॉ. हितेश पुरोहित, प्रो. आरके गोयल आदि मौजूद थे। संचालन हरिप्रकाश राठी ने किया।

दो चर्चित कहानियां

गांव-शहर के किरदार जीवंत हुए

पेमेंट | नर्मदाप्रसाद गांव में अपनी प|ी, बच्चे, पिता आदि को छोड़ कर न केवल शहर में नौकरी हासिल कर बस गया, अपितु उसने वहां दूसरी शादी भी कर ली। अपने अपराध-बोध से मुक्ति पाने के लिए वह अपने मित्र को गांव में उसके परिवार को देने के लिए पैसों का लिफाफा देता है। एकल संवाद शैली में यह कहानी लेखकीय दखल से खुद को बचा ले जाती है।

ककून | एक ऐसी विदेशी स्त्री की कहानी है, जिसकी लड़की ने एक हिंदुस्तानी लड़के से विवाह कर भारत के ही एक छोटे से कस्बे में बस गई है। बस की यात्रा में उसका परिचय लेखक से होता है तो वह अपने ककून से बाहर आने लगती है। परंतु पुरुष स्वयं के “ककून’ से बाहर नहीं आ पाता। कहानी एक अनकही कशिश के साथ खत्म होती है।

Rajasthan News - rajasthan news every writer39s stories have a different scent the best story is one that does not leave the reader chased till the end vyas
X
Rajasthan News - rajasthan news every writer39s stories have a different scent the best story is one that does not leave the reader chased till the end vyas
Rajasthan News - rajasthan news every writer39s stories have a different scent the best story is one that does not leave the reader chased till the end vyas
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना