पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Pali News Rajasthan News Mini Ground Water Recharge System Built In Pans Campus Rain Water Going Straight Into The Ground

पंस परिसर में बनाया मिनी ग्राउंड वाॅटर रिचार्ज सिस्टम, सीधे जमीन में जा रहा बारिश का पानी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घटते भूजल स्तर को बढ़ाने और बारिश का पानी जमीन में पहुंचाने को लेकर प्रशासन ने पाली पंचायत समिति में मिनी ग्राउंड वॉटर रिचार्ज सिस्टम तैयार किया है। इस सिस्टम के जरिए बारिश में छत से बहने वाले पानी को सीधा जमीन में डालकर रिचार्ज किया जा रहा है। इस पूरे प्रोजेक्ट में करीब 10 से 15 हजार का खर्च आया है। जिला परिषद सीईअाे हरिराम मीणा ने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर पाली पंचायत समिति में नरेगा के कनिष्ठ तकनीक सहायक आसिफ मोहम्मद ने यह सिस्टम तैयार किया है। इसमें छत के नालों को पीवीसी पाइप से जोड़ा जमीन तक लाया गया। बाद में जमीन में 7 फीट तक गड्ढा खोदकर करीब 5 से 6 फीट के 50 से 60 छेद वाले दो ड्रम डाले गए। इसके बाद ड्रम में नीचे की तरफ कंकरीट की परत और उसके ऊपर बजरी परत बिछाई गई। ड्रम के ढक्कन पर भी पाइप जोड़ने के लिए बड़ा छेद कर उसमें छत से जमीन तक पहुंचे पाइप को फीट किया गया। साथ ही ड्रम के आस पास मिट्टी से ढक दिया। इससे छत से जमीन पर पाइप के जरिए पहुंचने वाला पानी सीधा जमीन में पहुंचाया जा रहा है।

पाली. ग्राउंड वाॅटर रिचार्ज का सिस्टम तैयार करते कर्मचारी।

मुंबई के प्रोफेसर ने यूट्यूब पर डाला था प्रोजेक्ट

मुंबई के शुभजीत मुखर्जी द्वारा पीवीसी पाइप व ड्रम के जरिए तैयार किए मिनी ग्राउंड वॉटर रिचार्ज सिस्टम का यूट्यूब पर वीडियो अपलोड किया। पाली कलेक्टर को जल शक्ति अभियान के तहत मिली इस वीडियो को देखकर पाली में भी ऐसा सिस्टम लागू करने को लेकर पाली पंचायत समिति में एक प्रोजेक्ट तैयार करवाया है। यह प्रोजेक्ट पूरी तरह बनकर तैयार हो चुका है। बताया जाता है जल्द ही यह प्रोजेक्ट सरकारी स्कूलों, भवनों व अन्य जगहों पर भी लगाए जाएंगे।

कम खर्चे में सिस्टम तैयार करवाया है

भूजल स्तर बढ़ाने को लेकर पंचायत समिति में मिनी ग्राउंड वॉटर रिचार्ज सिस्टम तैयार करवाया गया है। इसमें बहुत कम लागत है। पंचायत समिति स्तर पर ऐसे प्रोजेक्ट तैयार करवाए जाएंगे। आमलोगों से भी अपील की जाएगी कि वे ऐसे सिस्टम अपने घर के आस पास भी लगाए, जिससे बारिश का पानी सीधा जमीन में पहुंचकर जलस्तर को बढ़ाए। दिनेशचंद जैन, कलेक्टर

खबरें और भी हैं...