पाली काे मिल सकती है 12 से ज्यादा नई ग्राम पंचायतें व एक पंचायत समिति

Pali News - राज्य सरकार ने नगर निकायाें के बाद अब पंचायतीराज संस्थाअाें के पुनर्गठन व परिसीमन के अादेश जारी कर दिए। 2014 में...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 10:05 AM IST
Pali News - rajasthan news more than 12 new gram panchayats and one panchayat samiti
राज्य सरकार ने नगर निकायाें के बाद अब पंचायतीराज संस्थाअाें के पुनर्गठन व परिसीमन के अादेश जारी कर दिए। 2014 में भाजपा की सरकार ने 1991 के बाद पंचायतीराज संस्थाअाें का पुनर्गठन कराया था। इसमें पाली जिले काे एक नई ग्राम पंचायत बासाेर मिली थी। इस बार राज्य सरकार की अाेर से नियमाें में राहत भी दी गई है। एेसे में पाली में इस बार कई नई ग्राम पंचायताें का गठन हाे सकता है। वर्तमान मंे जिले में 321 ग्राम पंचायते हैं। एेसे मंे नई ग्राम पंचायतें बनाने से लेकर सीमांकन या पुनर्गठन काे लेकर भी इस बार अादेश जारी किए गए हैं। जिले में 59 ग्राम पंचायताें का टूटना तय है। इन ग्राम पंचायताें के अधीन अाने वाले गांवाें में से नई ग्राम पंचायताें का गठन हाेगा। अन्य ग्राम पंचायताें मंे शामिल हाेगी। जनवरी-फरवरी 2020 में पंचायतीराज संस्थाअाें के चुनाव प्रस्तावित है। एेसे में सितंबर तक इसकी पूरी प्रक्रिया भी हाे जाएगी।

नई ग्राम पंचायताें के प्रस्ताव के लिए यह 4 शर्तें जरूरी





पंचायत समिति के लिए यह शर्तें अावश्यक

पहली : 40 या अधिक ग्राम पंचायताें की संख्या, 2 लाख से अधिक अाबादी ताे पुनर्गठन, पंचायत समिति में न्यूनतम 25 ग्राम पंचायतें।

दूसरी : काेई भी ग्राम पंचायत दाे पंचायत समितियाें के अधीन विभाजित नही हाेगा।, यानी, पूरी ग्राम पंचायत एक ही पंचायत समिति में हाेगी।

तीसरी : पंचायत समिति में वार्डाे की संख्या न्यूनतम 15 हाेगी

यह कार्यक्रम




जिले में वर्तमान में 321 ग्राम पंचायतें हैं। इन ग्राम पंचायताें में से 1033 राजस्व गांव शामिल हैं।

पंचायत समिति ग्राम पंचायत राजस्व गांव

पाली - 23 83

राेहट - 23 82

साेजत 38 123

मारवाड 48 160

रायपुर 35 141

जैतारण 33 113

बाली 39 111

रानी 29 76

देसूरी 24 78

सुमेरपुर 29 66

जिले में 35 गांवाें की जनसंख्या 4 हजार से अधिक

जिले में ग्राम पंचायतें : 321

जिले में पंचायत समिति : 10

राजस्व गांव : 1033

2014 के पुनर्गठन में जिले काे मिली एक नई ग्राम पंचायत (बासाेर)

जिले में 59 ग्राम पंचायताें की जनसंख्या 6500 से अधिक, यानी इनमंे से गांव अलग कर हाे सकती है नर्ई ग्राम पंचायत : देसूरी 10377, घाणेराव 9212, नाडाेल 9361, नारलाई 6713, दयालपुरा 6921, हेमावास 7412, मुंडारा 7896, सेवाडी 9415, बेडा 11767, नाना 13369, भीमाणा 10328, काेयलवा 6557, बीजापुर 10738, भंदर 7293, दूदनी 6503, काकराडी 6540, जाेजावर 7428, बाेरीमादा 7342, जाडन 7039, कंटालिया 8561, मारवाड़ 12021, सेंदडा 7275, चिताड़ 7828, प्रतापगढ़ 7207, सुमेल 8636, बर 8983, चांग 7951, गिरी 7954, पिपलिया कंला 7133, कुशालपुरा 8213, रायपुर 17331, चाेटिला 7111, कलाली 7164, कुलथाना 7160, राेहट 10791, वायद 6951, एरनपुरा 7790, गाेगरा 6992, काेलीवाडा 7908, काेसेलाव 7561, पावा 6516, पाेमावा 7177, सांडेराव 8075, अानंदपुर कालू 12867, कुडली 8252, डिगराना 8857, निमाज 16515, बलुंदा 7372, बलाडा 7335, भुबंलिया 6833, राबडियावास 9499, रास 9511, लांबिया 8385, सेवारिया 6701, चंडावल नगर 7017, बगडी नगर 10494, साेजत राेड 13571 व खाैड 6800.

इस बार एक पंचायत समिति का गठन अाैर हाे सकता है : मारवाड़ जंक्शन पंचायत समिति में वर्तमान में 48 ग्राम पंचायतें हैं। नए नियमाें के तहत 40 से अधिक ग्राम पंचायतें एक पंचायत समिति में नही हाे सकती है। एेसे में मारवाड़ जंक्शन की कुछ ग्राम पंचायताें काे अलग कर अाैर साेजत के कुछ ग्राम पंचायताें काे मिलाकर एक नई पंचायत समिति का गठन किया जा सकता है।

35 गांवाें की जनसंख्या 4 हजार से अधिक व 6500 से कम, इसमें ज्यादातर यथावत रहेगी

गुंदाेज 5157, गुडा एंदला 4023, हेमावास 4012, खैरवा 5500, खीमेल 4272, लुणावा 5724, बिसलपुर 5520, भाटूंद 5178, काेयलावाव 5009, अाउवा 4122, बांता 4602, मांडा 4038, राणावास 4308, बाबरा 4124, देवली कलां 6434, कानूजा 4121, झूंठा 4086, बांकली 5858, चाणाैद 5644, दुजाना 5799, बलवाना 4697, खिवांदी 5535, बलाना 4325, भारुंदा 4070, नाैवी 4260, कुडकी 4132, निंबाेल 5431, बलाडा 6214, राबडियावास 5380, अटबडा 5939, सांडिया 4136, बिजाेवा 5759, चांचाेडी 4212, खिंवाडा 5799, रानी गांव 4705

227 ग्राम पंचायतें एेसी है जिनकी जनसंख्या 4 हजार से कम

जिले मंे 321 ग्र्राम पंचायताें मंे से 227 ग्राम पंचायते एेसी है। जिनकी जनंसख्या 4 हजार से कम है। एेसे में इन ग्राम पंचायताें में अन्य गांवाें काे जाेडा जा सकता है। या फिर हटाया जा सकता है। 2014 में 5 नई ग्राम पंचायताें व 9 के पुनर्गठन के प्रस्ताव भेजे थे। इसमें एक ही नई ग्राम पंचायत गठित हुई थी।

किसी गांव की जनसंख्या 4 हजार है ताे नई पंचायत के लिए भेजा जाएगा प्रस्ताव : राजस्थान में पंचायतीराज संस्थाओं का पुनर्गठन 2014 में किया गया था। इससे पहले 1991 में किया गया था, जिसमें 1981 की जनगणना को आधार बनाया गया था। इसके तहत ग्राम पंचायत के लिए कम से कम दो हजार और अधिकतम पांच हजार की जनसंख्या को आधार माना गया था। साथ ही पंचायत मुख्यालय से अंतिम छोर के गांव की दूरी आठ किमी तय की गई थी। एक पंचायत में अधिकतम 15 वार्ड तय किए गए थे।

2014 में यह था परिसीमन का अांकडा इसलिए, सिर्फ एक ही पंचायत बनी : 2014 में भाजपा सरकार ने परिसीमन कराया। इस पर न्यूनतम 5 हजार की जनसंख्या रखी गई। वही अधिकतक 7 हजार 500 की जनसंख्या काे अाधार माना गया।

X
Pali News - rajasthan news more than 12 new gram panchayats and one panchayat samiti
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना