• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pali
  • Pali News rajasthan news municipal council board meeting today mohar will be engaged on the formation of committees finalized the lists till late night

नगरपरिषद बोर्ड की बैठक आज, कमेटियों के गठन पर लगेगी मोहर, देर रात तक सूचियों को अंतिम रूप दिया

Pali News - नगरपरिषद बोर्ड की साधारण सभा शनिवार को होगी। इसमें कमेटियों के गठन को मंजूरी दिलाने समेत कई मुद्दों पर विस्तृत...

Feb 15, 2020, 10:40 AM IST
Pali News - rajasthan news municipal council board meeting today mohar will be engaged on the formation of committees finalized the lists till late night

नगरपरिषद बोर्ड की साधारण सभा शनिवार को होगी। इसमें कमेटियों के गठन को मंजूरी दिलाने समेत कई मुद्दों पर विस्तृत रूप से चर्चा की जाएगी। भाजपा शासित बोर्ड का फोकस कमेटियों को बहुमत के आधार पर मंजूरी दिलाने पर रहेगा। नवनिर्वाचित बोर्ड को अपने गठन के 90 दिन बाद कमेटियों का गठन करना अनिवार्य है। इस अवधि में नहीं करने पर यह अधिकार राज्य सरकार के पास चला जाता है। प्रदेश में कांग्रेस सरकार होने के कारण विधायक-चेयरमैन कोई रिस्क नहीं लेना चाहते। इसके चलते शुक्रवार देर रात तक विधायक ज्ञानचंद पारख की अगुवाई में जुटे चेयरमैन रेखा-राकेश भाटी तथा कई वरिष्ठ नेताओं में देर रात तक मशक्कत जारी रही। महत्वपूर्ण कमेटियों में बागी जीते पार्षदों को बोर्ड बनाने में सहयोग देने पर इनाम देने की पूरी कोशिश की जा रही है। जानकारी के अनुसार परिषद के कामकाज को सुचारू रूप से करने के लिए 90 दिन में ही 7 कमेटियों का गठन करना जरूरी है। ऐसे में भाजपा ने कमेटियों गठन की प्रक्रिया काफी दिनों से शुरू कर दी थी। इसके लिए शनिवार को बैठक बुलाने का एजेंडा भी पार्षदों को 6 दिन पहले ही भेज दिया गया।

बैठक में इन कमेटियाें के गठन की संभावना, जानिए कमेटियों के कार्य के बारे में

1. स्वास्थ्य एवं स्वच्छता-सफाई कमेटी : शहर की सफाई व्यवस्था पर पूरी मॉनिटरिंग, बीमारियों की रोकथाम, अपशिष्ट प्रबंधन, जल-निकासी, वेस्ट का निस्तारण।

2. वित्त कमेटी : विकास कार्य तथा अन्य वित्त संबंधी कार्यों की मंजूरी प्रदान करना। इनके बिल की भी मंजूरी प्रदान करनी होती है।

3. गंदी बस्ती सुधार समिति : बस्तियों में आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना।

4. अपराधों का शमन आैर समझौता समिति : भवन निर्माण के दौरान अनियमितताओं को कंपाउंड करने आैर ऐसे निर्माण के खिलाफ फैसले लेने का अधिकार।

5. नियम व उपनियम समिति : नगर परिषद के नियमाें में परिवर्तन करना, संशाेधित करना सहित अन्य उपनियम संबंधी कार्याे काे देखना।

6. भवन निर्माण व संकर्म समिति : भवन निर्माण की स्वीकृति, देखरेख, इसके साथ अन्य निर्माण संबंधी विभिन्न कार्याे काे देखना।

7. कार्यपालक समिति : यह लगभग सभापति के पास ही रहती है। इसमें महत्वपूर्व कमेटी है। कार्य भी हाेते हैं। सभी कमेटियां के सदस्य भी इसमें शामिल हाेते है। नेता प्रतिपक्ष भी इसमें शामिल हाेता है।

भाजपा के पाले में आने का भी मिलेगा इनाम

चुनाव में टिकट नहीं मिलने से बागी बने भाजपा नेता खुद तथा प|ी को चुनाव जिताने में कामयाब रहे थे। इन नेताओं ने अपना समर्थन भाजपा का बोर्ड बनवाने में ही दिया था। इसके चलते माना जा रहा है कि तीन कमेटियों में इन पार्षदों का दबदबा हो सकता है। कमेटियों का चेयरमैन बनाकर इनाम भी दिया जा सकता है।

संगठन से भी मांगे 6-6 कार्यकर्ताअाें के नाम

सदस्य बनाने के लिए संगठन से भी तीनों मंडलों से 6-6 सक्रिय कार्यकर्ताअाें के नाम मांगे हैं। उनकाे भी कमेटियाें में सदस्य बनाया जा सकता है। एेेसे में भाजपा के तीनाें मंडलाें के सक्रिय कार्यकर्ताअाें काे इसमें जगह मिल सकती है।

ये भाजपा पार्षद भी कमेटी चेयरमैन के लिए


ललित प्रितमानी : उपसभापति हाेने के चलते कमेटी मिलना तय

राधेश्याम चाैहान : वरिष्ठ पार्षद हाेने के साथ जिम्मेदारी दी जा सकती है

राकेश भाटी : प|ी चेयरमैन। कमेटी में सदस्य का पद ही मिलेगा।

नगरपालिका अधिनियम : 90 दिन में कमेटियां बनानी जरूरी, नहीं तो सरकार के पाले में जाएगी गेंद

नगरपालिका अधिनियम में नवनिर्वाचित निकाय को अपने गठन के 90 दिन बाद ही कमेटियों का गठन करना जरूरी होता है। इसे बोर्ड की बैठक में बहुमत से मंजूर कराना भी अनिवार्य है। अगर निर्धारित अवधि कमेटियों का गठन नहीं होता तो इसके बाद राज्य सरकार अपने स्तर पर ही कमेटियों का गठन कर देती है। गत भाजपा शासित बोर्ड में पूर्व चेयरमैन महेंद्र बोहरा ने प्रदेश में भाजपा सरकार होने के कारण अपने निर्वाचन के एक साल बाद कमेटियों का गठन कराया था। इस बार प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है। वहीं बोर्ड भाजपा का है, ऐसे में विधायक-चेयरमैन दोनों ही अपने स्तर पर ही मनमर्जी की कमेटियां बनाने पर जोर दे रहे हैं, ताकि सरकारी हस्तक्षेप नहीं हो।

48 बिंदुओंं पर हाेगी चर्चा

परिषद बोर्ड के साधारण सभा की पहली बैठक 15 फरवरी दोपहर 3 बजे नगर परिषद सभागार में सभापति रेखा भाटी की अध्यक्षता में होगी। बैठक में सभापति ने कुल 48 प्रस्ताव शामिल किए हैं, जिसमें लीज पर भूमि देने, भूखंड विभाजन, पट्टे देने, कर्मचारियों की पदोन्नति, पशु एंबुलेंस क्रय करने, मॉडल मैरिज गार्डन उपनियम पर विचार समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के बाद पारित किया जाएगा। मानपुरा भाखरी, पाली चक नंबर 2 में फार्म हाउस बनाने, मंडली खुर्द में खाली जमीन पर आवासीय योजना बनाने, शेखों की ढाणी में फार्म हाउस योजना बनाने, महादेव बगीची के सामने नंदीशाला के पास खाली जमीन पर योजना बनाने सहित अन्य विकास कार्यों पर विचार किया जाएगा।

विधायक की राय रहेगी महत्वपूर्ण

कमेटियों के गठन में सबसे महत्वपूर्ण राय विधायक पारख की मानी जा रही है, क्योंकि भाजपा बोर्ड बनाने के लिए टिकट वितरण से लेकर चेयरमैन चुनाव में वे अकेले ही रणनीतिकार थे।


निर्दलीयों में से मिल सकती है कमेटियाें की कमान

फुली देवी, हीना-कांतिलाल वैष्णव, महेंद्र वैष्णव, दिलीप चाैधरी, नरेश मेहता व दीपाराम राव काे भी कमेटी में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिलने की पूरी उम्मीद जताई जा रही है।

विकास बुबकिया : पिछले बाेर्ड में भी कमेटी के अध्यक्ष थे। इस बार भी शामिल किया जा सकता है।

गणपत मेघवाल : वरिष्ठ पार्षद हाेने के चलते इनकाे भी कमेटी में जगह मिल सकती है।

X
Pali News - rajasthan news municipal council board meeting today mohar will be engaged on the formation of committees finalized the lists till late night
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना