प्याज की स्टॉक सीमा 50% घटाई, राज्यों को निगरानी के निर्देश दिए

Pali News - केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने सभी राज्यों में थोक व्यापारी के लिए प्याज की स्टॉक सीमा को 50 फीसदी...

Dec 04, 2019, 11:45 AM IST
केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने सभी राज्यों में थोक व्यापारी के लिए प्याज की स्टॉक सीमा को 50 फीसदी घटाकर 25 टन कर दिया है। वहीं, खुदरा व्यापारी पांच टन प्याज का स्टॉक ही कर सकेंगे। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है। आयातकों पर स्टॉक सीमा लागू नहीं होगी। सरकार ने प्याज के आसमान छूते दाम को थामने के लिए यह कदम उठाया है। इससे पहले 30 सितंबर को केंद्र सरकार ने थोक एवं खुदरा व्यापारियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा तय कर दी थी। इसके अनुसार थोक व्यापारियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा 50 टन, जबकि खुदरा कारोबारियों के लिए पांच टन थी। काबिलेगौर है कि देश के विभिन्न शहरों में प्याज के दाम 80 से 130 रुपए किलो है।

केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय में सचिव अविनाश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में प्याज की महंगाई पर नियंत्रण रखने के लिए कई अहम फैसले लिए गए। मंत्रालय ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर प्याज की मांग और आपूर्ति की जिलास्तर पर निगरानी करने को कहा गया है। जिला स्तर पर प्याज की स्टॉक की रिपोर्ट रोजाना तैयार करने का निर्देश दिया गया है। मतलब जिले में किस व्यापारी के पास प्याज का कितना स्टॉक है, इसकी जानकारी मंत्रालय को दी जाएगी। साथ ही राज्य सरकारों को प्याज की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई को कहा है।





केंद्र सरकार ने प्याज उत्पादक बाजारों से प्याज की खरीद कर गैर-उत्पादक बाजारों पहुंचाने की व्यवस्था करने के लिए नैफेड को एक रोडमैप तैयार करने को कहा है।

गौरतलब है कि इस साल मानसून सीजन के आखिर में हुई भारी बारिश के कारण देश के सबसे बड़े प्याज उत्पादक राज्य महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों में प्याज की फसल खराब हो गई, जिसके चलते देशभर में प्याज की किल्लत हो गई है। देश में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने और कीमतों को काबू करने के लिए केंद्र सरकार ने एक के बाद एक कई फैसले लिए हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना