सलेक्शन तो तय था...लेकिन टॉप करूंगा इस बारे में सोचा नहीं था

Pali News - राजस्थान हाईकोर्ट की ओर से आयोजित आरजेएस-2018 के परीक्षा परिणाम में जयपुर ने बाजी मारी है। प्रदेश में मयंक प्रताप...

Nov 21, 2019, 07:02 AM IST
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
राजस्थान हाईकोर्ट की ओर से आयोजित आरजेएस-2018 के परीक्षा परिणाम में जयपुर ने बाजी मारी है। प्रदेश में मयंक प्रताप सिंह ने पहला और तनवी माथुर ने दूसरा स्थान प्राप्त कर जयपुर का नाम रोशन किया है। मयंक ने 197 अंक और तनवी ने 187.5 अंक प्राप्त किए। तनवी ने महिलाओं में प्रथम स्थान प्राप्त किया। दोनों ने ही कड़ी मेहनत को इस सफलता का श्रेय दिया है। दोनों ही अदालतों में पेडिंग पड़े केस को लेकर चिंतित है और वे इनके जल्दी निपटारे की दिशा में काम करना चाहते हैं। ताकि गरीबों को समय पर न्याय मिल सके।

बचपन से ही घर के माहौल ने मुझे प्रेरित किया


परीक्षा कोई भी हो...लगन, ईमानदारी और मेहनत जरूरी : मयंक

मानसरोवर निवासी मयंक प्रताप सिंह शुरू से ही मेहनती रहे हंै। इसी का परिणाम है कि आरजेएस में प्रथम स्थान प्राप्त कर मयंक ने परिवार का नाम रोशन किया है। मयंक ने इसी साल राजस्थान विश्वविद्यालय से फाइव ईयर लॉ उत्तीर्ण की है। टॉप करने के बारे में मयंक का कहना है सलेक्शन तो तय था लेकिन टॉप करूंगा...सोचा नहीं था। मयंक के पिता राजकुमार सिंह और माता डॉ. मंजू सिंह अध्यापक हैं। मयंक के लिए यह उपलब्धि इसलिए भी खास है कि उसके परिवार में लीगल फील्ड में जाने वाला वह पहले व्यक्ति हैं।

लॉ की पढ़ाई के दौरान जज बनने का फैसला किया


-कीर्तिका शेखावत, आरजेएस रैंक-5

न्याय की देवी बनने का सपना पूरा : तनवी

जयपुर निवासी उमेश माथुर की बेटी तनवी माथुर ने आरजेएस परीक्षा में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। तनवी बचपन से ही न्याय की देवी बनने का सपना देखा करती थीं। इस परीक्षा में चयन के साथ ही उसका सपना पूरा हो गया। तनवी ने बताया कि परीक्षा की तैयारी के समय पूरे परिवार का सहयोग मिला। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश की अदालतों में कई सालों से केस पेंडिंग पड़े हैं। इनका निस्तारण होना चाहिए। लोगों को लोक अदालत की जानकारी नहीं है। लोगों को इसके लिए जागरुक होना पड़ेगा और उनको कानून प्रक्रिया की जानकारी होनी चाहिए। तनवी ने बताया कि तनवी ने शुरू से ही लक्ष्य बना लिया था। इसी को ध्यान में रखकर दिनरात मेहनत की। स्कूल, कॉलेज में शिक्षकों ने भी अच्छा सहयोग किया।





तानवी का कहना है कि सफल होने के लिए कॉलेज स्तर पर तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

पिता व भाई से मुझे जज बनने की प्रेरणा मिली






कोशिश करती ज्यादा से ज्यादा पढूं, कभी आठ घंटे पढ़ाई करती तो मुझे बहुत खुशी होती, क्योंकि आैसतन दिन में सात घंटे पढ़ाई करती थी।

Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
X
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
Bar News - rajasthan news selection was certain but i will not top it
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना