नृसिंह चतुर्दशी पर कष्ट मिटाने के लिए लोगों ने हिरण्यकश्यप और बादरिया से खाए कोड़े

Pali News - कस्बे में नृसिंह चतुर्दशी का पर्व परम्परागत तरीके से बादरिया और हिरण्यकश्यप के मुखौटे लगाकर शुक्रवार को मनाया...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:51 AM IST
Dhanerav News - rajasthan news to remove the misery on nrusinh chaturdasi people eat harekshyapas and bariaris
कस्बे में नृसिंह चतुर्दशी का पर्व परम्परागत तरीके से बादरिया और हिरण्यकश्यप के मुखौटे लगाकर शुक्रवार को मनाया गया। इस दौरान इन दो मुखाैटधारियों ने दिन भर जमकर लोगों पर कोडे बरसाए। लोगों की ऐसी धारणा है कि इन कोडों काे खाने से कई प्रकार की मुसीबतों से छुटकारा मिल जाता है। नृसिंह सेना के तत्वावधान में शुक्रवार काे मेला भरा गया। इससे पूर्व कस्बे में गुरुवार की शाम को नृसिंहद्वारे में इन दोनों मुखौटे की बोलिया लगाई। यह नृसिंह सेना द्वारा रखी गई और मेले की जिम्मेदारी सेना के सदस्यों को सौंपी गई। शुक्रवार की सुबह 6 बजे भगवान नृसिंह की पूजा-अर्चना और आरती कर दो मुखौटे एक हिरण्यकश्यप व एक बादरिया के मुखोटे व कपड़े पहनकर नृसिंहद्वार से बाहर निकलते हैं और हाथ में कोडे लेकर कस्बे की गलियाें में निकल पड़ते हैं। काेड़ाें से बचने के लिए लाेग रुपए भी देते हैं। इस मेले काे देखने के लिए मुम्बई, पूना सहित विभिन्न शहरों से प्रवासी पहुंचते है।

नृसिंह सेना के सदस्यों ने निकाला वरघोड़ा

नृसिंह जयंती के उपलक्ष्य में शुक्रवार को कस्बे में श्री नृसिंह सेना के तत्वावधान में सूरजकुण्ड से लक्ष्मीनारायण मंदिर तक वरघोडा निकाला गया। जिसमें भगवान नृसिंह के विभिन्न अवतारों को लेकर झांकियां सजाई गई थी। नृसिंह सेना के सदस्यों द्वारा वरघोड़े में शामिल रथ खींचकर लक्ष्मीनारायण मंदिर तक लेकर आए।

X
Dhanerav News - rajasthan news to remove the misery on nrusinh chaturdasi people eat harekshyapas and bariaris
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना