Hindi News »Rajasthan »Parbatsar» जारोड़ा के तालाब में अब गंदगी फैलाने पर 5100 का जुर्माना

जारोड़ा के तालाब में अब गंदगी फैलाने पर 5100 का जुर्माना

शहर में शनिवार को दाधीच समाज ने होली स्नेह मिलन के साथ फागोत्सव मनाया। इस दौरान समाज में व्याप्त विभिन्न...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 09:00 AM IST

जारोड़ा के तालाब में अब गंदगी फैलाने पर 5100 का जुर्माना
शहर में शनिवार को दाधीच समाज ने होली स्नेह मिलन के साथ फागोत्सव मनाया। इस दौरान समाज में व्याप्त विभिन्न कुरीतियों पर चर्चा की गई और सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि अब मृत्यु भोज नहीं किया जाएगा। कार्यक्रम में सामाजिक कुरीतियों पर बोलते हुए समाज के अध्यक्ष भगवती प्रसाद जोशी ने कहा कि दहेज प्रथा समाज की बड़ी कुरीति है। हमें समाज में इस तरह की छोटी-छोटी जो भी कुप्रथाएं है, उन्हें समय रहते मिटा देनी चाहिए। उन्होंने मृत्युभोज को बंद करने के निर्णय की सराहना करते हुए समाज के सभी लोगों का आभार जताया। इस दौरान किशन पलोड़ के साथ मांगीलाल, राजेश जोशी, भगवती प्रसाद जोशी, श्रीवल्लभ शर्मा, महेश व्यास, ओमप्रकाश शर्मा, संजय, गिरीराज, शिंभूदयाल आदि ने भी विचार व्यक्त किए।

तालाब के अंगोर में कचरा फेंकने पर जुर्माने के साथ करनी होगी सफाई भी

जारोड़ा | कस्बे में होली पर्व पर वर्षों से गांव के मुख्य गुवाड़ में बैठक का आयोजन करने की परंपरा चली आ रही हैं। होली पर्व पर ग्रामीणों द्वारा रामा-श्यामा के दिन गांव के मुख्य गुवाड़ में होली स्नेह मिलन समारोह के लिहाज से सभी ग्रामीण एकत्रित होते हैं। इस बैठक में ग्रामीण गांव के विकास व सुधार को लेकर कई निर्णय भी लेते है। इस बार हुई बैठक के दौरान ग्रामीणों ने चर्चा कर गांव के सार्वजनिक तालाबों को स्वच्छ रखने को लेकर निर्णय लिया। गांव में मुख्य रूप से एक ही तालाब को स्वच्छ रखने के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं। इस होली पर ग्रामीणों ने पुंजलाई नाडी व दंड नाडी को भी स्वच्छ रखने का निर्णय लिया। ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से निर्णय लेकर तालाब के अंगोर में किसी भी तरह की गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने का निर्णय लिया। गांव में पहले से मुख्य तालाब के अंगोर में किसी प्रकार की गंदगी फैलाने पर पूर्ण पाबंदी है। जिसकी बदौलत आज गांव का तालाब स्वच्छ है। अब ग्रामीणों ने गांव दो अन्य छोटे तालाब पुंजलाई नाडी व दंड नाडी के अंगोर में भी किसी प्रकार की गंदगी फैलाने पर पाबंदी लगा दी है। यहां तक कि तालाब की अंगोर में बैठकर शराब पीने व खाली बोतलें अंगोर में फेंकने वालों के खिलाफ भी ग्रामीणों द्वारा कार्रवाई की जाएगी। ग्रामीणों ने निर्णय लिया कि जो भी तालाब के अंगोर में गंदगी फैलाएगा उसे 5100 रुपए का दंड देने के साथ ही तालाब की सफाई करनी होगी। बैठक में तय किया कि आगामी दो दिन में तालाब में जो भी अनावश्यक झाड़ियां है, उन्हें काटकर सफाई कराई जाएगी। इस दौरान सरपंच प्रकाश मेघवाल, उप सरपंच लखाराम मुण्डेल, पूर्व सरपंच जयराम जाजड़ा, सुगनाराम मुंडेल, गोकुलराम मुंडेल, मंगलाराम, शंकरलाल सोनी, देवाराम, गीगाराम, मेहराम ईनाणिया सहित अनेक ग्रामीण उपस्थित थे।

जारोड़ा | कस्बे में होली पर्व पर वर्षों से गांव के मुख्य गुवाड़ में बैठक का आयोजन करने की परंपरा चली आ रही हैं। होली पर्व पर ग्रामीणों द्वारा रामा-श्यामा के दिन गांव के मुख्य गुवाड़ में होली स्नेह मिलन समारोह के लिहाज से सभी ग्रामीण एकत्रित होते हैं। इस बैठक में ग्रामीण गांव के विकास व सुधार को लेकर कई निर्णय भी लेते है। इस बार हुई बैठक के दौरान ग्रामीणों ने चर्चा कर गांव के सार्वजनिक तालाबों को स्वच्छ रखने को लेकर निर्णय लिया। गांव में मुख्य रूप से एक ही तालाब को स्वच्छ रखने के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं। इस होली पर ग्रामीणों ने पुंजलाई नाडी व दंड नाडी को भी स्वच्छ रखने का निर्णय लिया। ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से निर्णय लेकर तालाब के अंगोर में किसी भी तरह की गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने का निर्णय लिया। गांव में पहले से मुख्य तालाब के अंगोर में किसी प्रकार की गंदगी फैलाने पर पूर्ण पाबंदी है। जिसकी बदौलत आज गांव का तालाब स्वच्छ है। अब ग्रामीणों ने गांव दो अन्य छोटे तालाब पुंजलाई नाडी व दंड नाडी के अंगोर में भी किसी प्रकार की गंदगी फैलाने पर पाबंदी लगा दी है। यहां तक कि तालाब की अंगोर में बैठकर शराब पीने व खाली बोतलें अंगोर में फेंकने वालों के खिलाफ भी ग्रामीणों द्वारा कार्रवाई की जाएगी। ग्रामीणों ने निर्णय लिया कि जो भी तालाब के अंगोर में गंदगी फैलाएगा उसे 5100 रुपए का दंड देने के साथ ही तालाब की सफाई करनी होगी। बैठक में तय किया कि आगामी दो दिन में तालाब में जो भी अनावश्यक झाड़ियां है, उन्हें काटकर सफाई कराई जाएगी। इस दौरान सरपंच प्रकाश मेघवाल, उप सरपंच लखाराम मुण्डेल, पूर्व सरपंच जयराम जाजड़ा, सुगनाराम मुंडेल, गोकुलराम मुंडेल, मंगलाराम, शंकरलाल सोनी, देवाराम, गीगाराम, मेहराम ईनाणिया सहित अनेक ग्रामीण उपस्थित थे।

नारवा मेघवाल समाज ने बैठक कर नशा मुक्ति व समाज में व्याप्त कुरीतियों को मिटाने का लिया संकल्प

खींवसर | नारवा कल्लां के बाबा रामदेवजी महाराज के मंदिर में मेघवाल समाज ने बैठक आयोजित कर नशा मुक्ति व समाज में व्याप्त कुरीतियों को मिटाने का संकल्प लिया। समाज की इस बैठक में नारवा, कांटिया, पांचला सिद्धा, पिपलिया, कुड़छ़ी, अखावास, लूणावास, खुण्डाला सहित आसपास के गांवों के लोगों ने भाग लिया। वहीं बैठक में कांटिया सरपंच सत्यनारायण ने कहा कि मृत्युभोज, अफीम, डोडा पोस्त, शराब के नशे के कारण समाज पिछड़ रहा है। समाज में व्याप्त कुरीतियों को जड़ से उखाड़ फेंकने पर ही समाज का सर्वागींण विकास हो पाएगा। इस दौरान पांचला सरपंच प्रतिनिधि बींजाराम मेहरा ने कहा बालिका शिक्षा के अभाव के कारण समाज में जागृति का अभाव है। समाज को मजबूत बनाने के लिए बालिका शिक्षा को बढ़ावा देना होगा। नारवा कल्लां सरपंच सेवाराम ने समाज को मजबूत बनाने व समाज सुधार को लेकर विचार व्यक्त किए। बैठक में मेघवाल समाज ने समाज में फैली कुरीतियों, मृत्युभोज, अफीम, डोडा पोस्त सेवन, शराब व शादी में डीजे बंद करने का निर्णय लिया। वहीं समाज के जागरूक लोगों ने समाज में फैली कुरीतियों को मिटाने का संकल्प लिया। इस दौरान पिपलिया सरपंच प्रतिनिधि बींजाराम, भंवराराम, हड़मानराम मेहरा, गोपालराम, समाजसेवी मंगलाराम, चुनाराम, बाबूराम, भगवानराम मेहरा, मदनलाल मेहरा उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Parbatsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×