Hindi News »Rajasthan »Parbatsar» परबतसर में कथा वाचिका कंचन बाेलीं- राजा दशरथ ने बहुओं को बेटी समझा, आप उनमें भेद-भाव न करें

परबतसर में कथा वाचिका कंचन बाेलीं- राजा दशरथ ने बहुओं को बेटी समझा, आप उनमें भेद-भाव न करें

परबतसर| हनुमान कॉलोनी में चल रही भागवत कथा में कथा वाचिका कंचन पारीक ने कहा कि बहु और बेटी में किसी प्रकार का अंतर...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2018, 06:10 AM IST

परबतसर| हनुमान कॉलोनी में चल रही भागवत कथा में कथा वाचिका कंचन पारीक ने कहा कि बहु और बेटी में किसी प्रकार का अंतर नहीं करना चाहिए। बहु अपने पिता का घर छोड़कर अपने पति के साथ अपने ससुराल आती है। जहां उसके माता पिता उसके सास ससुर होते है। जिस प्रकार राजा दशरथ ने जनक की चारो पुत्रियों को अपनी बेटियों की भांति समझा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में परिवारों के टूटने का कारण बेटी बहु के बीच भेद करना ही है। इसलिए परिवारों की एकता के लिए इन्हें एक समझ कर बहु को भी बेटी की भांति रखना चाहिए। कथा वाचिका ने कहा कि पाप और पापी का अंत निश्चित है। पाप के बढ़ने पर भगवान धरती पर अत्याचार को मिटाने के लिए अवतार लेते है। इस अवसर पर पवन कुमार पारीक ने बताया कि कथा में रामजन्म, कृष्ण जन्म उत्सव मनाया गया। जिसमे विभिन्न झांकियां सजाई गई। इस मौके पर रविन्द्र कौशिक, यशवंत सिंह, जगदीश आचार्य, रामनिवास पारीक, भरत वैष्णव आदि मौजूद थे।

मौलासर| बेगसर के बालाजी मंदिर में सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत गुरूवार को कृष्ण जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर पंडित जय गोपाल शास्त्री ने बताया कि जब धर्म का नाश होने लगता है पाप और अहंकार बढ़ जाता है तब भगवान धरती पर अवतार लेते है। इस दौरान ध्रुव, भक्त प्रहलाद, सुदामा चरित्र, कृष्णावतार, गोपिकाओं के प्रेम सहित अनेक प्रसंगों का जीवन वर्णन किए गए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Parbatsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×