--Advertisement--

विराटनगर रेंज क्षेत्र में बघेरों की संख्या 5 पहुंची

विराटनगर| धवल पूर्णिमा पर विराटनगर व पावटा रेंज मुख्यालय बीलवाड़ी क्षेत्र के 25 केंद्रों पर वन्य जीवों की गणना की...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 05:50 AM IST
विराटनगर रेंज क्षेत्र में बघेरों की संख्या 5 पहुंची
विराटनगर| धवल पूर्णिमा पर विराटनगर व पावटा रेंज मुख्यालय बीलवाड़ी क्षेत्र के 25 केंद्रों पर वन्य जीवों की गणना की गई।

इस बार विराटनगर रेंज क्षेत्र में बघेरों की संख्या में इजाफा हुआ। विराटनगर रेंज क्षेत्र में 1276 व पावटा रेंज क्षेत्र में 1375 वन्यजीव पाए गए। वन्य जीवों की गणना सोमवार सुबह 8 बजे से शुरू हुई जो दूसरे दिन मंगलवार सुबह 8 बजे संपन्न हुई। गणना को लेकर विराटनगर रेंज क्षेत्र में 12 वाटर हॉल एवं पावटा रेंज मुख्यालय बीलवाड़ी पर 13 वाॅटर हॉल पर केंद्र बनाएये गए थे। प्रत्येक केंद्रों पर दो-दो कर्मचारी तैनात रहें। गणना के दौरान अंधड आने से कर्मचारियों को दिक्कत भी आई।

25 केंद्रों पर गणना

रेंजर कैलाश गुर्जर ने बताया कि पिछले साल की गणना में विराटनगर रेंज क्षेत्र में तीन बघेरे मिले थे लेकिन इस बार गणना में दो बघेरों का इजाफा हुआ। बताया कि रेंज क्षेत्र के बंद मज्जफरपुर, छींड की ढाणी तालुकाबास, शिवजी मंदिर कुहाड़ा, नारायणदास मंदिर बीछावाला, धव्वाली मंदिर के पास, देव महाराज मंदिर के पास तालवा, विकलांग फार्म टोडालडी, नारायणदासजी की खेळ छींड भैरूपुरा, सिद्ध बाबा की जोहडी ज्ञानपुरा, विराटनगर गणेशजी रोड पर, नारसिंह का स्थान बूजा, पीली का जोहड़ा बीजक पर सहित 12 केंद्रों पर गणना की गई जबकि पावटा मुख्यालय बीलवाडी रेंज क्षेत्र में 13 केंद्रोेंं पर गणना की गई।

विराटनगर. क्षेत्र में वन्यजीव गणना के लिए बनाये गए वाॅटर हॉल।

ये मिले वन्यजीव

विराटनगर |
रेंजर कैलाश गुर्जर के अनुसार वन्यजीव गणना में बघेरा 5, जरख 28, सियार 104, जंगली बिल्ली 26, लोमडी 28, नीलगाय 987, जंगली सुअर 38, सांभर 23, सेही 29, सियागोश 5 व जंगली मुर्गी 3 सहित कुल 1276 वन्यजीव मिलें।

पावटा | इसी प्रकार बीलवाड़ी रेंजर सूरजमल जाट के अनुसार बघेरा 2, जरख 16, जंगली बिल्ली 26, लोमडी 16, भेडिया 12, सांभर 14, नीलगाय 355, जंगली सुअर 10, सेही 13, खरगोश 17, साण्डा 2, मोर 389 बर्डस आफ स्प्रे 338 सहित कुल 1375 वन्यजीव पाए गए।

X
विराटनगर रेंज क्षेत्र में बघेरों की संख्या 5 पहुंची
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..