• Home
  • Rajasthan News
  • Pawta News
  • Pawta - मानगढ़ में हाइटेंशन लाइन के करंट से बार-बार हो रही है मोरों की मौत
--Advertisement--

मानगढ़ में हाइटेंशन लाइन के करंट से बार-बार हो रही है मोरों की मौत

ग्राम मानगढ़ जुगराजपुरा के आम चौक में हाइटेंशन के तारों के करंट लगने से हर माह एक-दो मोरों की मौत हो रही है। सोमवार...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:40 AM IST
ग्राम मानगढ़ जुगराजपुरा के आम चौक में हाइटेंशन के तारों के करंट लगने से हर माह एक-दो मोरों की मौत हो रही है। सोमवार को फिर से एक मोर की मौत होने के बाद ग्रामीणों ने विरोध जताया।

ग्रामीणों ने हाइटेंशन लाइन को प्लास्टिक कोटेड करवाने की मांग की तथा शीघ्र व्यवस्था नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दी। ग्रामीण हरिसिंह, जसवंत सिंह, हनुमानसिंह, मालसिंह, उपसरपंच हजारीलाल सैनी, परमवीर सिंह, वीरेंद्र सिंह, मंगल चंद, नरवीर सिंह, दिलीप सिंह, पाबुदान सिंह, जगदीश सिंह तँवर, हिम्मत सिंह नरेंद्र सिंह आदि ने बताया कि गांव के आमचौक से होकर बिजली की हाइटेंशन लाइन गुजर रही है। इन तारों से आए दिन मोर समेत अनेक पक्षी करंट के झटके के चलते अकाल मौत का ग्रास बन रहे है। ग्रामीणों ने बताया कि हर माह एक-दो मोर करंट लगने से मर रहे है। बिजली निगम के कार्मिकों को अनेक बार अवगत करवा दिया गया लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही है। सोमवार को फिर एक मोर करंट लगने से मर गया। ग्रामीणों ने मोर की मौत की सूचना थाना पुलिस, बिजली निगम एवं वन विभागीय कार्मिकों को दी। सूचना पर अजीतगढ़ वनपाल शिवसहाय मौके पर पहुंच कर मृत मोर को हिरासत में लेकर दफनाया। इधर ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द आमचौक से होकर गुजर रही है हाइटेंशन तारों को प्लास्टिक कोटेड़ नही किया गया तो आंदोलन किया जाएगा। जेईएन नेकीराम, का कहना है कि हाईटेंशन लाइनों को प्लास्टिक कोटेड़ किया गया था, दोबारा से कार्मिकों को भेजकर जांच करवा प्लास्टिक कोटेड़ करने का कार्य करेंगे।

मंढा के शिविर में 73 युवकों ने किया रक्तदान

पावटा | मंढा गांव में जन सेवक संघ राजस्थान के तत्वाधान में सोमवार को रक्तदान शिविर हुआ जिसमें 73 युवाओं ने रक्तदान किया। मुख्य अतिथि भाजपा पूर्व प्रदेश महामंत्री कुलदीप धनकड ने कहा कि रक्त की एक बूंद किसी की भी जान बचा सकती है। हर व्यक्ति को दूसरे की जान बचाने के लिए रक्तदान करना चाहिए। कांग्रेसी नेता मानसिंह ने कहा कि रक्त का दान करना सबसे पुण्य का कार्य है। इस पुण्य के कार्य में हर व्यक्ति को अपनी भागीदारी निभानी चाहिए। शिविर में 25 युवाओं ने डेंगू मलेरिया के रोगियों को एसडीपी दान करने का संकल्प लिया। शंकरलाल सैनी, महेश कुमार सैनी, राजाराम गुर्जर, शेरसिंह शेखावत, अनिल राठी, दिनेश स्वामी, विजय कुमार आदि युवा मौजूद रहे।