--Advertisement--

नैनन में श्याम समाई गयो रे

झिराना गावं में श्रीश्याम सखा परिवार की ओर से शनिवार रात को एक शाम खाटूश्याम के नाम भजनामृत कार्यक्रम हुआ। बाबा...

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 06:15 AM IST
झिराना गावं में श्रीश्याम सखा परिवार की ओर से शनिवार रात को एक शाम खाटूश्याम के नाम भजनामृत कार्यक्रम हुआ। बाबा श्याम की फूल बंगला सजाई गई झांकी सजाई गई। राजस्थानी गायक कलाकार रामकुमार मालूनी ने श्याम महिमा पर आधारित भजनों की प्रस्तुतियां देकर कार्यक्रम को परवान चढ़ाया। भजनामृत में नैनन में श्याम समाई गयो रे, छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना, कीर्तन की है रात आदि भजन पेश किए। भगवान वैष्णव ने हनुमान, तेजाजी, भैरूजी, देवजी के भजनों की प्रस्तुतियां दी। अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कलाकार अशोक पहाड़िया व भवानी ने भंवाई नृत्य सहित कांच, तलवार पर नंगे पैर नृत्य किया। सिर पर कलश, गाड़ी का पहिया, बालक बिठाते हुए भी नृत्य किया। मयूर नृत्य आकर्षण का केन्द्र रहा। कार्यक्रम में हरिओम, टिंकू, कैलाश, हरि सहित कई श्रद्धालु मौजूद थे।

प्रभु स्मरण में अपार शक्ति

ठाकुर सीताराम मंदिर में रविवार को भागवत कथा में पंडित कृष्णमुरारी शर्मा ने कहा कि कथा में आने वाले प्रत्येक प्रसंग से हमें अच्छी सीख मिलती है। हमें उन पर अमल करना चाहिए। प्रभू स्मरण में अपार शक्ति है। हमें हमारी शक्ति का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए। मनुष्य को हमेशा अपने स्वार्थ को भूल दूसरों की सेवा करनी चाहिए। नर सेवा नारायण सेवा है। इस मौके कैलाश चंद त्रिपाठी, शंभू, चन्द्रमोहन, प्रभुदयाल, केशव, भाजपा मण्डल जगदीश सिंह राजावत, राजेन्द्र दाधीच सहित अन्य श्रद्धालु उपस्थित थे।

पीपलू. झिराना गांव में भजनामृत कार्यक्रम में भजन पेश करते कलाकार व उपस्थत श्रोता।