• Home
  • Rajasthan News
  • Peplu News
  • कठमाणा में जानवर रहेंगे प्यासे, पंचायत कमाएगी पैसे
--Advertisement--

कठमाणा में जानवर रहेंगे प्यासे, पंचायत कमाएगी पैसे

पीपलू |एक ओर गर्मी में पशु पक्षियों को बचाने के लिए परिण्डे बांधे जाने व पशु खेळ भरे जाने के कार्य समाजसेवी करके...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 05:45 AM IST
पीपलू |एक ओर गर्मी में पशु पक्षियों को बचाने के लिए परिण्डे बांधे जाने व पशु खेळ भरे जाने के कार्य समाजसेवी करके पुण्य कमाते है, वहीं ग्राम पंचायत कठमाणा ने तालाब में बचे हुए थोड़े से पानी में भी मत्स्य पालन का ठेके देने को लेकर नीलामी की सूचना निकाली है। जिससे पशुपालकों ने पशुओं के समक्ष पीने का संकट खड़ा होने से इस कार्यवाही को लेकर नाराजगी जताई है। मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में पशुपालकों ने बताया कि कुछ वर्षों से कम बारिश होने से तालाब पहले ही पूरा नहीं भर पाता है। जो पानी संग्रहित होता है उसे भी ग्राम पंचायत मछली पालन के लिए ठेका दे देती है। इसी प्रक्रिया के तहत इस बार भी आगामी 5 मईको मछली पालन का ठेका देने के लिए बोली लगाई जाएगी। जिससे ग्राम पंचायत कठमाणा के किसानों के पालतू मवेशी एवं अन्य पशु-पक्षी हर वर्षकी तरह इस बार भी गर्मी में पीने के पानी के लिए परेशान होंगे। उन्होंने पत्र में बताया कि जहां गर्मी में पशुओं को पीने के पानी की व्यवस्था करने पर प्रशासन को ध्यान देना चाहिए, उसके बजाय पंचायत ने तालाब में मत्स्य पालन का ठेका देने की कार्यवाही शुरू की है। इस ठेके को दिए जाने के बाद ठेकेदार प्राकृतिक रूप से पल रही मछलियों एवं अन्य जीवों को मारने के लिए दवा डालते है। इसके बाद नया बीज डालकर मछली पालन करते है।

कई वर्षों से कर रहे विरोध

पशुपालकों ने बताया कि वह मछली पालन का ठेका दिए जाने का कईवर्षों से विरोध कर रहे है, लेकिन प्रशासन हठधर्मीरवैया अपनाए हुए है।

वर्षों से दे रहे हैं ठेका