• Home
  • Rajasthan News
  • Peplu News
  • पीपलू. रानोली के राधामाधव मंदिर में आयोजित भागवत कथा में
--Advertisement--

पीपलू. रानोली के राधामाधव मंदिर में आयोजित भागवत कथा में

पीपलू. रानोली के राधामाधव मंदिर में आयोजित भागवत कथा में सजाई गई कृष्ण जन्मोत्सव की सजीवर झांकी। नन्द के घर...

Danik Bhaskar | Jun 23, 2018, 05:50 AM IST
पीपलू. रानोली के राधामाधव मंदिर में आयोजित भागवत कथा में सजाई गई कृष्ण जन्मोत्सव की सजीवर झांकी।

नन्द के घर आनन्द भयो, जय कन्हैया लाल की

पीपलू|रानोली के राधामाधव मंदिर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा में शुक्रवार को कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। भगवान कृष्ण के जन्म पर पूरा पांडाल नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की के जयकारों से गूंज उठा। श्रद्धालु झूमने-नाचने लगे। भगवान श्रीकृष्ण के वेश में नन्हें बालक के दर्शन करने के लिए लोग लालायित नजर आए। भगवान के जन्म की खुशी पर चॉकलेट लुटाई गई। कथा में कथावाचक पंड़ित कैलाश शास्त्री ने राम-कृष्ण जन्म का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि भगवान राम का प्रसंग हमें मर्यादा एवं भगवान कृष्ण का प्रसंग हमें प्रेम की सीख देता है। मनुष्य को नित्य इनका स्मरण अवश्य करना चाहिए। इस अवसर पर संत रामदास महात्यागी सहित कई श्रद्धालु उपस्थित थे।

मंदिर में प्रतिष्ठापित हुईं देवी-देवताओं की मूर्तियां

पचेवर|रैगर समाज द्वारा आयोजित दो दिवसीय धार्मिक कार्यक्रम के दूसरे दिन बाबा रामदेव, गंगा माता, शिव परिवार, राधा-कृष्ण व बजरंगबली की मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा की गई। प्रधान आचार्य जगदीशाचार्य ने बताया कि धार्मिक आयोजनों से देवता प्रसन्न होकर अच्छी बरसात करते हैं। वर्षा से जल, जल से अन्न, अन्न से धन-धान्य कि प्राप्ति होती है। समाज के प्रत्येक व्यक्ति का विकास ही प्राणी मात्र का लक्ष्य होना चाहिए।