--Advertisement--

31 मई को होने वाले थे रिटायर्ड, हार्ट अटैक से मौत

ग्राम मोहनपुरा पृथ्वी सिंह में जन्मे लाडले शोभाग सिंह सूबेदार की 29 अप्रैल को सुबह करीब 9 बजे आसाम में ड्यूटी के...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 05:50 AM IST
31 मई को होने वाले थे रिटायर्ड, हार्ट अटैक से मौत
ग्राम मोहनपुरा पृथ्वी सिंह में जन्मे लाडले शोभाग सिंह सूबेदार की 29 अप्रैल को सुबह करीब 9 बजे आसाम में ड्यूटी के दौरान ह्रदयाघात से मौत हो गई थी। मंगलवार को मोहनपुरा पृथ्वी सिंह पंचायत मुख्यालय पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों एवं सैकड़ों ग्रामीणों की मौजूदगी में राजकीय सम्मान के साथ सूबेदार की अंत्येष्टि की गई। सूचना पर ग्राम मोहनपुरा पृथ्वी सिंह में शोक की लहर दौड़ गई। मंगलवार को सवेरे 8 बजे शव पहुंचा तो गांव मोहनपुरा पृथ्वी सिंह के साथ साथ हरसूलिया, चित्तौड़ा, रेनवाल, पीपला सहित आसपास के गांवों से भी लोग सूबेदार की अंत्येष्टि में उमड़ पड़े। शव यात्रा में मोहनपुरा पृथ्वीसिंह पंचायत के सरपंच रामस्वरूप गोठवाल, लदाना सरपंच सुखपाल गुर्जर, हरसूलिया सरपंच मदनलाल राजवंशी, पंसस रामसिंह राठौड़ चांदावास, कैलाश नागरवाल, मदनसिंह काला तालाब, बहादुर सिंह, बद्रीराम जाट किशनपुरा, श्रवण गुर्जर, शमांगूसिंह धाभाई, ज्ञानचंद प्रजापत, दयाल सैनी, रविन्द्र चौधरी आदि शरीक हुए। ज्येष्ठ पुत्र वीरेंद्र सिंह नरूका ने बताया कि पापा का 31 मई 2018 को सेवानिवृति होने वाले थे। मेरे व मेरे छोटे भाई भूपेन्द्र की शादी भी 21 जुलाई 2018 को तय कर दी गई थी। तैयारी के लिए 19 मार्च को छुट्टियां लेकर आए थे और वापस 13 अप्रैल को ही अपनी ड्यूटी पर गए थे। सूबेदार की 18 वर्षीय बेटी सोनम कंवर व प|ी अच्छन कंवर का भी रो रो कर बुरा हाल हो रहा है। दोनों हर दस मिनट में अचेत हो जाती है।

फागी. अंत्येष्टि के समय सूबेदार को सलामी देते जवान।

भास्कर न्यूज | फागी

ग्राम मोहनपुरा पृथ्वी सिंह में जन्मे लाडले शोभाग सिंह सूबेदार की 29 अप्रैल को सुबह करीब 9 बजे आसाम में ड्यूटी के दौरान ह्रदयाघात से मौत हो गई थी। मंगलवार को मोहनपुरा पृथ्वी सिंह पंचायत मुख्यालय पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों एवं सैकड़ों ग्रामीणों की मौजूदगी में राजकीय सम्मान के साथ सूबेदार की अंत्येष्टि की गई। सूचना पर ग्राम मोहनपुरा पृथ्वी सिंह में शोक की लहर दौड़ गई। मंगलवार को सवेरे 8 बजे शव पहुंचा तो गांव मोहनपुरा पृथ्वी सिंह के साथ साथ हरसूलिया, चित्तौड़ा, रेनवाल, पीपला सहित आसपास के गांवों से भी लोग सूबेदार की अंत्येष्टि में उमड़ पड़े। शव यात्रा में मोहनपुरा पृथ्वीसिंह पंचायत के सरपंच रामस्वरूप गोठवाल, लदाना सरपंच सुखपाल गुर्जर, हरसूलिया सरपंच मदनलाल राजवंशी, पंसस रामसिंह राठौड़ चांदावास, कैलाश नागरवाल, मदनसिंह काला तालाब, बहादुर सिंह, बद्रीराम जाट किशनपुरा, श्रवण गुर्जर, शमांगूसिंह धाभाई, ज्ञानचंद प्रजापत, दयाल सैनी, रविन्द्र चौधरी आदि शरीक हुए। ज्येष्ठ पुत्र वीरेंद्र सिंह नरूका ने बताया कि पापा का 31 मई 2018 को सेवानिवृति होने वाले थे। मेरे व मेरे छोटे भाई भूपेन्द्र की शादी भी 21 जुलाई 2018 को तय कर दी गई थी। तैयारी के लिए 19 मार्च को छुट्टियां लेकर आए थे और वापस 13 अप्रैल को ही अपनी ड्यूटी पर गए थे। सूबेदार की 18 वर्षीय बेटी सोनम कंवर व प|ी अच्छन कंवर का भी रो रो कर बुरा हाल हो रहा है। दोनों हर दस मिनट में अचेत हो जाती है।

X
31 मई को होने वाले थे रिटायर्ड, हार्ट अटैक से मौत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..