--Advertisement--

भंदे बालाजी में पदयात्राओं की धूम

भंदे बालाजी में मंगलवार को कई स्थानों से पदयात्राएं गाजे-बाजे के साथ पहुंची। पदयात्री नाचते गाते हुए बालाजी...

Dainik Bhaskar

Aug 08, 2018, 06:31 AM IST
भंदे बालाजी में पदयात्राओं की धूम
भंदे बालाजी में मंगलवार को कई स्थानों से पदयात्राएं गाजे-बाजे के साथ पहुंची। पदयात्री नाचते गाते हुए बालाजी मंदिर में पहुंचे। पदयात्रा संघ द्वारा बालाजी दरबार के ध्वज चढ़ाकर पूजा-अर्चना के बाद भोग लगाकर पदयात्रियों को सामूहिक पंगत प्रसादी दी गई। इस मौके पर बालाजी महाराज का विशेष श्रृंगार किया गया। जगह-जगह पदयात्रियों का स्वागत किया।

बारिश की कामना के लिए नागेश्वर धाम की पैदल परिक्रमा

सावरदा | अखैपुरा से मौखमपुरा के बीच स्थित नागेश्वर धाम पर अखैपुरा के ग्रामीणों ने लगभग पांच किमी की परिक्रमा की। रामनिवास पौषवाल, श्योजीराम सामोता आदि ग्रामीणों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से क्षेत्र में बरसात नहीं होने से मान्यता के अनुसार बािरश की कामना को लेकर ग्रामीणों ने नागेश्वर धाम की पैदल परिक्रमा कर धाम पहुंच कर मीठे व्यंजनों का भोग लगाया। ग्रामीणों ने बताया कि जब जब क्षेत्र में बारिश कम हुई और नागेश्वर धाम की परिक्रमा करने पर क्षेत्र में अच्छी बरसात हुई। इससे इस धाम के प्रति ग्रामीणों में गहरी आस्था है।

अच्छी बरसात की कामना के साथ कहीं कांवड़ तो कहीं रामधुनी

गोविंदगढ | सावन का महिना सूखा जाने से लोग चिंतित होने लगे हैं और देवताआें काे मनाने के लिए उनकी विशेष पूजा-अर्चना भी शुरु कर दी है। बरषात नहीं होने कारण फसलों पर विपरीत असर पड़ने लगा है। ग्राम गुड़लिया में समाजसेवी सीताराम कौशिक, सुरेश सैन, कैलाश जांगिड़, सरदार लोच्छिब, गणेश निठारवाल व धर्मेंद्र बाजिया ने परमानंद महाराज के कुंड से पानी भरकर कावड़ लेकर गुडलिया पहुंचे, जहां पर ग्रामीणों ने कावड़ियों का स्वागत किया। इसके बाद भोले नाथ के जयकारों के साथ कावड़ चढा़कर अच्छी बरषात की कामना की गई। इसी प्रकार ग्राम स्याऊ के रघुनाथजी ठाकुर जी मंदिर में ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से रामधुनी की। इससे पहले ठाकुरजी को नई पोशाक पहनाई गई और विशेष श्रृंगार किया गया।

भागवत कथा के समापन पर भण्डारे में उमड़े श्रद्धालु

फागी | गौहन्दी पंचायत मुख्यालय पर माली मोहल्ले के पास स्थित जगदम्बा माताजी मन्दिर में सैनी युवक नवमण्डल सेवा समिति एवं सैनी समाज के संयुक्त तत्तवावधान में आयोजित सात दिवसीय भागवत कथा में मगंलवार को भागवत कथा का समापन भण्डारे के साथ हुअा। कथा वाचक पण्डित श्यामसुन्दर शास्त्री ने कहा कि जीवन में यज्ञ हवन, तप जप भाग्यशाली बनाने के लिए आवश्यक है। कथा वाचक शास्त्री का समिति ने सम्मान किया। महाआरती के बाद हजारों भक्तों ने पंगत प्रसादी ग्रहण की।

कांवड़ियों का रेला

बगरू. कांवड़ यात्रा के साथ शिव भक्त।

X
भंदे बालाजी में पदयात्राओं की धूम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..