• Home
  • Rajasthan News
  • Phalodi
  • फलोदी को जिला अस्पताल बनाने का प्रस्ताव नहीं गया है तो मैं जाकर भिजवाऊंगा : सीएमएचओ
--Advertisement--

फलोदी को जिला अस्पताल बनाने का प्रस्ताव नहीं गया है तो मैं जाकर भिजवाऊंगा : सीएमएचओ

मेडिकल रिलीफ सोसायटी की बैठक शनिवार दोपहर बाद सरकारी अस्पताल के कान्फ्रेंस हॉल में सीएमएचओ डॉ. सुनील बिष्ट की...

Danik Bhaskar | Aug 12, 2018, 06:10 AM IST
मेडिकल रिलीफ सोसायटी की बैठक शनिवार दोपहर बाद सरकारी अस्पताल के कान्फ्रेंस हॉल में सीएमएचओ डॉ. सुनील बिष्ट की अध्यक्षता में हुई। राजकीय चिकित्सालय फलोदी को जिला अस्पताल में क्रमोन्नत करवाए जाने पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि वे जाकर पता लगाएंगे कि सीएमएचओ कार्यालय से सरकार को इस आशय का प्रस्ताव भिजवाया गया है या नहीं। यदि नहीं भिजवाया है तो भिजवाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि दो माह पूर्व ब्लड बैंक के उद्घाटन के अवसर पर जिला कलेक्टर ने इस संबंध में तत्कालीन सीएमएचओ को निर्देश दिए थे। डॉ. बिष्ट सीएमएचओ को कार्यभार संभालने के बाद पहली बार फलोदी पहुंचे हैं। उपस्थित सदस्यों व चिकित्सकों ने समस्याओं के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि फलोदी क्षेत्र की 6 और बाप ब्लॉक के 5 सब सेंटर फलोदी अस्पताल के अधीन कर दिए गए हैं जिससे काम बढ़ गया है, जबकि पूर्व में यह सेंटर बीसीएमओ के अधीन काम कर रहे थे। अस्पताल में 150 बैड के अनुरूप पद और अन्य स्वीकृतियों के लिए चर्चा की गई। डॉ. बिष्ट ने अस्पताल परिसर में सरकारी योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए होर्डिंग्स लगवाने के निर्देश दिए ताकि अधिकाधिक आमजन को इसकी जानकारी हो। उन्होंने राजश्री योजना में लाभान्वित महिलाओं को दूसरी व तीसरी किश्त मिलने में हो रही देरी पर नाराजगी जताई और इसे सुधारने के निर्देश दिए।

भास्कर न्यूज | फलोदी

मेडिकल रिलीफ सोसायटी की बैठक शनिवार दोपहर बाद सरकारी अस्पताल के कान्फ्रेंस हॉल में सीएमएचओ डॉ. सुनील बिष्ट की अध्यक्षता में हुई। राजकीय चिकित्सालय फलोदी को जिला अस्पताल में क्रमोन्नत करवाए जाने पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि वे जाकर पता लगाएंगे कि सीएमएचओ कार्यालय से सरकार को इस आशय का प्रस्ताव भिजवाया गया है या नहीं। यदि नहीं भिजवाया है तो भिजवाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि दो माह पूर्व ब्लड बैंक के उद्घाटन के अवसर पर जिला कलेक्टर ने इस संबंध में तत्कालीन सीएमएचओ को निर्देश दिए थे। डॉ. बिष्ट सीएमएचओ को कार्यभार संभालने के बाद पहली बार फलोदी पहुंचे हैं। उपस्थित सदस्यों व चिकित्सकों ने समस्याओं के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि फलोदी क्षेत्र की 6 और बाप ब्लॉक के 5 सब सेंटर फलोदी अस्पताल के अधीन कर दिए गए हैं जिससे काम बढ़ गया है, जबकि पूर्व में यह सेंटर बीसीएमओ के अधीन काम कर रहे थे। अस्पताल में 150 बैड के अनुरूप पद और अन्य स्वीकृतियों के लिए चर्चा की गई। डॉ. बिष्ट ने अस्पताल परिसर में सरकारी योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए होर्डिंग्स लगवाने के निर्देश दिए ताकि अधिकाधिक आमजन को इसकी जानकारी हो। उन्होंने राजश्री योजना में लाभान्वित महिलाओं को दूसरी व तीसरी किश्त मिलने में हो रही देरी पर नाराजगी जताई और इसे सुधारने के निर्देश दिए।

नर्सिंग स्टाफ को ड्रेस पहनने के निर्देश

नर्सिंग स्टाफ के ड्रेस नहीं पहनने व समय पर नहीं आने की शिकायत पर सीएमएचओ ने नर्सिंग अधीक्षक दिनेश कुमार रंगा को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि भविष्य में इस संबंध में शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। बैठक में आर्थोपेडिक सर्जरी के लिए एक लाख तक उपकरण खरीदने और एक नई ईसीजी मशीन खरीदने की स्वीकृति दी गई। इसके अलावा रामदेवरा मेला को देखते हुए चौबीस घंटे डाक्टर की उपलब्धता एवं सामग्री खरीदने के लिए 30 हजार रुपए की स्वीकृति दी गई। ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. सुनीता सोनी ने बताया कि अब तक 128 यूनिट ब्लड प्राप्त हुआ है और 80 यूनिट दिया गया है। बैठक में प्रभारी सोसायटी सचिव डॉ. रविंद्र परमार, डॉ. महेंद्र रतनाणी, डॉ. दिनेश सोनी, डॉ. अभिषेक अग्रवाल, डॉ. रमेश खत्री, डॉ. मधु शर्मा, डॉ. सुनीता सोनी, डॉ. मनीष परिहार व डा. मुकेश शर्मा, सदस्य संपत चांडा, माणकलाल सुथार, एसपी चांडा के अलावा लेखाकार निरंजन दाधीच, अरविंद कुमार, हितेश बोहरा आदि मौजूद थे।