• Home
  • Rajasthan News
  • Phalodi
  • पीलवा व बावड़ी में ग्रामीणों ने मटकियां फोड़ किया प्रदर्शन
--Advertisement--

पीलवा व बावड़ी में ग्रामीणों ने मटकियां फोड़ किया प्रदर्शन

पीलवा| ग्राम पंचायत भोजाकोर में तालर मेघवालों व भीलों की 150-200 ढाणियों के बीच बना जीएलआर पिछले एक साल से सूखा पड़ा है।...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 06:20 AM IST
पीलवा| ग्राम पंचायत भोजाकोर में तालर मेघवालों व भीलों की 150-200 ढाणियों के बीच बना जीएलआर पिछले एक साल से सूखा पड़ा है। इससे ग्रामीणों को पेयजल की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। पेयजल समस्या से त्रस्त ग्रामीणों ने गुरुवार को मटकियां फोड़ प्रदर्शन किया। ग्रामीण मोहनराम मेघवाल ने बताया कि ग्रामीण पैसे देकर पानी का टैंकर मंगवाने को मजबूर है। प्रदर्शन के दौरान अर्जुनसिंह चौहान, चूनाराम मेघवाल, पप्पूसिंह, चैनाराम मेघवाल, मूलाराम मेघवाल, नरसिंगराम, सुमेराराम, ओमप्रकाश, सुमेराराम भील, पेपाराम भील, सवाईराम आदि ग्रामीण मौजूद थे। वहीं सरपंच पोकरराम डूडी ने कहा कि जल्द ही पानी की समस्या का समाधान करवा दिया जाएगा।

बावड़ी| पेयजल समस्या से त्रस्त गोविंदपुरा के ग्रामीणों ने गुरुवार को प्रदर्शन करते हुए रोष जताया। ग्रामीण भागुराम ग्वारिया ने बताया कि गांव में 50 से अधिक घरों में पीने के पानी का संकट बना हुआ है। संबंधित विभाग को इस संबंध में कई बार अवगत करवाया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। ग्रामीणों ने बताया कि जीएलआर में पानी सप्लाई करने वाली पाइप लाइन में जगह-जगह अवैध कनेक्शन होने के कारण जलापूर्ति सुचारू नहीं हो पा रही हैं।

आजादी के सालों बाद भी हिम्मतनगर वासियों को नहीं मिला मीठा पानी

पीलवा आंचलिक|
रावतनगर के राजस्व गांव हिम्मतनगर में सालों बाद भी हिमालय का पानी नसीब नहीं हुआ। थोड़ी बहुत हिमालय के पानी की आस उस समय हुई जब उन्हें मालूम हुआ कि हिम्मतनगर से 10 किमी दूर तेली पुलिया दयाकौर में मीठे पानी का हौद बनकर तैयार हुआ व सप्लाई शुरू हुई। यहां हिम्मतनगर में न तो कोई भी जीएलआर बना और न ही यहां किसी को कनेक्शन दिया। तब हिम्मतनगर वासियों ने वन एवं पर्यावरण मंत्री गजेंद्रसिंह खींवसर से इसके बारे में अवगत कराया तो बताया कि हिम्मतनगर इस स्कीम में है ही नहीं। अगली स्कीम आएगी उस समय हिम्मतनगर जीएलआर बना दिया जाएगा। हिम्मतनगर वासियों ने जब भी पीएचईडी में मालूम किया तो वहां से भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। लगातार खराब पानी पीने की वजह से कइयों के घुटनों में दर्द, पीठ दर्द की शिकायत होती हैं। हिम्मत नगर वासियों ने गजेंद्रसिंह खींवसर से मांग की है कि जल्दी कोई नई स्कीम बनाकर वंचित रहा हिम्मतनगर को मीठे पानी से जोड़ा जाए अन्यथा आंदोलन करेंगे।

पीलवा

टंकी से व्यर्थ बह रहा है पानी

सामराऊ
| सामराऊ -लोहावट सड़क स्थित पर सामराऊ से एक किमी दूर लोगों के पानी पीने के लिए पानी की टंकी बनाई गई है। दोपहर 2:30 बजे इस टंकी से पीने का पानी बर्बाद होता दिखाई दिया। टंकी भरी होने के कारण यहां से पीने का पानी व्यर्थ बह रहा था। लोगों ने बताया कि पानी आने पर यह टंकी भर जाती है, फिर इससे पानी बहता ही रहता है।

हादसे को दावत देता जीएलआर, जिम्मेदार अधिकारी बेपरवाह

भोपालगढ़ |
रूदिया स्थित मिंडोली गांव में लगभग 30 वर्ष से ज्यादा समय पहले बनाया गया जीएलआर इन दिनों पूरी तरह से जर्जर हालत में है। इसके बावजूद जीएलआर की ओर जनप्रतिनिधियों के साथ ही जलदाय विभाग के अधिकारियों का कभी ध्यान नहीं जाने के कारण यहां पर किसी भी समय हादसे की घटना घटित होने की संभावना बनी रहती हैं। इसको देखते हुए ग्रामीणों के प्रतिनिधि दल ने सरपंच दयाराम गुर्जर को भी कई बार जीएलआर की जर्जर हालत को देखते हुए अवगत करवाया, लेकिन अभी तक न तो जनप्रतिनिधि, न ही विभाग के अधिकारी इस जीएलआर को सही करवाने के लिए आगे आए। ग्रामीणों ने एक सप्ताह में इस जर्जर जीएलआर को ध्वस्त कर दूसरा निर्माण करवाने की मांग करते हुए प्रशासन को चेतावनी दी कि नहीं तो आंदोलन किया जाएगा।

सुथारों की ढाणी जुडिया में 10 दिन से गहराया हुआ है पेयजल संकट

बालेसर
| जुडिया में सुथारों की ढाणी जाने वाली पाइपलाइन को क्षतिग्रस्त कर देने के कारण इन ढाणियों में 10 दिन से पेयजल आपूर्ति ठप हो गई। ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। जुडिया में गांव तलिया से पाइपलाइन भाटियों की ढाणी में पानी की सप्लाई पहुंचाई जाती है। वहां से सुथारों की ढाणियों में पाइपलाइन के माध्यम से घर-घर पानी पहुंचाया जाता है, लेकिन कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा पाइपलाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया। इससे पिछले 10 दिन से इन ढाणियों के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने जलदाय विभाग के उच्चाधिकारियों को पत्र लिखकर पेयजल आपूर्ति शुरू करवाने की मांग की। इस दौरान मदनलाल, भगवानदान, भागीरथदान, हिम्मताराम, स्वरूपसिंह, राजू सुथार, खीमसिंह,

भंवरसिंह, भैरूसिंह सहित ग्रामीण मौजूद थे।

बावड़ी

फलोदी। राजीव गांधी लिफ्ट नहर की पाइप लाइन के जॉइंट से दिनभर पानी के गिरते रहते रहने से दिनभर में सैकड़ों लीटर पानी का अपव्यय हो रहा है। शहर के समीप से होकर गुजरने वाली लिफ्ट नहर की पाइप लाइन के जॉइंट से पिछले काफी समय से दिनभर धीरे- धीरे पानी का रिसाव होता रहता है। नहर की पाइप लाइन में कई जगहों पर इस तरह से पानी का रिसाव होता रहता है। जहां पर पानी का रिसाव होता है वहां पर पाइप लाइन के नीचे कीचड़ भी हो जाता है। शहर के समीप बावड़ी मोहरा रोड़ पर स्थित इस पाइप लाइन से बहते पानी की ये तस्वीर दैनिक भास्कर के जल मित्र योगेश व्यास ने भेजी है। अगर विभाग इस तरह के लीकेज ठीक करे तो कई सौ लीटर पानी काे बचाया जा सकता है।

जल मित्र की खबर के बाद लंबे समय से लीकेज हो रहे वॉल को जलदाय विभाग ने किया दुरुस्त

बिलाड़ा| रेलवे के स्टेशन के पास लंबे समय से वॉल से पेयजल लीकेज की खबर प्रकाशित होने के बाद जलदाय विभाग ने गुरुवार को कर्मचारियों को लगाकर वॉल लीकेज ठीक करवाया। वॉल लीकेज के कारण लंबे समय से इस वॉल से पानी लीकेज हो रहा था और हजारों लीटर पेयजल व्यर्थ बह चुका था। उल्लेखनीय है की उक्त खबर दैनिक भास्कर के जल मित्र पार्षद त्रिलोक नैणीवाल ने 13 मई काे भेजी थी।

13 मई को प्रकाशित खबर

पाइप लाइन से दिन भर लीकेज होता रहता है पानी