Hindi News »Rajasthan »Phalodi» फलोदी में 43 एमएम बारिश किसानों को होगा फायदा

फलोदी में 43 एमएम बारिश किसानों को होगा फायदा

फलोदी | शहर में गुरुवार सुबह 4 बजे से शुरू हुई बारिश दोपहर 11 बजे तक जारी रही। रह-रहकर हुई बारिश से मौसम में ठंडक के साथ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 10, 2018, 06:35 AM IST

  • फलोदी में 43 एमएम बारिश किसानों को होगा फायदा
    +4और स्लाइड देखें
    फलोदी | शहर में गुरुवार सुबह 4 बजे से शुरू हुई बारिश दोपहर 11 बजे तक जारी रही। रह-रहकर हुई बारिश से मौसम में ठंडक के साथ लोगों ने गर्मी से राहत महसूस की। तहसील कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार 43 एमएम बरसात रिकार्ड की गई। फलोदी शहर व आसपास के क्षेत्र में पिछले काफी समय से बारिश नहीं होने के कारण गुरुवार सुबह आई बारिश का लोगों ने लुत्फ उठाया। लोगों ने बारिश में स्नान करते हुए मौसम का आनंद लिया। शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में भी गुरुवार को बारिश होने से किसानों को इसका लाभ मिलेगा। इस समय फसलों को फायदा होगा। बारिश शुरू होते हुए रात्रि के समय 4 बजे से ही बिजली कटौती शुरू हो गई। इसके बाद दिनभर बिजली की आंख मिचौली चलती रही।

    निर्माणाधीन नाले में भरा पानी

    गौरव पथ पर नगरपालिका द्वारा बनाए जा रहे निर्माणाधीन नाले में गुरुवार को हुई बारिश से पानी भरकर गया। नाले के पूरा नहीं बनने के कारण पानी की निकासी नहीं होने से नाला पानी से भर गया। इस दाैरान ठेकेदार ने मोटर लगाकर नाले से पानी खाली किया। इस दौरान सड़क से गुजरने वाले वाहन चालकों व लोगों को परेशानी हुई।

    शेरगढ़ | कस्बे में गुरुवार सुबह 4:45 बजे से आधे घंटे तक तेज बारिश हुई। इसके बाद सुबह 7 बजे तक रिमझिम बारिश हुई। इस दौरान तहसील कार्यालय शेरगढ़ में सुबह 8 बजे 23 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई है। शेरगढ़ में बरसाती नाले की पूर्ण रूप से सफाई नहीं होने से गांधी चौक में पानी भर गया व गली-मोहल्लों व बाजार में कीचड़ फैल गया।

    लोहावट आंचलिक | लोहावट व आस पास के कई गांवों में गुरुवार को काफी दिनों बाद जाकर राहत की बौछारें पड़ी। हालांकि आसमान में बुधवार को ही काले-घने बादलों ने डेरा डाल दिया था। लेकिन बुधवार को तो दिनभर ग्रामीणों को उमस का ही सामना करना पड़ा। गुरुवार अलसुबह से ही आसमान में काले बादल छा गए व सुबह की उमस के बाद सुबह सात बजे जंभेश्वर नगर, चंद्रनगर, हंसादेश, विशनावास, जाटाबास, डाबर व रूपाणा-जेताणा आदि गांवों में आधे घंटे तक तेज बारिश हुई। बारिश से सड़कों पर पानी भी बहने लगा। क्षेत्र में पिछले काफी दिनों से बारिश नहीं होने से बोई गई बाजरा, मूंग व मोठ की फसल जलने के कगार पर पहुंच गई थी। अब इस बारिश से इन कम पानी से पकने वाली फसलों को जीवनदान मिल गया। किसानों का कहना है कि अब कुछ दिन बाद अगर एक आधी बारिश भी और हो जाएगी तो उनकी फसलें पक जाएगी। वहीं लोहावट तहसील कार्यालय की छत पर लगे वर्षामापी संयत्र में 12 एमएम बारिश दर्ज की गई।

    बाप | क्षेत्र में दो दिन से मौसम में बदलाव आने के साथ ही आसमान में बादल छाए रहने के साथ उमस व गर्मी भी लोगों को सताने लगी। बुधवार देर रात बूंदाबांदी का दौर शुरू हुआ जो गुरुवार दोपहर तक रुक-रुक कर जारी रहा। बाप क्षेत्र में अभी अच्छी बारिश नहीं हुई है। ऐसे में किसान चिंतित है। खेत सूने पड़े हैं। हालांकि बूंदाबांदी के बाद मौसम सुहावना बन गया था। दोपहर बाद मौसम खुल जाने के बाद धूप निकल गई।

    खीचन | कोलू पाबूजी में मेगा हाइवे पर स्थित रामावि रातड़ी नाडी में गुरुवार सुबह तेज बारिश से स्कूल मैदान में बरसाती पानी जमा हो गया। स्कूल में बने सभी कक्षा कक्ष व बरामदों की छतों से पानी टपकना शुरू हो गया। इससे विद्यार्थियों को शिक्षण कार्य में परेशानी का सामना करना पड़ा। प्रधानाध्यापिका गायत्री गर्ग ने बताया कि बारिश के दौरान सभी कमरों की छतें टपकती है, इससे मजबूरन विद्यार्थियों की छुट्टी करनी पड़ी। स्कूल में 300 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। स्कूल इसी वर्ष 10वीं तक क्रमोन्नत हुआ है। एसएमसी अध्यक्ष रामचंद्र गर्ग व प्रधानाध्यापिका ने गुरुवार को क्षेत्रीय विधायक व वन मंत्री गजेंद्रसिंह खींवसर, सरपंच सुमेरराम भील व डीईओ द्वितीय हनुमान सहाय गुर्जर को पत्र भेजकर क्षतिग्रस्त भवन की मरम्मत करवाने व नया भवन बनाने का आग्रह किया।

    फलोदी

    खीचन

    शेरगढ़

    बाप

    लोहावट आंचलिक

  • फलोदी में 43 एमएम बारिश किसानों को होगा फायदा
    +4और स्लाइड देखें
  • फलोदी में 43 एमएम बारिश किसानों को होगा फायदा
    +4और स्लाइड देखें
  • फलोदी में 43 एमएम बारिश किसानों को होगा फायदा
    +4और स्लाइड देखें
  • फलोदी में 43 एमएम बारिश किसानों को होगा फायदा
    +4और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Phalodi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×