राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न मामलों का आपसी सहमति से हुआ निस्तारण

Phalodi News - न्यायालय परिसर में शनिवार को तालुका विधिक सेवा समिति फलोदी के तत्वावधान में राष्ट्रीय लोक अदालत दिवस के अवसर पर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 10:20 AM IST
Phalodi News - rajasthan news national lok adalat to settle various matters of mutual consent
न्यायालय परिसर में शनिवार को तालुका विधिक सेवा समिति फलोदी के तत्वावधान में राष्ट्रीय लोक अदालत दिवस के अवसर पर पीठासीन अधिकारियों, कर्मचारियों व पक्षकारान गण ने पौधरोपण किया। इस दौरान तालुका स्तर पर स्थापित चारों न्यायालयों में सुबह 10 से शाम 4 बजे तक राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया। इसमें वैवाहिक, पारिवारिक विवाद, मोटर वाहन, दुर्घटना क्लेम, दीवानी प्रकरण, श्रम, पेंशन मामले, बैंक वसूली मामले, राजीनामा योग्य फौजदारी प्रकरणों का आपसी सहमति से निस्तारण करने का प्रयास किया। बैंच संख्या 1 में एडीजे मोहनलाल सोनी, सदस्य पीएलवी मिश्रीलाल, बैंच संख्या 2 में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राकेश गोरा, सदस्य पीएलवी अमराराम, बैंच संख्या 3 में सिविल न्यायाधीश लोकेश कुमार मीणा व सदस्य पीएलवी मगराज, बैंच संख्या 4 में पूर्व जिला न्यायाधीश हीरालाल चांडा व सदस्य पीएलवी मधु कुमारी ने उपस्थित रहकर मामलों का निस्तारण किया। बैंच संख्या 1 में सिविल एवं एमएसीटी के 25 प्रकरण निस्तारित किए, इसमें 5512000 रुपए व सिविल इजराय में 878607 रुपए का अवार्ड पारित किया। बैंच संख्या 2 में फौजदारी के 15 प्रकरण निस्तारित किए। बैंच संख्या 3 में सिविल व फौजदारी के 4 प्रकरण निस्तारित किए। बैंच संख्या 4 में प्री-लिटिगेशन के 7 प्रकरणों में 1933000 रुपए का अवार्ड पारित किया। सभी प्रकरण आपसी राजीनामा व सहमति से निस्तारित किए। तालुका स्तर पर 8323607 रुपए का अवार्ड पारित कर 15 प्रकरणों का निस्तारण राजीनामे के जरिए किया। अधिवक्ता संस्थान फलोदी के आह्वान पर शनिवार को आयोजित हुई राष्ट्रीय लोक अदालत का अधिवक्ताओं ने बहिष्कार किया। इसके चलते अधिवक्ता राष्ट्रीय लोक अदालत में शामिल नहीं हुए।

बालेसर| न्यायालय परिसर में न्यायिक मजिस्ट्रेट रविप्रकाश बाकोलिया की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत कार्यक्रम का आयोजन किया। इसमें कई प्रकरणों का आपसी समझौते से निस्तारण करवाया। वहीं राष्ट्रीय लोक अदालत कार्यक्रम का न्यायालय परिसर में पौधरोपण कार्यक्रम के साथ शुभारंभ किया। इसके बाद शुरू हुई राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामे के लिए लंबित 162 प्रकरण व प्री-लिटिगेशन के 259 प्रकरण सहित 421 प्रकरण रखे जाकर पक्षकारों को नोटिस जारी किए। न्यायालय में उपस्थित पक्षकारों के बीच समझौतों व राजीनामे के माध्यम से 19 प्रकरणों का फैसला किया। वहीं न्यायालय में दर्ज होने से पूर्व 2 प्रकरणों का निस्तारण किया। चेक अनादरण व बैंक वसूली से संबंधित विभिन्न प्रकरणों में राशि 4,92,228 रुपए का समझौते के आधार पर सेटलमेंट किया। इस दाैरान अधिवक्तागण व पक्षकार मौजूद थे।

ओसियां| सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट व ग्राम न्यायालय ओसियां में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत में राजीनामा योग्य सिविल, दांडिक व बैंक रिकवरी से संबंधित विभिन्न मामलों को लोक अदालत की भावना से निस्तारण के लिए रखा गया। शनिवार की राष्ट्रीय लोक अदालत में 37 मामलों का निस्तारण किया गया। सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट सिद्धार्थ सांदू, अधिवक्ता घेवरराम बिश्नोई, श्यामलाल ओझा, दिनेश मदेरणा, चुनाराम गर्ग,पेम्पसिंह भाटी, रघुवीर सिंह राठौड़, जसवंत सिंह चौहान, राजेंद्र चौधरी, अमर सिंह भाटी, रामकिशोर ओझा व अभियोजन अधिकारी रामदेव चौधरी के अलावा पुखराज दैय्या, किशोर कुमार, अमृतलाल, उमराव दान चारण, दीपक इत्यादि ने लोक अदालत को सफल बनाने में अपना योगदान किया।

ओसियां

भास्कर न्यूज | फलोदी

न्यायालय परिसर में शनिवार को तालुका विधिक सेवा समिति फलोदी के तत्वावधान में राष्ट्रीय लोक अदालत दिवस के अवसर पर पीठासीन अधिकारियों, कर्मचारियों व पक्षकारान गण ने पौधरोपण किया। इस दौरान तालुका स्तर पर स्थापित चारों न्यायालयों में सुबह 10 से शाम 4 बजे तक राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया। इसमें वैवाहिक, पारिवारिक विवाद, मोटर वाहन, दुर्घटना क्लेम, दीवानी प्रकरण, श्रम, पेंशन मामले, बैंक वसूली मामले, राजीनामा योग्य फौजदारी प्रकरणों का आपसी सहमति से निस्तारण करने का प्रयास किया। बैंच संख्या 1 में एडीजे मोहनलाल सोनी, सदस्य पीएलवी मिश्रीलाल, बैंच संख्या 2 में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राकेश गोरा, सदस्य पीएलवी अमराराम, बैंच संख्या 3 में सिविल न्यायाधीश लोकेश कुमार मीणा व सदस्य पीएलवी मगराज, बैंच संख्या 4 में पूर्व जिला न्यायाधीश हीरालाल चांडा व सदस्य पीएलवी मधु कुमारी ने उपस्थित रहकर मामलों का निस्तारण किया। बैंच संख्या 1 में सिविल एवं एमएसीटी के 25 प्रकरण निस्तारित किए, इसमें 5512000 रुपए व सिविल इजराय में 878607 रुपए का अवार्ड पारित किया। बैंच संख्या 2 में फौजदारी के 15 प्रकरण निस्तारित किए। बैंच संख्या 3 में सिविल व फौजदारी के 4 प्रकरण निस्तारित किए। बैंच संख्या 4 में प्री-लिटिगेशन के 7 प्रकरणों में 1933000 रुपए का अवार्ड पारित किया। सभी प्रकरण आपसी राजीनामा व सहमति से निस्तारित किए। तालुका स्तर पर 8323607 रुपए का अवार्ड पारित कर 15 प्रकरणों का निस्तारण राजीनामे के जरिए किया। अधिवक्ता संस्थान फलोदी के आह्वान पर शनिवार को आयोजित हुई राष्ट्रीय लोक अदालत का अधिवक्ताओं ने बहिष्कार किया। इसके चलते अधिवक्ता राष्ट्रीय लोक अदालत में शामिल नहीं हुए।

बालेसर| न्यायालय परिसर में न्यायिक मजिस्ट्रेट रविप्रकाश बाकोलिया की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत कार्यक्रम का आयोजन किया। इसमें कई प्रकरणों का आपसी समझौते से निस्तारण करवाया। वहीं राष्ट्रीय लोक अदालत कार्यक्रम का न्यायालय परिसर में पौधरोपण कार्यक्रम के साथ शुभारंभ किया। इसके बाद शुरू हुई राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामे के लिए लंबित 162 प्रकरण व प्री-लिटिगेशन के 259 प्रकरण सहित 421 प्रकरण रखे जाकर पक्षकारों को नोटिस जारी किए। न्यायालय में उपस्थित पक्षकारों के बीच समझौतों व राजीनामे के माध्यम से 19 प्रकरणों का फैसला किया। वहीं न्यायालय में दर्ज होने से पूर्व 2 प्रकरणों का निस्तारण किया। चेक अनादरण व बैंक वसूली से संबंधित विभिन्न प्रकरणों में राशि 4,92,228 रुपए का समझौते के आधार पर सेटलमेंट किया। इस दाैरान अधिवक्तागण व पक्षकार मौजूद थे।

ओसियां| सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट व ग्राम न्यायालय ओसियां में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत में राजीनामा योग्य सिविल, दांडिक व बैंक रिकवरी से संबंधित विभिन्न मामलों को लोक अदालत की भावना से निस्तारण के लिए रखा गया। शनिवार की राष्ट्रीय लोक अदालत में 37 मामलों का निस्तारण किया गया। सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट सिद्धार्थ सांदू, अधिवक्ता घेवरराम बिश्नोई, श्यामलाल ओझा, दिनेश मदेरणा, चुनाराम गर्ग,पेम्पसिंह भाटी, रघुवीर सिंह राठौड़, जसवंत सिंह चौहान, राजेंद्र चौधरी, अमर सिंह भाटी, रामकिशोर ओझा व अभियोजन अधिकारी रामदेव चौधरी के अलावा पुखराज दैय्या, किशोर कुमार, अमृतलाल, उमराव दान चारण, दीपक इत्यादि ने लोक अदालत को सफल बनाने में अपना योगदान किया।

बालेसर

भास्कर न्यूज | फलोदी

न्यायालय परिसर में शनिवार को तालुका विधिक सेवा समिति फलोदी के तत्वावधान में राष्ट्रीय लोक अदालत दिवस के अवसर पर पीठासीन अधिकारियों, कर्मचारियों व पक्षकारान गण ने पौधरोपण किया। इस दौरान तालुका स्तर पर स्थापित चारों न्यायालयों में सुबह 10 से शाम 4 बजे तक राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया। इसमें वैवाहिक, पारिवारिक विवाद, मोटर वाहन, दुर्घटना क्लेम, दीवानी प्रकरण, श्रम, पेंशन मामले, बैंक वसूली मामले, राजीनामा योग्य फौजदारी प्रकरणों का आपसी सहमति से निस्तारण करने का प्रयास किया। बैंच संख्या 1 में एडीजे मोहनलाल सोनी, सदस्य पीएलवी मिश्रीलाल, बैंच संख्या 2 में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राकेश गोरा, सदस्य पीएलवी अमराराम, बैंच संख्या 3 में सिविल न्यायाधीश लोकेश कुमार मीणा व सदस्य पीएलवी मगराज, बैंच संख्या 4 में पूर्व जिला न्यायाधीश हीरालाल चांडा व सदस्य पीएलवी मधु कुमारी ने उपस्थित रहकर मामलों का निस्तारण किया। बैंच संख्या 1 में सिविल एवं एमएसीटी के 25 प्रकरण निस्तारित किए, इसमें 5512000 रुपए व सिविल इजराय में 878607 रुपए का अवार्ड पारित किया। बैंच संख्या 2 में फौजदारी के 15 प्रकरण निस्तारित किए। बैंच संख्या 3 में सिविल व फौजदारी के 4 प्रकरण निस्तारित किए। बैंच संख्या 4 में प्री-लिटिगेशन के 7 प्रकरणों में 1933000 रुपए का अवार्ड पारित किया। सभी प्रकरण आपसी राजीनामा व सहमति से निस्तारित किए। तालुका स्तर पर 8323607 रुपए का अवार्ड पारित कर 15 प्रकरणों का निस्तारण राजीनामे के जरिए किया। अधिवक्ता संस्थान फलोदी के आह्वान पर शनिवार को आयोजित हुई राष्ट्रीय लोक अदालत का अधिवक्ताओं ने बहिष्कार किया। इसके चलते अधिवक्ता राष्ट्रीय लोक अदालत में शामिल नहीं हुए।

बालेसर| न्यायालय परिसर में न्यायिक मजिस्ट्रेट रविप्रकाश बाकोलिया की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत कार्यक्रम का आयोजन किया। इसमें कई प्रकरणों का आपसी समझौते से निस्तारण करवाया। वहीं राष्ट्रीय लोक अदालत कार्यक्रम का न्यायालय परिसर में पौधरोपण कार्यक्रम के साथ शुभारंभ किया। इसके बाद शुरू हुई राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामे के लिए लंबित 162 प्रकरण व प्री-लिटिगेशन के 259 प्रकरण सहित 421 प्रकरण रखे जाकर पक्षकारों को नोटिस जारी किए। न्यायालय में उपस्थित पक्षकारों के बीच समझौतों व राजीनामे के माध्यम से 19 प्रकरणों का फैसला किया। वहीं न्यायालय में दर्ज होने से पूर्व 2 प्रकरणों का निस्तारण किया। चेक अनादरण व बैंक वसूली से संबंधित विभिन्न प्रकरणों में राशि 4,92,228 रुपए का समझौते के आधार पर सेटलमेंट किया। इस दाैरान अधिवक्तागण व पक्षकार मौजूद थे।

ओसियां| सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट व ग्राम न्यायालय ओसियां में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत में राजीनामा योग्य सिविल, दांडिक व बैंक रिकवरी से संबंधित विभिन्न मामलों को लोक अदालत की भावना से निस्तारण के लिए रखा गया। शनिवार की राष्ट्रीय लोक अदालत में 37 मामलों का निस्तारण किया गया। सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट सिद्धार्थ सांदू, अधिवक्ता घेवरराम बिश्नोई, श्यामलाल ओझा, दिनेश मदेरणा, चुनाराम गर्ग,पेम्पसिंह भाटी, रघुवीर सिंह राठौड़, जसवंत सिंह चौहान, राजेंद्र चौधरी, अमर सिंह भाटी, रामकिशोर ओझा व अभियोजन अधिकारी रामदेव चौधरी के अलावा पुखराज दैय्या, किशोर कुमार, अमृतलाल, उमराव दान चारण, दीपक इत्यादि ने लोक अदालत को सफल बनाने में अपना योगदान किया।

Phalodi News - rajasthan news national lok adalat to settle various matters of mutual consent
X
Phalodi News - rajasthan news national lok adalat to settle various matters of mutual consent
Phalodi News - rajasthan news national lok adalat to settle various matters of mutual consent
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना