फलौदी

  • Home
  • Rajasthan News
  • Phalodi
  • Phalodi - ट्रक में भरी थी 35 लाख की शराब, चालक को मेगा हाइवे पर पता चलता कि आगे ट्रक कहां ले जाना है
--Advertisement--

ट्रक में भरी थी 35 लाख की शराब, चालक को मेगा हाइवे पर पता चलता कि आगे ट्रक कहां ले जाना है

चालक को फोन पर मिल रहे थे निर्देश, कपड़ों की कतरनों के बीच छुपा रखी थी 35 लाख की अंग्रेजी शराब, हनुमानगढ़ जिले के...

Danik Bhaskar

Sep 12, 2018, 05:41 AM IST
चालक को फोन पर मिल रहे थे निर्देश, कपड़ों की कतरनों के बीच छुपा रखी थी 35 लाख की अंग्रेजी शराब, हनुमानगढ़ जिले के संगरिया से लेकर आए थे शराब से भरा ट्रक

फलोदी | आबकारी पुलिस ने सोमवार आधी रात को अंग्रेजी शराब से भरा ट्रक जब्त कर दो जनों को गिरफ्तार किया। आबकारी पुलिस को काफी सालों बाद इतनी भारी मात्रा में शराब बरामद करने में सफलता मिली। आबकारी पुलिस ने एक जने को न्यायिक हिरासत में भेजा है व दूसरे आरोपी काे 3 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया। आबकारी पुलिस शराब भेजने वाले व्यक्ति का पता लगाने का प्रयास कर रही है। आबकारी पुलिस को मुखबीर से ट्रक में अवैध शराब की तस्करी किए जाने की सूचना मिली थी, इस पर पुलिस ने नेशनल हाइवे पर स्थित रेलवे फाटक के पास नाकाबंदी की थी। रात करीब पौने 12 बजे ट्रक आता हुआ दिखाई दिया जिस इशारा कर उसे रुकवाया।

कतरनों के बीच छुपे थे कार्टन : आबकारी पुलिस ने ट्रक के तिरपाल हटाकर देखा तो उसमें कट्टों में कपड़ों की कतरने भरी हुई मिली। कट्टों को हटा कर देखा तो उनके नीचे शराब के कार्टन दिखाई दिए, इस पर ट्रक को पुलिस थाना लाया गया। ट्रक में पुलिस को 987 कार्टन मिले, इसमें से 11124 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद हुई। बरामद शराब का बाजार मूल्य करीब 35 लाख रुपए आंका गया है।

कहां जाना है चालक को नहीं पता : ट्रक चालक की पहचान श्रवण कुमार (40) पुत्र राजाराम बावरी निवासी तंदूरवाली जिला हनुमानगढ़ व खलासी मंगलाराम (40) पुत्र चौथराम बावरी निवासी बीरवाना तहसील श्रीगंगानगर के रूप में हुई। श्रवण कुमार ने बताया कि उसे संगरिया में शराब से भरा ट्रक सौंपा गया था व फलोदी के मेगा हाइवे पर फोन पर बताया जाना था कि आगे क्या किधर जाना है। मेगा हाइवे पहुंचने से पूर्व ही पुलिस ने ट्रक पकड़ लिया। संगरिया से वह सूरतगढ़, बीकानेर होते हुए फलोदी पहुंचा था।

ये रहे नाकाबंदी में शामिल : नाकाबंदी में आबकारी थाना के सीआई कमलेश विश्नोई के साथ सिपाही रिड़मलसिंह, श्रवण कुमार जयपाल, पदमसिंह, हेमसिंह, हनुमानसिंह आदि थे।

Click to listen..