--Advertisement--

पिड़ावा स्कूल का निर्माण समय पूरा, ढिलाई से छत भी नहीं डली

नगर में उपखंड अधिकारी कार्यालय होने के बावजूद भी सरकार की करोड़ों रुपए की योजनाएं अधूरी है। ऐसा ही एक मामला नगर के...

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 01:35 PM IST
नगर में उपखंड अधिकारी कार्यालय होने के बावजूद भी सरकार की करोड़ों रुपए की योजनाएं अधूरी है। ऐसा ही एक मामला नगर के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक स्कूल का है।

इसमें राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियोजना के अंतर्गत 14 कमरे निर्माण के लिए एक करोड़ 6 लाख 83 हजार 438 रुपए की राशि स्वीकृत हुई थी। इसका निर्माण कार्य 10 फरवरी 2017 को ठेकेदार ने शुरू किया। जिसको 11 नवंबर को पूरा करना था, लेकिन कई माह से कार्य बंद था। अब कार्य चालू हुआ है। जाे भी धीमी गति से चल रहा है। यहां निर्माण में उपयोग में लिया जा रहा सरिया भी प्रमाणित नहीं है। सरियों में जंग लग चुका है। ठेकेदार ने पहले तो भुगतान नहीं होने का बहाना बनाकर 6 माह से कार्य बंद रखा। जबकि भुगतान काफी समय पहले हो चुका था। अभी यहां 13 कमरों का कार्य किया गया है। निर्माण पूरा नहीं हो पाने से 550 छात्राओं को अध्ययन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते कक्षा 1 से 8 तक की छात्राओं को अलग भवन में अध्ययन कराया जा रहा है। इससे परेशानी हो रही है। स्कूल के प्रधानाचार्य मुकेश कुमार मीणा ने बताया कि अभी तक जो निर्माण कार्य किया गया। उसका भुगतान कर दिया है। जिसको काफी समय हो गया है, लेकिन फिर कार्य धीमी गति से चल रहा है। इस बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया है। इससे विद्यार्थियों को एक जगह बैठने में भी परेशानी आ रही है। परीक्षा समय में परेशानी अधिक होगी। इस कार्य को देख रहे एईएन सुभाष गंभीर का कहना है कि छत की तैयारी की जा रही है। जल्दी ही पूरा कार्य हो जाएगा। अगर कार्य समय पर नहीं किया गया तो पेनल्टी लगाई जाएगी।

ठेकेदार को राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक स्कूल का निर्माण 11 नवंबर को पूरा करना था

पिड़ावा. समय अवधि निकलने के बाद भी नही हुआ स्कूल का निर्माण कार्य पूर्ण।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..