Hindi News »Rajasthan »Pokran» झुलसा देने वाली गर्मी में मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर बिना पानी-छाया तैनात हंै होमगार्ड के जवान

झुलसा देने वाली गर्मी में मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर बिना पानी-छाया तैनात हंै होमगार्ड के जवान

भीषण गर्मी तापमान 45 डिग्री जिसमें घरों से बाहर निकलने के लिए भी लोगों को तरह तरह के जतन करने पड़ रहे हैं। वहीं दूसरी...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 07, 2018, 02:05 AM IST

झुलसा देने वाली गर्मी में मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर बिना पानी-छाया तैनात हंै होमगार्ड के जवान
भीषण गर्मी तापमान 45 डिग्री जिसमें घरों से बाहर निकलने के लिए भी लोगों को तरह तरह के जतन करने पड़ रहे हैं। वहीं दूसरी ओर जैसलमेर से पोकरण और रामदेवरा जाने वाली रेलवे लाइन पर बने 11 मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग पर लगे 22 होमगार्ड के जवान इस भीषण गर्मी और तल्ख धूप में खुले आसमान के नीचे हाथों में झंडी लेकर बिना छाया पानी रेलवे ट्रैक के पास खड़े हैं। ऐसे में भीषण गर्मी में इन होमगार्ड के जवानों की हालत बद से बदतर है। लेकिन न तो इस ओर रेलवे विभाग ध्यान दे रहा है और न ही होमगार्ड के अधिकारी। ऐसे में ड्यूटी करने वाले होमगार्ड के जवानों को इस भीषण गर्मी और लू के झोंक में खड़ा रहना पड़ता है। भीषण गर्मी में तैनात होमगार्ड के जवानों के लिए कोई सुविधा नहीं होने के संबंध में जब अधिकारियों को सूचित किया तो किसी भी अधिकारी ने फोन नहीं उठाया। जहां रामदेवरा में लगे बी.आर.कुरील ने यह कहकर मामले को टाल दिया कि इस संबंध में उच्चाधिकारियों से चर्चा करें। वहीं दूसरी ओर उच्चाधिकारियों द्वारा फोन तक नहीं उठाया। ऐसे में अगर इस भीषण गर्मी में होमगार्ड के जवान के साथ कोई अनहोनी भी हो जाती है तो विकट परिस्थिति के दौरान सुनवाई करने वाला भी कोई नहीं है।

केस-1 रविवार को दोपहर 2.43 बजे भीषण गर्मी में गोमट गांव स्थित मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पहुंचे तो ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड का जवान कानाराम गेट संख्या 88 पर अपनी ड्यूटी दे रहा था। हरी झंडी और हाथ में पानी की बोतल लिए धूप में पसीने से तर बतर कानाराम खड़ा अपनी ड्यूटी कर रहा था। वहीं पास ही में रेलवे विभाग का कमरा बना हुआ है। जिस पर ताला लगा हुआ था। कानाराम को इस कमरे को खोलकर बैठने के बारे में पूछने पर उसने बताया कि दो दिन पूर्व तक यह ताला खुला था। लेकिन कीमैन अजय कुमार ने दो दिन पहले कमरे पर ताला लगाकर चाबी मंगवा ली। जिसके कारण मजबूरी में धूप में खड़ा रहना पड़ता है।

मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर तैनात होमगार्ड के जवानों के लिए छाया पानी की सुविधा मुहैया करवाने के लिए सरकार द्वारा प्रत्येक मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर गुमटी बनाने का प्रस्ताव लिया है। खारा और सरणायत फांटा पर इस गुमटी का निर्माण किया जा रहा है। जल्द ही रामदेवरा, पोकरण और जैसलमेर की मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर गुमटी का निर्माण करवाकर होमगार्ड के जवानों के लिए छाया और पानी की सुविधा को मुहैया करवाया जाएगा। नागेश, एईएन, रेलवे विभाग जैसलमेर

केस-2 रविवार को दोपहर 3.15 बजे गोमट रेलवे स्टेशन से आगे जैसलमेर की ओर रेलवे स्टेशन से 200 मीटर दूरी पर स्थित मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर तैनात होमगार्ड जवान जयप्रतापसिंह गेट संख्या 90 पर अपनी ड्यूटी दे रहा था। रेलवे क्रॉसिंग के पास लगे पिलर के पास खड़े होकर हाथ में हरी झंडी लिए तथा गेट संख्या का टोकन जयप्रतापसिंह अपनी ड्यूटी दे रहा था। वहीं इस स्थान पर छाया और पानी की कोई सुविधा नहीं होने के कारण होमगार्ड का जवान पास में पानी की केतली लेकर खड़ा था। भीषण गर्मी में जहां बिना जतन आमजन का निकलना मुश्किल हो गया। वहीं होमगार्ड के जवान बिना किसी छाया पानी की व्यवस्था के इस भीषण गर्मी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pokran

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×