पोकरण

  • Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • जलदाय विभाग के अधिकारियों के सामने अवैध रूप से भरे जा रहे हंै पानी के टैंकर
--Advertisement--

जलदाय विभाग के अधिकारियों के सामने अवैध रूप से भरे जा रहे हंै पानी के टैंकर

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) पोकरण से रामदेवरा जाने वाले मार्ग पर जलदाय विभाग खुदवाया गया नलकूप से प्रतिदिन...

Danik Bhaskar

Jul 09, 2018, 05:35 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

पोकरण से रामदेवरा जाने वाले मार्ग पर जलदाय विभाग खुदवाया गया नलकूप से प्रतिदिन पानी की चोरी कर टैंकर भरे जा रहे हैं। लेकिन जलदाय विभाग के अधिकारियों को जानकारी होने के बावजूद भी इन पर कोई अंकुश नहीं लगाया जा रहा है। पोकरण से रामदेवरा जाने वाले मार्ग पर जलदाय विभाग द्वारा खुदवाया गया ट्यूबवैल पर प्रतिदिन दर्जनों पानी के टैंकर भरकर जरूरतमंदों को पानी बेचा जा रहा है। इसको लेकर अभी तक जलदाय विभाग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जलदाय विभाग द्वारा इस ट्यूबवैल पर एक कार्मिक की नियुक्ति की गई है। उसके बाद भी जलदाय विभाग के ट्यूबवैल से पानी चोरी कर ले जा रहे है। अगर कर्मचारी इन्हें रोकने की कोशिश करता है तो ये लोग उसे डराते धमकाते हैं। इस मार्ग पर हर दिन जलदाय विभाग के अधिकारी निकलते हैं। पोकरण से रामदेवरा जाने वाले मार्ग से जलदाय विभाग के प्रतिदिन आना जाना रहता है। इसके बाद भी पानी चोरी करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है न ही किसी प्रकार का पुलिस में मामला दर्ज कराया जा रहा है।


पोकरण (आंचलिक) जलदाय विभाग के नलकूप से अवैध रूप से भरे जा रहे है पानी के टैंकर।

डिग्गियों की सफाई के अभाव में ग्रामीण पी रहे है दूषित पानी

पोकरण (आंचलिक) | ग्राम पंचायत डिडाणिया के पुरोहितसर गांव स्थित दुर्गाराम की ढाणी स्थित जलदाय विभाग द्वारा बनाई गई जीएलआर में साफ सफाई नहीं करने के कारण आस-पास रह रहे लोगों को दूषित पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। वहीं जलदाय विभाग के अधिकारियों द्वारा समय पर डिग्गियों सफाई नहीं करने के कारण वहां पर निवास कर रहे ग्रामीणों को दूषित पानी पीने के लिए मजबूर कर दिया है। डिडाणिया निवासी अमित कुमार टॉक ने बताया कि पुरोहितसर स्थित दुर्गाराम की ढाणी में जलदाय विभाग द्वारा लाखों रुपए खर्च कर डिग्गी का निर्माण करवाया गया लेकिन जलदाय विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही के कारण डिग्गी की साफ सफाई नहीं की जा रही है। टॉक ने बताया कि जलदाय विभाग के अधिकारियों द्वारा जीएलआर व डिग्गियों पर सफाई की दिनांक अंकित कर देते तथा सफाई के नाम पर भी कुछ भी नहीं की जा रही है। जिसके कारण ग्रामीणों को दूषित पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। टॉक ने बताया कि इस संबंध में जलदाय विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को सूचित किया गया लेकिन अभी तक इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसके कारण ग्रामीणों में जलदाय विभाग के अधिकारियों के प्रति दिनों दिन रोष बढ़ता जा रहा है।

टूटी पाइप लाइन को जल मित्रों ने करवाया सही

जैसलमेर | शहर के कंधारी पाड़ा में पिछले लंबे समय से टूटी पाइप लाइन परेशानी का सबब बनी हुई थी। पाइप लाइन टूटने के कारण हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा था। पानी संरक्षण को लेकर सजग भास्कर के जल मित्र राजकुमार भाटिया, बृजरतन छंगाणी व मयूर भाटिया ने नगर परिषद व जलदाय विभाग को इसकी जानकारी देकर इसे सही करवाया। पिछले लंबे समय से टूटी पाइप लाइन के कारण पानी व्यर्थ बह रहा था। आमजन ने इसकी शिकायत की लेकिन अधिकारियों ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की। जिसके बाद जल मित्रों ने नगर परिषद व जलदाय विभाग के अधिकारियों से मिलकर इस समस्या से निजात दिलवाने की मांग की। जिसके बाद अधिकारियों ने इस पर कार्रवाई करते हुए इसे तुरंत सही करवाया। भास्कर के जल मित्र राजकुमार भाटिया, बृजरतन छंगाणी व मयूर भाटिया ने गलियों में घूमकर खुले नलों को बंद करवाया। जलापूर्ति के समय लोगों द्वारा पानी भरे जाने के बाद नल को खुला छोड़ दिया गया था। जिससे पानी व्यर्थ बह रहा था। जिस पर जल मित्रों से लोगों से पानी के संरक्षण की अपील कर खुले नलों से बह रहे व्यर्थ पानी को बंद करवाया।

Click to listen..