• Home
  • Rajasthan News
  • Pokran News
  • चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई : सैनी
--Advertisement--

चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई : सैनी

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) इस वर्ष होने वाले आम चुनाव के लिए मतदाता सूची में संसाधनों के लिए 1 जून से 15 जून तक...

Danik Bhaskar | Jun 11, 2018, 05:40 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

इस वर्ष होने वाले आम चुनाव के लिए मतदाता सूची में संसाधनों के लिए 1 जून से 15 जून तक बूथ लेवल अधिकारी घर-घर जाकर सत्यापन किया जा रहा है। इसके साथ ही एसडीएम द्वारा भी भौतिक सत्यापन के साथ-साथ मतदान केन्द्रों का भी निरीक्षण करेंगे। निरीक्षण के दौरान सभी बीएलओ अपना मतदान केन्द्र खुला रखेंगे। निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण पदाधिकारी रेणु सैनी ने बताया कि पोकरण विधान सभा क्षेत्र के बूथ लेवल अधिकारियों को आम चुनाव को देखते हुए द्वितीय विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम शुरू किया गया। इसके तहत सभी बूथ लेवल अधिकारी मतदाताओं के घर-घर जाकर सत्यापन करेंगे। सैनी ने बताया कि 21 जून से 20 जुलाई तक मतदान केन्द्रों का सत्यापन एवं पुनर्गठन का कार्य करेंगे। सैनी ने बताया कि हाल में सभी बूथ लेवल अधिकारियों को घर-घर जाकर सत्यापन की कार्रवाई की जा रही है।

निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण पदाधिकारी एवं एसडीएम रेणु सैनी ने बताया कि चुनाव कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सैनी ने बताया कि इस संबंध में कई बार बीएलओ व सुपरवाइजरों को चुनाव कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरते तथा घर-घर जाकर भौतिक सत्यापन करें । सत्यापन के दौरान कोई भी मतदाता की मृत्यु हो गई तथा कई मतदाता दूसरी ओर पलायन कर चुके तथा कई मतदाताओं को दो नाम जोड़े है उनको बारीकी से सत्यापन कर मतदाता सूची में नाम हटाने के निर्देश दिए। सैनी ने बताया कि इसके साथ ही 1 जून तक 15 जून तक नए मतदाताओं को नाम जोड़ने के निर्देश दिए।

मोबाइल एप के जरिए करें कार्य : निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण पदाधिकारी रेणु सैनी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए आदेशानुसार मोबाइल एप जरिए चुनाव कार्य करेंगे तथा इसके साथ ही घर-घर जाकर मोबाइल एप के तहत संपूर्ण जानकारी निर्वाचन द्वारा जारी किए गए सॉफ्टेवयर में रिपोर्ट करेंगे। सैनी ने बताया कि मोबाइल एप द्वारा भरी गई रिपोर्ट सीधे निर्वाचन विभाग पास पहुंचेगी। सैनी ने सभी बीएलओ व सुपरवाइजरों को समय-समय पर मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट में निर्वाचन शाखा में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। सैनी ने बताया कि चुनाव में कार्य पटवारी, ग्रामसेवक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी भी इस कार्य में भागीदारी सुनिश्चित करेंगे।

सुपरवाइजरों को दिया जाएगा प्रशिक्षण : निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण पदाधिकारी रेणु सैनी ने बताया कि पोकरण विधान सभा क्षेत्र के सभी सुपरवाइजरों को सोमवार को प्रशिक्षण दिया जाएगा। सैनी ने बताया कि प्रशिक्षण में सभी सुपरवाइजर उपस्थित होगे। उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग द्वारा दिए गए आदेशों के तहत उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। सैनी ने बताया कि प्रशिक्षण में सभी सुपरवाइजरों को अपने मतदान केंद्रों में जाकर मॉनीटरिंग करेंगे। सैनी ने बताया कि 1 जुलाई से 15 जुलाई तक मतदान केन्द्रों का ऑन लाइन युक्ति करण, 1 जुलाई 2018 को एकीकृत प्रारूप मतदाता सूची की चैक लिस्ट क प्रिंट प्राप्त कर मतदान केन्द्रों के युक्ति करण के प्रस्ताव तैयार किए जाएंगें। सैनी ने बताया कि मतदान केन्द्रों के युक्ति करण के प्रस्तावित विधिवत प्रक्रिया के अनुसार आयोग की स्वीकृति के लिए विभाग को प्रेषित किए जाएंगें। 16 जुलाई से भारत निर्वाचन आयोग द्वारा अनुमोदित मतदान केन्द्रों की सूची के अनुसार प्रारूप मतदाता सूची में ऑन लाइन मुद्रण करना, 30 जुलाई पुनरीक्षण कार्यक्रम के लिए आवश्यक प्रतियों को तैयार करेंगे।