--Advertisement--

42 वर्ष बाद पर्वतसिंह को मिला जमीन का हक

भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक) राजस्व लोक अदालत शिविर में एक सफलता की कहानी साबित हुई। पर्वतसिंह के लिए यह...

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 05:45 AM IST
भास्कर संवाददाता | पोकरण (आंचलिक)

राजस्व लोक अदालत शिविर में एक सफलता की कहानी साबित हुई। पर्वतसिंह के लिए यह शिविर वरदान साबित हुआ। ग्रामीणों ने राजस्व लोक अदालत शिविर कई वर्षों से लंबित पड़े प्रकरणों का निस्तारण करवाकर राहत महसूस की। ग्रामीणों में राजस्व लोक अदालत शिविर के प्रति उत्साह देखने को मिला। ग्रामीणों प्रशासन व जनप्रतिनिधियों आभार प्रकट किया।

ग्राम पंचायत लूणाकल्ला में आयोजित राजस्व लोक अदालत शिविर प्रर्वतसिंह के लिए वरदान साबित हुआ । शिविर प्रभारी रेणु सैनी ने बताया कि राजस्व लोक अदालत शिविर में पर्वतसिंह उपस्थित होकर राजस्व संबंधी समस्या अवगत करवाई। इस पर राजस्व रिकॉर्ड की जांच की गई तो पर्वतसिंह के स्थान पर पाबूसिंह नाम अंकित दर्ज मिला। सैनी ने पर्वतसिंह के सरकारी दस्तावेजों की गहनता से जांच की गई तो सरकारी दस्तावेज में पर्वतसिंह ही नाम पाया गया। इस पर सैनी ने भणियाणा तहसीलदार को राजस्व रिकार्ड में पाबूसिंह के स्थान पर पर्वतसिंह नाम करने के आदेश दिए। जिस पर भणियाणा तहसीलदार द्वारा राजस्व रिकार्ड में पाबूसिंह के स्थान पर पर्वतसिंह नाम अंकित कर राजस्व रिकार्ड में दर्ज किया। शिविर में धारा 88 के 1 प्रकरण, धारा 136 के 3 प्रकरणों का निस्तारण कर ग्रामीणों को राहत पहुंचाई गई। सैनी ने बताया भणियाणा तहसीलदार द्वारा 9 बंटरवानामा, 25 नामान्तरकरण, 97 राजस्व नकलें, समेत कुल 221 प्रकरणों का निस्तारण किया गया।

विधायक व एसडीएम ने ग्रामीणों की सुनी जनसमस्याएं, अधिकारियों को दिए कड़े निर्देश

पोकरण (आंचलिक). जमीन का हक देती शिविर प्रभारी रेणु सैनी